Home » समाचार » असम विधानसभा चुनाव 2021 » अच्छे दिन : मतदान के बाद भाजपा उम्मीदवार की कार से ढोई जा रही थी ईवीएम
BJP Logo

अच्छे दिन : मतदान के बाद भाजपा उम्मीदवार की कार से ढोई जा रही थी ईवीएम

Achhe Din: EVM was being carried by BJP candidate’s car after voting

असम विधानसभा चुनाव 2021

नई दिल्ली, 02 अप्रैल 2021. एक आश्चर्यजनक घटनाक्रम में असम विधानसभा चुनाव के दौरान एक भाजपा उम्मीदवार की कार से ईवीएम ढोए जाने पर बवाल हो गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार 50 लोगों की भीड़ ने कार को रोक कर हंगामा किया।

एक समाचार एजेंसी के ट्वीट के मुताबिक – कल रात को पोखरंडी विधानसभा, असम में एक वोट दी गई ईवीएम मशीन ले जाई जा रही थी, तब एक भीड़ ने इसे रोक दिया क्योंकि कार चुनाव आयोग से संबंधित नहीं थी। सूत्रों के अनुसार, ईसी कार खराब हो गई गई थी और अधिकारियों ने एक गुजरती हुई कार में लिफ्ट ली जिसे बाद में भाजपा उम्मीदवार की कार के रूप में पहचाना गया।

सूत्र बताते हैं कि अज्ञात व्यक्तियों पर एक प्राथमिकी दर्ज की गई है जिन्होंने मतदान ईवीएम ले जा रही कार पर हमला किया। सूत्रों ने बताया कि घटनाओं के अनुक्रम के बारे में आगे की जांच की जा रही है, भीड़ के हमले के दौरान ईवीएम के साथ छेड़छाड़ नहीं की गई और प्रशासन के संरक्षण में है।

इंडियन एक्सप्रेस की पत्रकार रितिका चोपड़ा ने चुनाव आयोग के स्टेटमेंट की छाया प्रति पोस्ट करते हुए सिलसिलेवार ट्वीट किया –

EC ने असम EVM विवाद पर एक प्रेस बयान जारी किया। कहते हैं, कल शाम को पोलिंग पार्टी की कार खराब हो गई, जिसके बाद उन्होंने एक वाहन की सवारी के स्वामित्व को “बिना जांचे” रोक दिया।

चुनाव आयोग के अनुसार, जब पोलिंग पार्टी (ईवीएम के परिवहन के लिए जिम्मेदार) 50 लोगों की भीड़ द्वारा रोका गया तो उसने पाया कि कार भाजपा के एक उम्मीदवार की पत्नी की थी।

पोलिंग पार्टी पर “हमला” किया गया और लगभग आधे घंटे तक भीड़ द्वारा “बंधक” बनाए रखा गया। डीईओ और एसपी करीमगंज के मौके पर पहुंचने के बाद उन्हें बचाया गया।

EC ने कहा कि बरामद EVM की सील बरकरार पाई गई।

पीठासीन अधिकारी को जारी नोटिस। ईवीएम के परिवहन के लिए जिम्मेदार 3 अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है।

विधानसभा सीट रत्नाबारी (SC) के PS 149 के लिए रिपोल का आदेश

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

Surya Pratap Singh Yogi Adityanath

तुम्हारे पास 1 हज़ार करोड़ का विज्ञापन देने के पैसे थे, पर वेंटीलेटर ख़रीदने के नहीं? शर्म करो। योगी जी, अपना ख्याल रखिये

You had the money to advertise 1 thousand crores, but not to buy a ventilator? …

Leave a Reply