Home » Latest » जानिए चना खाना क्यों है फायदेमंद
gram

जानिए चना खाना क्यों है फायदेमंद

Learn how gram is beneficial | 20 Benefits Of Gram In Hindi

चना हमारे शरीर में प्रोटीन की आपूर्ति करता है (Gram supplies protein in our body), इसलिए इसे प्रोटीन का राजा (Protein king) भी कहा जा सकता है। यहां दिये चने के फायदों (benefits of gram in hindi) को जानकर आप खुद को इसे खाने से नहीं रोक पाएंगें। चाहे भुना हुआ हो या अंकुरित किया हुआ, चना बहुत ही पौष्टिक होता है (Gram is very nutritious)। चने में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, नमी, चिकनाई, रेशे, कैल्शियम, आयरन और विटामिन होते हैं।

आइए जानते हैं चना खाने से होने के कुछ विशेष फायदों के बारे में..

प्रोटीन से भरपूर | Gram is rich in protein

चने में प्रोटीन की भरपूर मात्रा होती है। चने में लगभग 12 से 15 ग्राम प्रोटीन होता है। यह अनाज के मुकाबले कई गुना ज्यादा होता है। इससे शरीर चुस्त दुरुस्त बना रहता है।

चने में मैगनीज का भंडार | Manganese store in gram

खून के लगातार बहाव में कॉपर और मैगनीज जैसे माइक्रोन्यूट्रियंट्स का होना बहुत जरूरी है। चना मैगनीज का बहुत अच्छा स्रोत है (Gram is an excellent source of manganese.)। इसे खाने से शरीर का तापमान सही बना रहता है।

एनीमिया से बचाव में चना लाभप्रद | Gram is beneficial in preventing anemia

चना आयरन का एक बहुत अच्छा स्रोत है (Gram is an excellent source of iron.)। इसके नियमित सेवन से एनीमिया की परेशानी नहीं होती। इसलिए एनीमिया के उच्च जोखिम के दौरान महिलाओं (गर्भवती, स्तनपान कराने वाली और मासिक धर्म), बच्चों और लोगों को एक दैनिक आधार में इसे शामिल करना चाहिए।

वजन घटाता है चना | Chana reduces weight

फाइबर से भरपूर होने के कारण यह वजन घटाने का एक प्रभावी प्राकृतिक उपाय है। यह न केवल भूख को नियंत्रित करने में मददगार होता है, बल्कि लंबे समय तक आपको फुल महसूस करवाता है। यह शाकाहारियों के लिए आहार प्रोटीन का सबसे अच्छा स्रोत (The best source of dietary protein for vegetarians) है और यह भी उचित वजन प्रबंधन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

फॉस्फोरस और आयरन का स्रोत है चना | Gram is a source of phosphorus and iron.

चने में लगभग 28 प्रतिशत फॉस्फोरस और आयरन होता है। यह न केवल रक्त कोशिकाओं का निर्माण करते हैं बल्कि हीमोग्लोबीन बढ़ा कर किडनी को नमक की अधिकता से भी साफ करते हैं। इसलिए किडनी के स्वास्थ्य को बनाये रखने के लिए इसे अपने आहार में शामिल करना फायदेमंद होता है।

कोलेस्ट्रॉल घटाने में सहायक चना | Gram is helpful in lowering cholesterol

चना कोलेस्ट्रॉल को कम करने में भी आपकी मदद करता है। यह आंत में पित्त रस के साथ मिल कर खून में बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करता है।

हस्तक्षेप के संचालन में मदद करें!! 10 वर्ष से सत्ता को दर्पण दिखाने वाली पत्रकारिता, जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, के संचालन में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.
 
 भारत से बाहर के साथी पे पल के माध्यम से मदद कर सकते हैं। (Friends from outside India can help through PayPal.) https://www.paypal.me/AmalenduUpadhyaya

रक्तचाप पर नियंत्रण करता है चना | Gram controls blood pressure

उच्च रक्तचाप से ग्रस्त लोगों की रक्त वाहिकाओं में परिवर्तन कर चना रक्त ताकत को प्रतिसंहरण होने से बचाता है। चने पोटेशियम और मैग्नीशियम की मौजूदगी के कारण एक काया में सही इलेक्ट्रोलाइट परिवर्तन प्रगति में मदद करता है। इस तरह से चने को दैनिक आहार में शमिल कर आपको स्वस्थ जीवन जीने में मदद मिल सकती है।

पाचन विकार से बचाता है चना | Gram prevents digestive disorders

चना पाचन और आंत के स्वास्थ्य को ठीक रख पाचन तंत्र संबंधी विकारों को दूर करने में मदद करता है। चने में फीटो-न्यूट्रिएंट, उच्च प्रोटीन और विटामिन और मिनरल भरपूर मात्रा में होता है। जो कब्ज, एसिडिटी, अपच जैसे आंत्र जटिलताओं के खतरे (Risk of intestinal complications) को कम करने में मदद करता है।

महिलाओं में हार्मोन का स्तर बनाये

चना फीटो-न्यूट्रीएंट का बहुत अच्छा स्रोत है (Gram is a very good source of phyto-nutrient.)। यह स्तन कैंसर के खतरे को कम करने में मदद करता है (Gram helps reduce the risk of breast cancer) और एस्ट्रोजन हार्मोन में खून के स्तर को बढ़ा कर विपरीत ऑस्टियोपोरोसिस से रक्षा करता है। इसके अलावा चना माहवारी और रजोनिवृत्ति के बाद के लक्षणों के दौरान महिलाओं में होने वाले मानसिक बदलाव से राहत प्रदान करता है।

नोट – यह समाचार किसी भी हालत में चिकित्सकीय परामर्श नहीं है। यह समाचारों में उपलब्ध सामग्री के अध्ययन के आधार पर जागरूकता के उद्देश्य से तैयार की गई अव्यावसायिक रिपोर्ट मात्र है। आप इस समाचार के आधार पर कोई निर्णय कतई नहीं ले सकते। स्वयं डॉक्टर न बनें किसी योग्य चिकित्सक से सलाह लें।)

 

हस्तक्षेप के संचालन में मदद करें!! सत्ता को दर्पण दिखाने वाली पत्रकारिता, जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, के संचालन में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.
 

हमारे बारे में hastakshep

Check Also

artificial intelligence

घातक हो सकती है ‘आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस’

बीते कुछ सालों में तकनीकी जगत में एक शब्द बड़ा आम हो गया है – …