मप्र के मंत्री का दावा उप्र को चुनना है ‘श्रवण कुमार’ या ‘औरंगजेब’

 

संदीप पौराणिक

झांसी, 19 फरवरी। मध्य प्रदेश के सहकारिता राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) विश्वास सारंग ने कहा है कि उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव के जरिये यहां के मतदाताओं को 'श्रवण कुमार' या 'औरंगजेब' चुनना है।

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में भाजपा उम्मीदवार के प्रचार के लिए बुंदेलखंड पहुंचे सारंग ने कहा,

"उप्र की राजनीति में बीते महीनों में जो कुछ घटा है, उस तरह की घटनाएं इतिहास में भी एक ही हुई है और वह है औरंगजेब द्वारा अपने पिता शाहजहां को बंधक बनाकर शासक बनना। ठीक इसी तरह का घटनाक्रम इस राज्य की सत्ता हथियाने के लिए दोहराया गया है। भारतीय समाज में इसे कोई पसंद नहीं करता, यहां के मतदाता भी इससे नाराज हैं।"

उन्होंने कहा,

"एक तरफ श्रवण कुमार (भाजपा) हैं और दूसरी ओर औरंगजेब (अखिलेश यादव), जनता को चुनना है कि उन्हें कौन चाहिए? यह तय है कि यहां के मतदाता श्रवण कुमार को ही चुनेंगे, क्योंकि यही हमारी स्थापित मान्यता है।"

विधानसभा चुनाव में सारंग भाजपा की सरकार बनने का दावा करते हुए कहते हैं कि राज्य में भाजपा के पक्ष में माहौल है। यहां की जनता सपा-बसपा से परेशान हो चुकी है और उसने बीते ढाई वर्षो में केंद्र सरकार का कामकाज देखा है। लिहाजा वह राज्य में भी ऐसी सरकार चाहती है जो उसके कल्याण के लिए काम करे।

सारंग से जब पूछा गया कि आखिर क्यों मतदाता भाजपा को वोट दें तो उन्होंने कहा,

"वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में देश के मतदाताओं ने भाजपा व मोदी पर भरोसा करके वोट दिया था। बीते ढाई वर्षो में उसे इस बात का प्रमाण मिल गया कि उसने (मतदाता) जो सोचकर भाजपा को वोट दिया था, केंद्र सरकार वही कर रही है। इसी तरह विधानसभा चुनाव में पार्टी को मतदाताओं का साथ मिलने जा रहा है।"

उन्होंने कहा,

"उप्र संभावनाओं का प्रदेश है। इस राज्य को सपा-बसपा की सरकारों ने सिर्फ लूटने का काम किया है। जिन राज्यों में भाजपा की सरकारें हैं, वहां तेज विकास हो रहा है। इस बात को यहां का मतदाता जान गया है। वे सपा-बसपा से छुटकारा चाहते हैं, लिहाजा भाजपा की सरकार बनना तय है।"

उन्होंने कांग्रेस-सपा गठबंधन को दो भ्रष्टाचारियों, परिवारवादियों का गठजोड़ करार देते हुए कहा कि यह गठबंधन दो भ्रष्ट विजेताओं का गठजोड़ है। गठबंधन प्रदेश को कुछ देने के लिए नहीं, बल्कि लूटने के लिए किया गया है। दोनों दल भ्रष्टाचार में डूबे हुए हैं। वे आगे भी लूट जारी रखना चाहते हैं, इसलिए साथ आए हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: