जानिए डायबिटीज में फल कौन से खाएं

फल अभी भी डायबिटीज से परेशान लोगों के भोजन का हिस्सा हो सकता है(fruits good for diabetes) । फल, विटामिन, मिनरल्स, फाइबर, एंटीऑक्सिडेंट से भरा है, और निश्चित रूप से एक स्वस्थ मधुमेह उपचार योजना का हिस्सा हो सकता है। हमें जानना चाहिए डायबिटीज में फल कौन से खाएं और कौन से नहीं खाएं।

5 Fruits Good for Diabetes in Hindi – 5 फल जो डायबिटीज में खा सकते हैं | डायबिटीज में फल कौन से खाएं

यदि आपको मधुमेह या डायबिटीज है, तो आपने सुना होगा कि आप फल नहीं खा सकते हैं। फलों में कार्बोहाइड्रेट और प्राकृतिक शर्करा का एक रूप होता है जिसे फ्रुक्टोज कहा जाता है, जो आपके रक्त शर्करा के स्तर को बढ़ा सकता है। इसी वजह से डायबिटीज से पीड़ित लोगों को फल नहीं खाने की सलाह दी जाती हे. लेकिन यह सच से विपरीत हे. फल अभी भी डायबिटीज से परेशान लोगों के भोजन का हिस्सा हो सकता है(fruits good for diabetes) । फल, विटामिन, मिनरल्स, फाइबर, एंटीऑक्सिडेंट से भरा है, और निश्चित रूप से एक स्वस्थ मधुमेह उपचार योजना का हिस्सा हो सकता है। हमें जानना चाहिए डायबिटीज में फल कौन से खाएं और कौन से नहीं खाएं।

हालांकि मधुमेह से पीड़ित लोगों को सतर्क रहना चाहिए,  कुछ फलों के विकल्प दूसरों की तुलना में, रक्त शर्करा के स्तर को ज़्यादा प्रभावित कर सकते हैं। यह जानना  महत्वपूर्ण है कि कौन से फल आपको सबसे अधिक प्रभावित करते हैं.  सभी फल डायबिटीज के मरीज़ों को नहीं खाना चाहिए.

इस लेख में हम उन ७ फलों की चर्चा करेंगे जो एक मधुमेह के मरीज़ के लिए एक अच्छा विकल्प बन सकता हे और जो पूरी तरह से इनके लिए स्वस्थ्य हैं.

आइए समझते हैं कि कौन से फल मधुमेह रोगियों के लिए अच्छे हैं

5 fruits good in diabetes –डायबिटिक फ्रेंडली फल

देखा जाए तो कोई “अच्छा” या “बुरा” फल नहीं होता हैं, लेकिन यदि आप एक डायबिटिक हैं और सबसे अधिक पोषण मूल्य प्राप्त करना चाहते हैं, तो उन फलों का चयन करें जो फाइबर में उच्च और ग्लाइसेमिक इंडेक्स में कम हैं। यहाँ मैं सबसे लोकप्रिय और आसानी से पाए जाने वाले उन 5 फलों की बात करुँगी जो मधुमेह से पीड़ित लोगों के लिए सुरक्षित और स्वस्थ्य माने जाते हैं।

Fruits Good For Diabetics | फल मधुमेह रोगियों के लिए अच्छे हैं

1.     जामुन

जामुन एक मधुमेह आहार के लिए आदर्श फल माना गया है। वे मीठे, स्वादिष्ट और ग्लाइसेमिक इंडेक्स में कम होते हैं। जामुन के आलावा आप कोई अन्य बेरीज भी जैसे ब्लूबेरी, ब्लैकबेरी, स्ट्रॉबेरी, रसबेररी जैसे अन्य प्रकार के बेरी भी खा सकते हैं। जामुन एक डायबिटिक सुपरफूड माना गया हे है क्योंकि वे विटामिन सी, फोलिक एसिड, फाइबर, एंटीऑक्सिडेंट और फाइबर से उच्च होते हैं। अध्ययनों से पता चला है कि जामुन  टाइप 2 मधुमेह के खतरे को भी कम करता है, क्योंकि जामुन ग्लूकोज मेटाबोलिज्म और शरीर के वजन विनियमन दोनों में मदद कर सकता है। ध्यान रखने वाली बात यह की इतने स्वादिष्ट से फल को हम ज़्यादा न फाक लें.  इसलिए सावधानी बरतनी चाहिए की इसे नियमित मात्रा में ही हम खाएं।

