महामारी जातियों के बीच फ़र्क़ नहीं करती – शी जिनपिंग

Corona virus

विश्व समुदाय को संबोधित चीन के राष्ट्रपति का एक अत्यंत महत्वपूर्ण लेख

A very important article by the President of China addressing the world community

कोलकाता, 15 अप्रैल 2020. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग का कोरोना वायरस पर कल एक लेख (Chinese President Xi Jin Ping’s article on corona virus) आधिकारिक तौर पर प्रकाशित होने वाला है।

इसके बारे में प्रसारित खबरों में कहा गया है कि राष्ट्रपति शी ने कोविड-19 से लड़ने के लिए वैश्विक एकजुटता और सहयोग की माँग की है। उनके अनुसार, इस बीमारी से लड़ने के सिर्फ ये ही सबसे प्रभावी हथियार हैं।

वे अपने लेख में कहते हैं कि कोविद -19 सारी दुनिया में फैल रहा है। जीवन और संपदा के लिए भारी ख़तरा पैदा कर रहा है और विश्व व्यापी स्तर पर जन स्वास्थ्य सुरक्षित सामने बड़ी चुनौती पेश कर रहा है। यह सबसे ज़रूरी है कि अन्तर्राष्ट्रीय समाज में एक विश्वास मज़बूत हो, वह इसके सामूहिक प्रत्युत्तर के लिए एकजुट होकर साथ मिल कर काम करे।

Pandemics do not differentiate between castes

राष्ट्रपति शी ने कहा है कि वायरस के लिये किसी देश की सीमा का कोई मायने नहीं है। महामारी जातियों के बीच फ़र्क़ नहीं करती। कोविद -19 की तरह की भारी विपदाएँ आर्थिक वैश्वीकरण के युग में आख़िरी नहीं है। मानव जाति नाना प्रकार की पारंपरिक और ग़ैर-पारंपरिक सुरक्षा संबंधी चुनौतियों से गुजरेगी।

इस वैश्विक सार्वजनिक स्वास्थ्य विपदा ने एक आपात स्थिति पैदा कर दी है और यह सबसे ज़रूरी है कि यथाशीघ्र मानवता के एक साझा भविष्य के साथ एक वैश्विक समुदाय का गठन हो।

इस लेख में कहा गया है कि सिर्फ़ एकजुटता और सहयोग से ही अन्तर्राष्ट्रीय समुदाय इस महामारी से पार पा सकता है और मनुष्यों के साझा निवास की रक्षा कर सकता है।

अरुण माहेश्वरी

पाठकों सेअपील - “हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें