Breaking News
Home / हस्तक्षेप / आपकी नज़र / एंटायर पॉलिटिकल साइंस के ज्ञान से बचें, जानें भाखड़ा नंगल बांध का निर्माण किसने कराया

एंटायर पॉलिटिकल साइंस के ज्ञान से बचें, जानें भाखड़ा नंगल बांध का निर्माण किसने कराया

“भाखड़ा नंगल बांध सर छोटूराम ने बनवाया था ना कि नेहरू ने।” समझ ही गये होंगे दो दिन पहले यह ज्ञान किसने दिया होगा। बस यह जान लें कि सर छोटूराम का देहावसान (demise of Sir Chhoturam) 1945 में हो गया था और भाखड़ा नांगल बांध का निर्माण (construction of the Bhakra Nangal dam) 1948 में शुरू हुआ और अमेरिकी बांध निर्माता हार्वे स्लोकेम (American Dam Builder Harvey Slocum) के निर्देशन में 1962 में इसका निर्माण पूरा हुआ।

22 अक्टूबर 1963 को तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू (Jawaharlal Nehru) ने इसका शुभारम्भ किया था। इसका मुख्य उद्देश्य (main purpose of the Bhakra Nangal Dam) सिंचाई और बिजली उत्पादन है।

कैसे हुई भाखड़ा बांध की कल्पना

How the Bhakra Dam imagination

हालांकि जो भाखड़ा बांध हम आज देखते हैं उसकी कल्पना 1908 में ही हो गई थी और 1919 में इस पर प्रोजेक्ट रिपोर्ट भी बन गई, लेकिन इसके निर्माण का काम शुरू हुआ 7 जुलाई 1954 में।

सतलुज नदी पर संचयन जलाशय के निर्माण का विचार पहली बार सर-लूडस डैने द्वारा 8 नवम्‍बर, 1908 की टिप्‍पणी में उत्‍पन्‍न हुआ, जिसमें संचयन तथा विद्युत विकास के लिए बांधों हेतु सुनि और बाडू जॉर्ज का अनुकूल स्‍थल बताया। इस प्रस्‍ताव पर विस्‍तृत रिपोर्ट मार्च 1910 में प्रस्‍तुत की गई, यद्यपि परियोजना की अनुमानित लागत उत्‍साहवर्धक नहीं थी। अत: परियोजना को स्‍थगित कर दिया गया।

1945-46 में, अन्‍तर्राष्‍ट्रीय का. डेनवेर, यू.एस.ए. द्वारा ई. एल. 481.58 मी. (1,580 फुट) पर अधिकतम जलाशय स्‍तर पर स्‍पैसिफिकेशन सहित डिजाइनें तैयार की गयी।

पंजाब सरकार तथा बिलासपुर के राजा के बीच 1945 के ड्रॉफ्ट बिलासपुर समझौते द्वारा अधिकतम जलाशय उन्‍नयन की सीमाबद्धता आरोपित की गई थी। उस समय सर छोटूराम ने बिलासपुर के राजा को इसके लिए तैयार किया था।

लेकिन देश आजाद होते ही कश्मीर और युद्ध, इतनी बडी विस्थापित आबादी को जीवनयापन देना और खाली खजाने वाले मुल्क के पास नेहरू का विश्वास था और उन्होंने बहुउद्देशीय परियोजना शुरू कर दी थी।

पंकज चतुर्वेदी

लेखक वरिष्ठ पत्रकार व पर्यावरणविद् हैं।

About हस्तक्षेप

Check Also

BJP Logo

हरियाणा विधानसभा चुनाव : बागियों ने मुकाबला बनाया चुनौतीपूर्ण

हरियाणा में किस करवट बैठेगा ऊंट? 90 सदस्यीय हरियाणा विधानसभा का कार्यकाल 27 अक्तूबर को …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: