#9बजे9मिनट भक्तों ने आतिशबाजी फोड़कर फिर खराब कर दी राजधानी में हवा की गुणवत्ता

Environment and climate change

#9baje9mintues devotees burst fireworks and deteriorate air quality in Rajdhani Delhi

नई दिल्ली, 6 अप्रैल 2020. कोरोनावायरस के संक्रमण की रोकथाम के मददेनजर देशव्यापी लॉकडॉउन (Countrywide lockdown in view of prevention of corona virus infection) की घोषणा के बाद से देश की राजधानी दिल्ली में हवा की गुणवत्ता (Air quality in the capital delhi) में सुधार आने से वायु गुणवत्ता सूचकांक बेहतर हो गया था लेकिन बीती रात हुई आतिशबाजी के कारण फिर हवा की गुणवत्ता कमतर हो गई है।

सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फॉरकास्टिंग एंड रिसर्च (System of Air Quality and Weather Forecasting and Research) यानी सफर के अध्ययन के अनुसारए राष्ट्रीय राजधानी की हवा की गुणवत्ता-बढ़िया-की श्रेणी से फिसलकर -संतोषप्रद-की श्रेणी में आ गई है।

सफर के अनुसार, दिल्ली में सोमवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक 87 था और वायु के प्रमुख घटक पीएम-10 और पीएम-2.5 क्रमश: 87 और 47 पाए गए।

लेकिन बीती रात दिल्ली-एनसीआर में हुई आतिशबाजी के बाद वायु की गुणवत्ता में कमी आ गई।

बता दें कि कोरोनावायरस के खिलाफ छिड़ी जंग में प्रधानमंत्री ने देशवासियों से रविवार की रात नौ बजे घरों के बत्तियां बुझाकर दीये जलाने की अपील की थी जोकि कोरोना जैसी महामारी को मात देने का जज्बा पैदा करने की दिशा में एक कोशिश थी और पूरे देश में लोगों ने प्रधानमंत्री की अपील पर बीती रात नौ बजे दीये जलाकर एकजुटता दिखाई और इसे कई लोगों ने दिवाली के उत्सव का रूप दे दिया और आतिशबाजी भी की।

सफर के अनुसार, लॉकडाउन के दौरान हवा के कण पीएम-2.5 दिल्ली में 49 फीसदी तक घट गई थी।

पाठकों सेअपील - “हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें