आचार्य ने सरकार से कहा- बिना सोचे समझे देश को मौत के मुँह में झोंकना ठीक नहीं.

आचार्य ने सरकार से कहा- बिना सोचे समझे देश को मौत के मुँह में झोंकना ठीक नहीं.

Acharya Pramod Krishnam told the government – It is not right to put the country in the face of death without thinking.

नई दिल्ली, 24 मई 2020. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक केंद्र सरकार न केवल घरेलू हवाई उड़ानों, बल्कि अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों को भी शुरू करने जा रही है। केंद्र सरकार की इस योजना पर कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम् ने सवाल उठाए हैं।

आचार्य प्रमोद कृष्णम् ने नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी (Hardeep Singh Puri, India’s Union Minister for Housing & Urban Affairs (I/C); Civil Aviation (I/C); & MoS Commerce & Industry) व प्रधानमंत्री कार्यालय को टैग करते हुए ट्वीट किया –

“मौत का दूसरा नाम है कोरोंना,इस लिये मैं

@HardeepSPuri

से गुज़ारिश करता हूँ कि हवाई यात्रा शुरू करने के फ़ैसले पर पुनःविचार करें,

बिना सोचे समझे देश को मौत के मुँह में झोंकना ठीक नहीं.

@PMOIndia”

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner