Home » Latest » अच्छे दिन : बीते वर्ष महिलाओं के खिलाफ अपराधों में 30 फीसदी की बढ़ोत्तरी, यूपी टॉप पर
Say no to Sexual Assault and Abuse Against Women

अच्छे दिन : बीते वर्ष महिलाओं के खिलाफ अपराधों में 30 फीसदी की बढ़ोत्तरी, यूपी टॉप पर

Achhe Din: 30 per cent rise in crimes against women in 2021 – NCW

नई दिल्ली, 1 जनवरी 2022: बीते वर्ष 2021 में देश में महिलाओं के खिलाफ अपराधों की शिकायतों (complaints of crimes against women in the country) में तीस प्रतिशत का इजाफा हुआ था और पूरे साल में करीब 31 हजार आपराधिक शिकायतें मिली हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार भारतीय संसद द्वारा गठित एक सांविधिक निकाय राष्ट्रीय महिला आयोग (National Commission for Women एनसीडब्ल्यू), जो शिकायत या स्वत: संज्ञान के आधार पर महिलाओं के संवैधानिक हितों और उनके लिए कानूनी सुरक्षा उपायों को लागू कराती है, के आंकड़ों के मुताबिक यह बात प्रकाश में आई है ।

Crime against womens in India statistics 2021 pdf

मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि एनसीडब्ल्यू को पिछले एक वर्ष में महिलाओं के खिलाफ हुए अपराधों की लगभग 31,000 शिकायतें प्राप्त हुईं हैं, जो कि वर्ष 2014 के बाद से सबसे अधिक हैं, इन शिकायतों में आधे से अधिक उत्तर प्रदेश से हैं।

राष्ट्रीय महिला आयोग के अनुसार 2020 की तुलना में साल 2021 में महिलाओं के खिलाफ अपराधों की शिकायतों में 30 फीसदी की वृद्धि हुई हैं।

घरेलू हिंसा से संबंधित शिकायतें

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक घरेलू हिंसा और दहेज उत्पीड़न के 10 हजार से अधिक मामले 30,864 शिकायतों में से, अधिकतम 11,013 महिलाओं के भावनात्मक शोषण को ध्यान में रखते हुए सम्मान के साथ जीने के अधिकार से संबंधित थीं। इसके साथ ही घरेलू हिंसा से संबंधित 6,633 और दहेज उत्पीड़न से संबंधित भी 4,589 शिकायतें थीं।

महिलाओं के खिलाफ अपराधों में टॉप कर रहा है यूपी

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उत्तर प्रदेश से महिलाओं के खिलाफ अपराधों की अधिक शिकायत प्राप्त हुईं। सबसे अधिक आबादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश से महिलाओं के खिलाफ अपराधों की 15,828 शिकायतें दर्ज की गईं। वहीं देश की राजधानी दिल्ली में 3,336, महाराष्ट्र में 1,504, हरियाणा में 1,460 और बिहार में 1,456 शिकायतें बीते एक साल में दर्ज हुईं।

आयोग के अनुसार सम्मान के साथ जीने के अधिकार और घरेलू हिंसा से जुड़ी सबसे ज्यादा शिकायतें उत्तर प्रदेश से प्राप्त हुई हैं।

2014 के बाद सबसे ज्यादा शिकायतें

2021 में एनसीडब्ल्यू को बीते 6 सालों में सबसे ज्यादा शिकायतें प्राप्त हुईं है। 2014 में कुल 33,906 शिकायतें प्राप्त हुई थीं। हालांकि एनसीडब्ल्यू की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कई मौकों पर ये भी कहा कि शिकायतों में वृद्धि इसलिए हुई है, क्योंकि आयोग लोगों को अपने काम के बारे में अधिक जागरूक कर रहा है।

एनसीडब्ल्यू ने कहा कि साल 2021 में जुलाई से सितंबर तक, हर महीने 3,100 से अधिक शिकायतें प्राप्त हुईं, आखिरी बार 3,000 से अधिक शिकायतें प्राप्त हुई थीं, जब नवंबर, 2018 में देश मी टू आंदोलन अपने चरम पर था।

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

arvind kejriwal charanjeet singh channi

क्या वाकई चन्नी बेईमान और केजरीवाल ईमानदार आदमी हैं! जानिए

केजरीवाल ने चन्नी को बेईमान आदमी बताया था 20 जनवरी को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद …

Leave a Reply