Breaking News
Home / समाचार / जैसे-जैसे वृक्ष स्वार्थ के लिए काटे जा रहे हैं, पर्यावरण बदलता जा रहा है

जैसे-जैसे वृक्ष स्वार्थ के लिए काटे जा रहे हैं, पर्यावरण बदलता जा रहा है

विश्व पर्यावरण दिवस (World Environment Day) पर हुआ वृक्षारोपण… यशोदा हॉस्पिटल कौशाम्बी द्वारा लगाए गए पौधे, शहर को हरा भरा बनाने का लिया संकल्प

गाजियाबाद 05 जून, 2019. विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर जिले के विभिन्न हिस्सों में सरकारी और गैर सरकारी संगठनों की ओर से वृक्षारोपण कार्यक्रम (Plantation Program) आयोजित किया गया। इसी क्रम में यशोदा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल, कौशाम्बी, गाजियाबाद (Yashoda Super Specialty Hospital, Kaushambi, Ghaziabad) के परिसर से  हॉस्पिटल के मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ पी एन अरोड़ा एवं निदेशिका श्रीमती उपासना अरोड़ा के नेतृत्व में ग्यारह हजार वृक्षारोपण का अभियान प्रारम्भ किया गया।

एक विज्ञप्ति के मुताबिक यशोदा हॉस्पिटल कौशाम्बी के सामने स्थित उद्यान में पौधे लगा कर इस कार्यक्रम का शुभारम्भ डिस्ट्रिक्ट फारेस्ट अफसर श्रीमती दीक्षा ने किया।

हॉस्पिटल के आस पास उद्यानों में तीन दर्जन से अधिक पौधे रोपे गये। इसके अलावा हॉस्पिटल के विभिन्न अधिकारियों द्वारा भी पर्यावरण के दिवस पर वृक्ष रोपे गये।

इस मौके पर वन विभाग के रेंजर द्वारा पौधा उपलब्ध कराया गया तथा वन विभाग गाजियाबाद रेंज के अन्य अधिकारी भी मौजूद रहे।

डिस्ट्रिक्ट फॉरेस्ट ऑफिसर (District Forest Officer) ने कहा कि यह एक महान कार्य है। इस भौतिक वादी युग में हम चंद स्वार्थ के लिए सबकुछ को भूल रहे हैं। हम प्रकृति से सिर्फ लेने का काम कर रहे हैं लेकिन कुछ देने का काम नहीं कर रहे। उन्होंने कहा कि हमें प्लास्टिक का कम से कम प्रयोग करना चाहिए तथा औषधीय पौधे अधिक से अधिक लगाने का संकल्प लें।

डॉ पी एन अरोड़ा ने पर्यावरण संरक्षण (Environment Protection) पर जोर देते हुए कहा कि हमारे आने वाले पीढ़ी के लिए यह कदम काफी लाभकारी सिद्द होगा। मौके पर डॉ राहुल शुक्ला, श्रीमती राधा राणा, डॉ जे एस लाम्बा, डॉ अखिल कुलश्रेष्ठ, डॉ वी एस पांडेय, डॉ वरुण, डॉ सुनील डागर, डॉ विक्रम ग्रोवर, डॉ विकास चौहान, दिवाकर अरोड़ा, संदीप झा, ज्योति नांगिया,साहिल आहूजा, मनीष गुप्ता,एवं गौरव पांडेय विशेष रूप से मौजूद थे .

श्रीमती उपासना अरोड़ा ने कहा कि जैसे-जैसे वृक्ष स्वार्थ के लिए काटे जा रहे हैं, पर्यावरण बदलता जा रहा है। वृक्षारोपण की शुरूआत करते हुए उन्होंने कि यह वृक्ष सिर्फ पर्यावरण (Environment) को ही शुद्ध नहीं करेगा, बल्कि बढ़ने पर यादगार बनकर सामने आएगा। इसके तहत वृक्ष लगाओ, वर्षा पाओ, घर- घर जाएंगे, वृक्ष लगाएंगे व पर्यावरण दिवस मनाएंगे जैसे नारे लगाए जाते रहे।

World Environment Day Plantation by Doctors at Yashoda Super Specialty Hospital Kaushambi Ghaziabad

About हस्तक्षेप

Check Also

Cancer

वैज्ञानिकों ने तैयार किया केंद्रीय तंत्रिका तंत्र में फैल चुके कैंसर के इलाज के लिए नैनोकैप्सूल

केंद्रीय तंत्रिका तंत्र में फैले कैंसर का इलाज (Cancer treatment) करना बेहद मुश्किल है। लेकिन …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: