अच्छे दिन : माल्‍या, मोदी, चोकसी ही नहीं – मोदीराज में देश से भागे हैं 72 धोखेबाज, पर देश सुरक्षित हाथों में है !

The Ministry of External Affairs has told the Lok Sabha that since 2015, 72 Indians have fled abroad after committing economic crime. This information was given by the Ministry on the basis of information gathered from various agencies.

नई दिल्ली, 07 फरवरी 2020. नीरव मोदी, विजय माल्‍या, मेहुल चोकसी, ललित मोदी… ये उन कारोबारियों के नाम हैं जो भारत में फ्रॉड करके विदेश भाग गए। मगर सिर्फ इतने ही भगोड़े होते तो भी गनीमत थी। विदेश मंत्रालय ने लोकसभा को बताया है कि 2015 के बाद से ऐसे 72 भारतीय विदेश भाग गए हैं। इन पर वित्‍तीय अनियमितताओं और धोखेबाजी के आरोप हैं। इन 72 लोगों को वापस लाने की कोशिशें जारी हैं.

निजी समाचार चैनल टीवी9 भारतवर्ष की एक खबर के मुताबिक जिन पर आर्थिक अपराध कर विदेश भागने का आरोप हैं, उनमें ये नाम हैं –

विजय माल्‍या, जतिन मेहता, सन्‍नी कालरा, संजय कालरा, एसके कालरा, पुष्‍पेश बैद्य, आशीष जोबनपुत्र, आरती कालरा, वर्षा कालरा, उमेश पारेख, कमलेश पारेख, निलेश पारेख, एकलव्‍य गर्ग, नीरव मोदी, नीशल मोदी, मेहुल चोकसी, विनय मित्‍तल, सब्‍या सेठ, राजीव गोयल, अल्‍का गोयल, ललित मोदी, दीप्तिबेन चेतनकुमार संदेसरा, नितिन जयंतीलाल संदेसरा, रितेश जैन, हितेश पटेल, मयूरीबेन पटेल, प्रीत‍ि आशीष जोबनपुत्र व अन्‍य.

इनके मामले 2015 से जांच में हैं। विभिन्‍न एजेंसियों से जुटाई जानकारी के आधार पर विदेश मंत्रालय ने यह जानकारी दी।

मंत्रालय ने सदन में कहा,

“इन आरोप‍ियों को देश में मौजूदगी सुनिश्चित करने की कोशिशें की जा रही हैं. इनके खिलाफ लुकआउट सर्कुलर, रेड कॉर्नर नोटिस और प्रत्‍यर्पण के अनुरोध किए गए हैं।”

4 जनवरी, 2019 को तत्‍कालीन वित्‍त राज्‍य मंत्री एसपी शुक्‍ला ने लोकसभा में 27 कारोबारियों और आर्थिक अपराधियों के नाम बताए थे जो पिछले पांच साल में देश छोड़ गए थे।

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Leave a Comment
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations