लॉकडाउन में स्वस्थ शरीर के लिए रखें इन 10 बातों का ख्याल, बता रही हैं डॉ मीनाक्षी जैन

Corona virus

10 tips for healthy body in lockdown : Dr. Meenakshi Jain

कोरोना वायरस के चलते पूरा देश लॉकडाउन (Entire country lockdown due to corona virus) कर दिया गया है। कोरोना वायरस से सुरक्षित रहने के लिए लोगों को घर में ही रहने के आदेश दिए गए हैं। अब ऐसे में लोगों का रुटीन पूरी तरह से बिगड़ चुका है, जहां न तो खाने का कोई सही समय रह गया है और न ही आराम का। ऐसे में कोरोना वायरस से तो बच जाएंगे लेकिन अन्य बीमारियों से बचना मुश्किल हो जाएगा। हालांकि, हम सभी एक मुश्किल दौर से गुज़र रहे हैं, लेकिन अपनी सूझबूझ से घर में भी स्वास्थ्य का ख्याल रखा जा सकता है।

हम आपको 10 ऐसी बातें बता रहे हैं, जिनकी मदद से आपकी इम्यूनिटी मजबूत होगी (10 things that will help strengthen your immunity) जिससे आप सभी बीमारियों से दूर रहकर बिल्कुल स्वस्थ रह सकते हैं :

  1. एक गिलास गुनगुना पानी | A glass of lukewarm water

शरीर में एनर्जी लेवल बना रहे इसके लिए आप अपने दिन की शुरुआत गुनगुने पानी से करें। गुनगुना पानी पीने से शरीर का मेटाबॉलिक रेट बढ़ जाता है। आप इसे लेमन टी के रूप में भी ले सकते हैं, चाय वायरल बीमारियों के खिलाफ भी सुरक्षात्मक पाया जाता है।

 

  1. एक्सरसाइज व योग | Exercise and Yoga

स्वस्थ शरीर के लिए नियमित रूप से एक्सरसाइज़ व योग करना जरूरी है। ऐसे में सुबह उठकर क्रंचेज़, स्क्वाट्स, सीढ़ियां चढ़ना-उतरना, एक जगह रनिंग करना, कूदना, हाथों को घुमाना आदि एक्सरसाइज़ करें। इसके अलावा रोज़ाना एक घंटा डांस भी करें। इस प्रकार न सिर्फ आप डांस करने में माहिर हो जाएंगे बल्कि आपका शरीर भी फिट रहेगा।

  1. घर की साफ-सफाई | House cleaning

हालांकि, घर की सफाई एक रुटीन काम है लेकिन इस वक्त जरा सी लापरवाही आपको बीमार कर सकती है। पानी को कहीं भी इकठ्ठा न होने दें। वॉश बेसिन, सिंक, किचन, बाथरूम, टॉयलेट आदि को हमेशा साफ रखें। बेडशीट को जल्दी-जल्दी बदलें। खाने की किसी भी चीज़ को खुला न छोड़े। घर के दरवाजों और खिड़कियों को सेनिटाइज़र से साफ करें।

  1. शरीर की सफाई | Body cleaning

स्वस्थ शरीर के लिए घर की सफाई के साथ-साथ शरीर की सफाई भी जरूरी है। कुछ भी खाने से पहले हाथों को अच्छे से धोएं। रोज़ाना गुनगुने पानी में एक चम्मच डेटॉल डालकर नहाएं। हर दिन धुले हुए साफ कपड़े पहनें। चेहरे पर हाथ लगाने से बचें और सभी सदस्यों से थोड़ी दूरी बनाकर बात करें।

  1. पर्याप्त मात्रा में पानी का सेवन | Adequate water intake

अपने आप को पर्याप्त रूप से हाइड्रेटेड रखें रोजाना लगभग 2 लीटर पानी पीएं ऐसे लोग पेट की समस्या से कभी परेशानी नहीं होते हैं, उनकी स्किन ग्लो करती है और उन्हें पिंपल्स की समस्या भी नहीं होती है। लेकिन गुर्दे और हृदय रोग वाले रोगियों को अपने चिकित्सक द्वारा प्रतिबंधित होने पर अधिक तरल पदार्थ नहीं लेने चाहिए.

  1. हरी सब्जियां और मौसमी फल | Green vegetables and seasonal fruits

फल और सब्जियां खाने से एक ओर जहां कैंसर से बचाव होता है वहीं दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा भी कम होता है। फल और सब्जियों में फाइबर के साथ-साथ विटामिन ए, सी, एंटी-ऑक्सिडेंट और मिनरल होते हैं, जिससे आप फिट और एक्टिव महसूस करते हैं। अलग अलग रंगों के फल और सब्जी खाएं उनमें अलग किस्म के एंटीऑक्सिडेंट्स होते हैं।

  1. तले-भुने, मसालेदार खाने से बचें | Avoid fried, spicy foods

चला-भुना मसालेदार खाना जितना स्वादिष्ट होता है उतना ही नुकसानदायक भी। ज्यादा तेल मसाला खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाता है, जिससे बाद में दिल की बीमारी का खतरा बनता है।

  1. हंसना-हंसाना | To laugh

हंसने से न सिर्फ व्यक्ति का तनाव कम होता है बल्कि कई बीमारियां भी दूर होती हैं। खुलकर हंसने से शरीर का ब्लड सर्कुलेशन सही बना रहता है। हंसते वक़्त आपके फेफड़ों की भी अच्छी एक्सरसाइज (good exercise of lungs) हो जाती है.

  1. 7-8 घंटों की नींद

कई रिसर्च अध्धयनों के अनुसार जो लोग 7 से कम घंटे की नींद लेते हैं वे जल्दी मरते हैं। अच्छी और पर्याप्त नींद स्वस्थ सेहत के लिए बहुत जरूरी है। जो लोग रात को 10 बजे सोने जाते हैं और 6 बजे उठते हैं वे पूरा दिन फ्रेश महसूस करते हैं। ऐसे लोगों को तनाव और चिंता कम होती है।

  1. हफ्ते में एक दिन व्रत | Fast one day a week

व्रत के दौरान फैट बर्निंग प्रोसेस तेज हो जाता है, जिससे चर्बी तेजी से गलती है। फैट सेल्स लैप्ट‍िन नाम का हॉर्मोन छोड़ती हैं। व्रत के दौरान कम कैलोरी मिलने से लैप्ट‍िन की सक्रियता पर असर पड़ता है और वजन कम होता है। शरीर में पोषण को बनाए रखने के लिए आप ताजे फलों व उबली हुई हरी सब्जियों का सेवन कर सकते हैं।

डॉ मीनाक्षी जैन, एसोसिएट डायरेक्टर, इंटरनल मेडिसिन, मैक्स हॉस्पिटल पटपड़गंज (दिल्ली)

{ Dr. Meenakshi Jain, Associate Director, Internal Medicine, Max Hospital Patparganj (Delhi) }

डिस्क्लेमर – यह समाचार किसी भी हाल में डॉक्टरी सलाह नहीं है।

(सीएनएन मीडिया)

पाठकों से अपील

“हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें