सितम्बर 2020

हाथरस : प्रियंका ने योगी से पूछा 14 दिन से कहां सोए हुए थे, कैसे मुख्यमंत्री हैं आप?

कांग्रेस महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी वाड्रा ने हाथरस गैंगरेप पीड़िता की मौत पर यूपी के… Read More

ना कोई सीमा में घुसा था ना कोई सीमा में घुसा है, ना कोई मस्जिद बनी थी ना कोई मस्जिद गिरी है

अभी-अभी ताजी-ताजी बात है जिस देश में हिरण खुद मरते हैं मस्जिदें खुद गिरती हों… Read More

एक पत्रिका के पृष्ठों पर बोलते साहित्य जगत पर दृष्टिपात

आलोचना के आलोचकों का काम पोलेमिक्स की दिशा पर नजर रखने का होता है। डॉ.… Read More

अभी तक चौराहों पर क्यों नहीं लगे हाथरस के गैंगरेप के आरोपियों के पोस्टर ?

देश में हर दिन चार दलित महिलाओं के साथ बलात्कार होता है Four Dalit women… Read More

महिला सुरक्षा की बनी संस्थाओं की बर्बादी महिला हिंसा की जिम्मेदार – आइपीएफ

इतने बर्बर तरीके से पीड़ित हुई युवती के प्रति पुलिस और स्थानीय प्रशासन द्वारा लापरवाही… Read More

हाथरस गैंगरेप : व्यवस्था और मानवता का अंतिम संस्कार, बचता तानाशाह भी नहीं है। उसका अंत तो और भी दारुण होता है

हाथरस गैंगरेप पीड़िता का चुपके से रात के अंधेरे में समस्त मानवीय और वैधानिक मूल्यों… Read More

मधुमेह और हृदय रोगों से बचा सकता है सकता है स्वस्थ लिवर

एक सामान्य लिवर में एक निश्चित मात्रा में फैट जरूर होता है। पर, कई बार… Read More

कमल शुक्ला मामले में पोखरियाल ने गृहमंत्रालय से कार्रवाई करने कहा, कांग्रेस ने मंशा जाहिर की वह हमलावरों के साथ

ग़ौरतलब है कि छत्तीसगढ़ में गत 27 सितंबर को पत्रकार कमल शुक्ला और सतीश यादव… Read More

हाथरस में दलित की बेटी के साथ न्याय हो, जहां से भाजपा सांसद राजवीर दिलेर खुद बाल्मीकि समाज से आते हैं

हाथरस के सांसद राजवीर सिंह दिलेर (Hathras MP Rajvir Singh Diler), जो खुद बाल्मीकि समाज… Read More

अब इस किसान असंतोष को सरकार नजरअंदाज करने की स्थिति में नहीं है

सरकार उद्योग की कीमत पर कृषि को जिस दिन से नज़रअंदाज़ करने लगेगी, उसी दिन… Read More

जी मोदीजी ! पं. नेहरू भगत सिंह और साथियों से मिलने लाहौर जेल गये थे, आप भी पढ़ लें

नेहरू भगत सिंह और साथियों से मिलने लाहौर जेल गये थे, यह खबर उस समय… Read More

दरोगाजी दे रहे थे अमानवीय प्रताड़ना, महिला संगठनों ने पुलिस आयुक्त से की शिकायत, अब होगी जाँच

मोहान पुलिस चौकी द्वारा स्थानीय निवासी फखरूद्दीन अली अहमद को दी गई अमानवीय प्रताड़ना से… Read More

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations