Home » Latest » मोदी सरकार का देश बेचो अभियान : लॉक डाउन के बाद काला दिन मनाएंगे 15 लाख बिजली कर्मचारी
Shailendra Dubey, Chairman - All India Power Engineers Federation

मोदी सरकार का देश बेचो अभियान : लॉक डाउन के बाद काला दिन मनाएंगे 15 लाख बिजली कर्मचारी

नेशनल कोआर्डिनेशन कमेटी ऑफ इलेक्ट्रिसिटी इम्पलॉईज़ एंड इंजीनियर्स- National Coordination Committee of Electricity Employees and Engineers (एनसीसीओईई ) के बैनर तले देश के 15 लाख बिजली कर्मचारी व इंजीनियर इलेक्ट्रिसिटी (अमेंडमेंट) बिल 2020 (Electricity (Amendment) Bill 2020) के विरोध में लॉकडाउन के बाद काला दिन मनाएंगे

बिजली सेक्टर के सभी बड़े फेडरेशनों ने ऑन लाइन मीटिंग कर बिल वापस लेने की मांग की

15 lakh electricity workers to celebrate black day after lock down

लखनऊ, 03 मई 2020. नेशनल कोआर्डिनेशन कमीटी ऑफ इलेक्ट्रिसिटी इम्पलॉईस एन्ड इंजीनियर्स (एनसीसीओईई ) के बैनर तले बिजली सेक्टर के कर्मचारियों के सभी बड़े फेडरेशनों ने ऑन लाइन मीटिंग कर केंद्र सरकार से बिल वापस लेने की मांग की है।

एनसीसीओईई ने एक प्रस्ताव कर इस बात पर गहरा आक्रोश व्यक्त किया है कि कोविड –19 की महामारी के बीच जब सारा देश एकजुट होकर संक्रमण से संघर्ष कर रहा है तब केंद्र सरकार इलेक्ट्रिसिटी (अमेंडमेंट) बिल 2020 जारी कर निजीकरण करने में लगी है जिससे बिजली कर्मियों में भारी गुस्सा है।

यह निर्णय लिया गया कि बिल के उपभोक्ता और किसान विरोधी प्राविधानों से सभी प्रांतो के मुख्यमंत्रियों और संसद सदस्यों को पत्र भेजकर अवगत कराया जाएगा और उनसे मांग की जाएगी कि वे इस बिल का प्रबल विरोध करे और इसे वापस कराने हेतु केंद्र सरकार पर दबाव डालें।

यह भी निर्णय लिया गया कि लॉकडाउन के बीच विडिओ कांफ्रेंसिंग (Video conferencing between lockdowns) के जरिये किसानों और घरेलू उपभोक्ता संगठनों से देश भर में चर्चा की जाएगी और बड़े जन आंदोलन की तैयारी की जाएगी। एनसीसीओईई के सभी घटक संगठन बिल के विरोध में सोशल मीडिया पर भी निरंतर अभियान जारी रखेंगे।

कल विडिओ कान्फ्रेंसिंग के जरिये नेशनल कोआर्डिनेशन कमीटी ऑफ इलेक्ट्रिसिटी इम्पलॉईस एन्ड इंजीनियर्स (एनसीसीओईई ) की बैठक हुई जिसकी अध्यक्षता ऑल इण्डिया पावर इंजीनियर्स फेडरेशन के चेयरमैन शैलेन्द्र दुबे ने की।

बैठक में ऑल इण्डिया पावर इंजीनियर्स फेडरेशन के सेक्रेटरी जनरल रत्नाकर राव, पदमजीत सिंह, अशोक राव, आल इण्डिया फेडरेशन ऑफ़ पावर डिप्लोमा इंजीनियर्स के अध्यक्ष आर के त्रिवेदी, महासचिव अभिमन्यु धनकड़, जी वी पटेल, आल इण्डिया फेडरेशन ऑफ़ इलेक्ट्रिसिटी इम्पलॉईस(एटक ) के महामंत्री मोहन शर्मा, इलेक्ट्रिसिटी इम्पलॉईस फेडरेशन ऑफ़ इंडिया (सीटू ) के अध्यक्ष के ओ हबीब, महामंत्री प्रशांत चौधरी,सुभाष लाम्बा,इंडियन इलेक्ट्रिसिटी वर्कर्स फेडरेशन (इंटक ) के महामंत्री कुलदीप कुमार और ऑल इंडिया पावरमेंस फेडरेशन के अध्यक्ष समर सिन्हा मुख्यतः सम्मिलित हुए।

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

shahnawaz alam

ज्ञानवापी मस्जिद के अंदर सर्वे : मीडिया और न्यायपालिका के सांप्रदायिक हिस्से के गठजोड़ से देश का माहौल बिगाड़ने की हो रही है कोशिश

फव्वारे के टूटे हुए पत्थर को शिवलिंग बता कर अफवाह फैलायी जा रही है- शाहनवाज़ …