2.     सेब

सेब शरीर में इंसुलिन और रक्त शर्करा के स्तर पर अपेक्षाकृत कम प्रभाव डालता है। इसीलिए यह मधुमेह वाले लोगों के लिए एक उपयुक्त फल बन सकता है। सेब में पॉलीफेनोल्स होते हैं, जो पौधे-आधारित यौगिक हैं जिन्हें टाइप 2 मधुमेह और हृदय रोग से बचाने के लिए जाना जाता है। पॉलीफेनोल्स रक्त में शर्करा के अवशोषण को भी धीमा कर देते हैं, जिससे रक्त शर्करा में तेजी से वृद्धि नहीं होती है। अधिकतर , सेब में पाई जाने वाली अधिकांश चीनी फ्रुक्टोज होती है, जिसका रक्त शर्करा पर बहुत कम प्रभाव होता है। सेब ग्लाइसेमिक इंडेक्स और ग्लाइसेमिक लोड दोनों स्कोर में कम होता है जो इसे एक डायबिटिक फ्रेंडली फल बनता हे.   एक मध्यम आकार का सेब एक शानदार फल विकल्प है, जिसमें केवल 95 कैलोरी और 25 ग्राम कार्ब्स हैं।

सेब स्वस्थ फाइबर प्रदान के साथ साथ विटामिन सी भी प्रदान करते हैं। अपने सेब को छीलें नहीं, इसके छिलकों में अतिरिक्त फाइबर और दिल-सुरक्षात्मक एंटीऑक्सिडेंट होता हे.

3. नाशपाती

नाशपाती में कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स होता है, इसलिए वे आपके रक्त शर्करा को बहुत तेज़ी से नहीं बढ़ाता हे.  इसके उच्च फाइबर रक्त शर्करा में स्पाइक्स को रोकने में मदद करता है, जिससे वे मधुमेह रोगियों के लिए एक अच्छा फल का विकल्प बन सकता है.  इसके अलावा नाशपाती एंटीऑक्सिडेंट, विटामिन और मिनरल्स से भरी हुई होती है।

4. कीवी

अगर आप डायबिटीज 1 या 2 से पीड़ित हैं तो आप अपने आहार में कीवी को सुरक्षित रूप से शामिल कर सकते हैं। कई शोधकर्ताओं ने साबित किया है कि कीवी खाने से वास्तव में आपके रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में मदद मिल सकती है। विटामिन सी से भरपूर, कीवी शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता और प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है जिसे मधुमेह रोगियों के लिए अच्छा माना जाता है। विटामिन ई युक्त, कीवी एंटीऑक्सिडेंट में भी समृद्ध है और इसलिए मधुमेह के लिए एक महान आहार बन सकता है। ग्लाइसेमिक इंडेक्स में कम – केवल 53, कीवी मधुमेह रोगियों के लिए आदर्श भोजन के रूप में कार्य करता है।

5. संतरा

 संतरे, अंगूर और नींबू जैसे खट्टे फल फाइबर, विटामिन सी, फोलेट और पोटेशियम से भरे होते हैं, जो एक स्वस्थ मधुमेह खाने की आहार में शामिल किये जा सकते हैं.

संतरे, विशेष रूप से फाइबर से भरे हुए हैं। फाइबर को तोड़ने और पचाने में सबसे लंबा समय लगता है। यह रक्त प्रवाह में शर्करा को धीमा करने में सक्षम बनाता है, जो आगे सुनिश्चित करेगा कि आपके रक्त शर्करा का स्तर लंबे समय तक स्थिर रहे। इसके अलावा, संतरे का ग्लाइसेमिक इंडेक्स लगभग 40-43 है। सुनिश्चित करें कि आप अधिकतम लाभ के लिए संतरे को कच्चे और पूरे खाएं। इसका रस पीने से आपको फाइबर कम मिल सकते हैं और रक्त में शर्करा की मात्रा बढ़ सकती है।

