अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस: Shaping Peace Together

Things you should know

International Day of Peace 2020 Theme : Shaping Peace Together प्रत्येक वर्ष अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस 21 सितंबर को दुनिया भर में मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र महासभा ने इसे 24 घंटे की अहिंसा और संघर्ष विराम के अवलोकन के माध्यम से शांति के आदर्शों को मजबूत बनाने के लिए समर्पित घोषित किया है। 21 सितंबर

विश्व अल्जाइमर दिवस पर जानिए क्या है अल्जाइमर और कैसे बचें इससे

Health news

विश्व अल्जाइमर दिवस विशेष | World Alzheimer’s Day Special दिल्ली 21 सितम्बर 2020. आज 21 सितंबर को विश्व अल्जाइमर दिवस मनाया जा रहा है। उम्र बढ़ने के साथ ही तमाम तरह की बीमारियां हमारे शरीर को निशाना बनाना शुरू कर देती हैं। इन्हीं में से एक प्रमुख बीमारी बुढ़ापे में भूलने की आदतों (बुढ़ापे में

मोदी सरकार की जन विरोधी नीतियों के खिलाफ कल 22 को माकपा करेगी पूरे प्रदेश में विरोध प्रदर्शन

CPIM

The CPI-M will hold protests across the state tomorrow against the anti-people policies of the Modi government रायपुर, 21 सितंबर 2020. मोदी सरकार की जन विरोधी नीतियों के खिलाफ मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के देशव्यापी अभियान के तहत प्रदेश माकपा द्वारा कल 22 सितम्बर को पूरे प्रदेश में विरोध प्रदर्शन आयोजित किये जायेंगे और कोरोना संकट

शर्मनाक ज़ुबांबंदी का प्रतीक है उच्च सदन का म्यूट हो जाना

Parliament of India

Mutation of the Upper House is a sign to be silent The suspension of eight members from the Rajya Sabha is also illegal. मीडिया की एक खबर के अनुसार, सभापति राज्यसभा द्वारा किया गया राज्यसभा से आठ सदस्यों का निलंबन भी अवैधानिक है, क्योंकि जिन्हें निलंबित किया गया है उनका पक्ष तो सुना ही नहीं

क्या भारत एक पुलिस स्टेट बन गया है?

Police

Has India become a police state? लेखक, स्टीवन लेविट्स्की और डैनियल ज़िब्लाट ने अपनी प्रसिद्ध पुस्तक “हाउ डेमोक्रेसीज़ डाई: व्हाट हिस्ट्री रिवीलज़ फ़ॉर फ्यूचर” (How democracies die: What history reveals about our future. by Steven Levitsky and Daniel Ziblatt) में कहा है कि “डेमोक्रेसी तख्तापलट के साथ मर सकती हैं- या वे धीरे-धीरे मर सकती

सात मिनट में जानिए क्या हैं खेती किसानी के अंतिम संस्कार के तीन कानून

Know in seven minutes, what are the three laws of funeral of farming

Know in seven minutes, what are the three laws of funeral of farming खेती किसानी की काशी करवट एक जमाने में बनारस में सीधे मोक्ष प्रदान कर सशरीर स्वर्ग भिजवा देने की भी एक डायरेक्ट कूरियर सर्विस हुआ करती थी। इतिहासकारों के अनुसार काशी के पण्डे भारी रकम लेकर बेवकूफ लोगों को पकड़कर उन्हें बुर्ज

कृषि विधेयक : नोटबन्दी, जीएसटी, तालाबंदी के बाद अब यह चौथा मास्टरस्ट्रोक, जो अर्थव्यवस्था की रही सही कमर तोड़ेगा

More than 50 bighas of wheat crop burnt to ashes of 36 farmers of village Parsa Hussain of Dumariyaganj area

2 farm bills clear Rajya Sabha hurdle amid protests रविवार को राज्यसभा में विपक्ष के हंगामे (Opposition uproar in Rajya Sabha) के बीच कृषि विधेयक ध्वनिमत से पारित हुए। इसके साथ ही मोदी सरकार द्वारा कृषि क्षेत्र में तथाकथित नए सुधार के कार्यक्रमों को अमलीजामा पहनाने के लिए लाए गए कृषक उपज व्यापार एवं वाणिज्य

रोजाना बेकिंग सोडा पीना रूमेटाइड अर्थराइटिस जैसे ऑटोइम्यून (स्वप्रतिरक्षा) बीमारी से लड़ने में मददगार हो सकता है !

Health News in Hindi

Drinking baking soda could be an inexpensive, safe way to combat autoimmune disease Baking soda: A safe, easy treatment for arthritis? Best water for autoimmune disease | Benefits of baking soda | ऑटोइम्यून बीमारी के लिए सबसे अच्छा पानी | बेकिंग सोडा के फायदे नई दिल्ली। वैज्ञानिकों का कहना है बेकिंग सोडा की एक दैनिक खुराक

कृषि विरोधी तीन विधेयक : किसानों और उपभोक्ताओं की तबाही का घोषणा पत्र 

narendra modi flute

Three anti-agriculture bills: Declaration letter for destruction of farmers and consumers                                                             हमारे देश की आज़ादी से पहले का इतिहास है अंग्रेजी उपनिवेशवाद के अधीन नील की खेती का और गांधीजी का इसके खिलाफ संघर्ष (Indigo cultivation under British colonialism and Gandhi’s struggle against it) का. यह इतिहास स्वाधीनता-पूर्व उन दुर्भिक्षों से भी जुड़ता है, जो

पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम के निजीकरण के निर्णय के विरोध में  दूसरे दिन हुई प्रदेशव्यापी विरोध सभाएं

Statewide protest meetings held on the second day to protest against the decision of privatization of Purvanchal Vidyut Vitran Nigam

उपभोक्ता विरोधी एवं कर्मचारी विरोधी निजीकरण का फैसला निरस्त करने की मांग Statewide protest meetings held on the second day to protest against the decision of privatization of Purvanchal Vidyut Vitran Nigam Demand to cancel decision of anti-consumer and anti-employee privatization लखनऊ, 19 सितंबर 2020. विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति, उत्तर प्रदेश के आह्वान पर