Breaking News
Home / समाचार / देश / बोफोर्स पर राजीव गांधी के खिलाफ जम्मू-कश्मीर राज्यपाल की अशोभनीय टिप्पणी अस्वीकार्य – भीम सिंह
Prof. Bhim Singh Jammu-Kashmir National Panthers Party जम्मू-कश्मीर नेशनल पैंथर्स पार्टी के मुख्य संरक्षक प्रो.भीमसिंह

बोफोर्स पर राजीव गांधी के खिलाफ जम्मू-कश्मीर राज्यपाल की अशोभनीय टिप्पणी अस्वीकार्य – भीम सिंह

जम्मू, 11 मई 2019. नेशनल पैंथर्स पार्टी के मुख्य संरक्षक प्रो.भीम सिंह (Prof. Bhim Singh, Chief patron of the National Panthers Party) ने जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक (Jammu and Kashmir Governor Satyapal Malik) को एक पत्र लिखकर कहा कि उन्होंने स्व. श्री राजीव गांधी का नाम बोफोर्स घोटाले (Bofors scandal) के साथ जोड़कर अपनी संवैधानिक मर्यादाओं का उल्लंघन किया है, जो टिप्पणी दुर्भाग्यपूर्ण और अस्वीकार्य है।

पैंथर्स सुप्रीमो ने कहा कि इस समय राज्यपाल ने भूतपूर्व प्रधानमंत्री स्व. श्री राजीव गांधी के बोफोर्स घोटाले के खिलाफ एक टिप्पणी करके अपने ही पद की संवैधानिक मर्यादाओं को उल्लंघन किया है। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल को इस पद पर रहते हुए स्व. श्री राजीव गांधी के खिलाफ बेहद अस्वीकार्य और दुर्भाग्यपूर्ण अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए था, क्योंकि राज्यपाल को संवैधानिक मर्यादाओं के अनुसार राजनीतिक हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए था।

प्रो. भीम सिंह ने कहा कि स्व. श्री राजीव गांधी के साथ उनके कई राजनीतिक मतभेद थे, जिन्हें 1988 में मुख्यमंत्री, फारूक अब्दुल्ला ने गुमराह किया था, जब उन्हें (प्रो. भीम सिंह को ) उधमपुर संसदीय चुनाव जीतकर भी पराजित घोषित कर दिया गया।

प्रो. भीम सिंह ने उम्मीद जाहिर की है कि राज्यपाल के नाम के साथ जो वक्तव्य जोड़कर प्रकाशित किया गया, उसे वापस ले लेना चाहिए, क्येांकि यह संवैधानिक मर्यादाओं के विपरीत है। यह एक संदेश जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल द्वारा उठाए गए रुख को स्पष्ट करेगा।

Undignified remark of Jammu and Kashmir governor unacceptable against Rajiv Gandhi at Bofors – Bhim Singh

About हस्तक्षेप

Check Also

Cancer

वैज्ञानिकों ने तैयार किया केंद्रीय तंत्रिका तंत्र में फैल चुके कैंसर के इलाज के लिए नैनोकैप्सूल

केंद्रीय तंत्रिका तंत्र में फैले कैंसर का इलाज (Cancer treatment) करना बेहद मुश्किल है। लेकिन …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: