Home » Latest » अच्छे दिन ! सब झूठे हैं, पैर के छाले सच्चे हैं
Migrants

अच्छे दिन ! सब झूठे हैं, पैर के छाले सच्चे हैं

सब झूठे हैं,
पैर के छाले सच्चे हैं,
जो दिन, तूने लाया भैया ,
वो दिन ,कितने अच्छे है ।
सब झूठे हैं………

तेरी तरक्की ने है ,
कितने जख्म दिये,
रोज़ी रोटी नींद सकूं ,
सब दफ़न किये।
झूठ फरेबी मुस्कानों के
क़दम क़दम पर गच्चे हैं।
सब झूठे……..

तपेंद्र प्रसाद, लेखक अवकाश प्राप्त आईएएस अधिकारी व पूर्व कैबिनेट मंत्री व सम्यक पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं।
तपेंद्र प्रसाद, लेखक अवकाश प्राप्त आईएएस अधिकारी व पूर्व कैबिनेट मंत्री व सम्यक पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं।

हम भी भारत जन हैं ,
लेकिन ,
सड़कों पर लावारिस हैं ।
भूख हताशा लाठी डंडे
औ गाली की बारिस है ।
क़दम क़दम पर मौत खड़ी है ,
व्याकुल बीबी बच्चे हैं।
सब झूठे………….

तपेन्द्र प्रसाद

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

maya vishwakarma

भाजपा राज में अस्पतालों की दुर्दशा, एनआरआई सोशल एक्टिविस्ट का शिवराज को खुला पत्र हुआ वायरल

Plight of hospitals under BJP rule, NRI social activist’s open letter to Shivraj goes viral …