योगी सरकार के 4 साल : कानून के राज के खात्मे के 4 साल, सपा-बसपा पूरी तौर पर भाजपा के चरणों में : शाहनवाज़ आलम

योगी सरकार के 4 साल : कानून के राज के खात्मे के 4 साल, सपा-बसपा पूरी तौर पर भाजपा के चरणों में : शाहनवाज़ आलम

सरकार के 4 साल नहीं पूरे हुए हैं, कानून के राज के खात्मे के चार साल हुए हैं : शाहनवाज़ आलम

यह चार सालों में सपा-बसपा पूरी तौर पर भाजपा के चरणों में शरणागत हो चुकी है : शाहनवाज़ आलम

लखनऊ, 20 मार्च 2021| उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन शाहनवाज़ आलम (Shahnawaz Alam, chairman of Uttar Pradesh Congress Committee’s Minority Department) ने योगी सरकार के चार साल पूरा होने पर योगी और भाजपा सरकार पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने कहा कि योगी सरकार के चार साल नहीं पूरे हुए हैं बल्कि क़ानून के राज के ख़त्म होने का चार साल पूरा हुआ है।

उन्होंने कहा कि सपा और बसपा के भी पूरी तरह भाजपा और संघ के आगे घुटने टेक देने के भी चार साल पूरे हुए हैं।

शाहनवाज़ आलम ने कहा कि यह चार साल समाजवादी पार्टी और बहुजन समाजवादी पार्टी पूरी तौर पर भाजपा के पैरों में शरणागत होने के चार साल हैं। दोनों ही पार्टियों ने अमित शाह के कहने पर पिछले चार सालों में अकलियत सहित दलित-पिछड़े समुदाय के सवाल उठाने बंद कर दिए हैं। इन चार सालों में प्रदेश का कमजोर तबका, मुसलमान तबका सरकार से लड़ने वाले विपक्ष की तलाश कर रहा था और इस तलाश में समाजवादी पार्टी जो आंकड़ों के लिहाज से विपक्ष की पहली बड़ी पार्टी है और आंकड़ों के लिहाज से दूसरी बड़ी पार्टी बसपा पूरी तरह फेल साबित हो चुकी हैं| सिर्फ कांग्रेस की प्रियंका गांधी जी के नेतृत्व में पिछले चार सालों से कमजोर तबकों सहित मुसलमानों के सवालों पर संघर्ष कर रही है।

शाहनवाज़ आलम ने आगे कहा कि इस पूरे दौर में कांग्रेस महासचिव और उत्तर प्रदेश प्रभारी श्रीमती प्रियंका गाँधी आज़मगढ़ गयीं जहाँ सीएए आन्दोलन में महिलाओं के साथ मार पीट और बदसलूकी की गयी, जबकि वहाँ के सांसद होने के बावजूद अखिलेश यादव उनसे मिलने नहीं गए। इसी तरह बिजनौर, मुज़फ्फरनगर में भी एनआरसी विरोधी आंदोलन में मारे गए लोगों से मिलने प्रियंका गांधी ही गयीं।

वहीं मायावती जी ने संसद के अंदर सीएए का विरोध करने के कारण अमरोहा के सांसद कुंवर दानिश अली को संसदीय दल के नेता के पद से हटा दिया।

ये घटनाएं साबित करती हैं कि इन चार सालों के भाजपा राज में सपा और बसपा भाजपा के साम्प्रदायिक एजेंडे के साथ खड़ी हैं और सिर्फ़ कांग्रेस ही जनता की आवाज़ उठा रही है।

उन्होंने कहा कि यह चार साल सपा द्वारा मुसलमानों को धोखा दिए जाने और उनके हितों पर कुठाराघात किये जाने के लिए भी याद रखा जायेगा|

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.