ध्यान रखने वाली कुछ महत्वपूर्ण बातें

  • क्योंकि फलों में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा ज़ायदा होती हे , फल आपके रक्त शर्करा को बढ़ा देते हैं। तो आप कितना फल खाते हैं और किस रूप में खाते हैं, ये बहुत ही मायने रखती है.
  • ग्लाइसेमिक इंडेक्स (जीआई) मापता है कि भोजन आपके रक्त शर्करा को कैसे और कितना प्रभावित करता है। इसलिए, कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले फल रक्त शर्करा के स्तर को धीरे-धीरे बढ़ाते हैं और मधुमेह रोगियों के लिए सुरक्षित होते हैं।
  • संपूर्ण, प्राकृतिक रूप में फलों का सेवन करें, और अतिरिक्त चीनी के साथ सिरप या किसी भी संसाधित फल से बचें, जिसमें आपके रक्त शर्करा को बढ़ाने की प्रवृत्ति होती है। इसीलिए जूस पीने से बेहतर होता हे एक पूरा फल खाना.
  • फलों में पोषक तत्वों का अलग-अलग मिश्रण होता है, इसलिए अधिक अच्छाई पोषण पाने के लिए फलों को बदल बदल के खाना महत्वपूर्ण है। जब भी संभव हो एक अलग फल खाने की कोशिश करें. ज़्यादातर उस मौसम का जो फल हे उसे खाना बेहतर माना जाता हे.
  • ड्राई फ्रूट्स से सावधान रहें – इसमें ताजा प्रकार की फलों की तुलना में अधिक चीनी होता है, इसीलिए यह डायबिटीज में नहीं खाने की सलाह दी जाती हे.
  • यदि आप टिन किए गए फलों को खाना पसंद करते हैं, तो एक ऐसे विकल्पों को चुनें जो कि सिरप के बजाय प्राकृतिक रस में टिन किया जाता है.
  • कभी भी कोई टिन किये गए फल या ड्राई फ्रूट के खाद्य पदार्थ खरीदने के पहले  हमेशा लेबल पढ़ें। एडेड शुगर से बचें.
  • फलों के अपने हिस्से को प्रति दिन केवल 1 छोटे कटोरे तक सीमित करें

अंत में

यदि आप मधुमेह के अनुकूल भोजन योजना का पालन कर रहे हैं, तो कोई वास्तविक कारण नहीं है कि आपको फल से पूरी तरह बचना चाहिए। विटामिन, मिनरल्स, और फाइबर से भरपूर, ताजे फल जब तक आप नियंत्रण में लेते हैं, तब तक पोषण का एक पावरहाउस हो सकता है।

बस यह याद  रखें कि को फल ग्लिसेमिक इंडेक्स में कम होते हैं वे फल मधुमेह से पीड़ित लोगों के लिए  बेहतर होते हैं और संभवतः उनके रोजमर्रा के आहार का हिस्सा बन सकते हैं.

बेशक, हर किसी की दैनिक ज़रूरतें थोड़ी भिन्न होती हैं। कस्टम भोजन योजना बनाने के लिए अपने डॉक्टर या पंजीकृत आहार विशेषज्ञ / पोषण विशेषज्ञ से बात करें जो आपके स्वास्थ्य के अनुसार आपके लिए सबसे अच्छा डाइट चार्ट बना सकते हैं. 

Author’s Note: Sweta Kishore

नमस्कार! मैं श्वेता किशोर एक स्वास्थ्य और फिटनेस उत्साही हूं और आप सभी की तरह एक स्वस्थ जीवन शैली चाहती हूँ। इसी कारण एक स्वस्थ जीवन को पाने के लिए काफी कुछ सीखा हे मैंने जिसे में आप सब के साथ साझा करना चाहती हूँ. TopPaanch एक हिंदी ब्लॉग है जो प्रभावी पोषण और फिटनेस टिप्स प्रदान करता है जो आपको एक संपूर्ण स्वस्थ जीवन शैली बनाए रखने में मदद कर सकता है। मुझे उम्मीद है कि आपको यह लेख पसंद आया होगा। नीचे टिप्पणी में आप सब की अनुभव सुनने की में उम्मीद रखती हूँ।

नोट – यह समाचार किसी भी हालत में चिकित्सकीय परामर्श नहीं है। यह समाचारों में उपलब्ध सामग्री के अध्ययन के आधार पर जागरूकता के उद्देश्य से तैयार की गई अव्यावसायिक रिपोर्ट मात्र है। आप इस समाचार के आधार पर कोई निर्णय कतई नहीं ले सकते। स्वयं डॉक्टर न बनें किसी योग्य चिकित्सक से सलाह लें।) 

सभी चित्र – pexels से साभार

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Leave a Comment
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations