Home » समाचार » देश » Corona virus In India » संविदा पर कार्यरत 16000 ए.एन.एम. की समस्याओं पर लल्लू ने योगी को लिखा पत्र
Lallu Arrested

संविदा पर कार्यरत 16000 ए.एन.एम. की समस्याओं पर लल्लू ने योगी को लिखा पत्र

महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को स्वास्थ्य संबंधी अनुभव के आधार पर अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की प्रारम्भिक अर्हता परीक्षा से मुक्त रखा जाए-अजय कुमार लल्लू

सदी के भीषणतम संकटकाल में संविदा पर कार्यरत 16000 महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं (ए.एन.एम.) की समस्याओं को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

संविदा पर कार्यरत महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को उनके वार्षिक अनुभव के आधार पर दिए जाने वाले 3 अंकों के स्थान पर 5 अंकों की गणना की जाए-अजय कुमार लल्लू

सभी महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को भी नियमित पदों पर साक्षात्कार/परीक्षा हेतु अनुमति दिए जाने की मांग

नियमित पद पर समायोजित होने तक महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं का न्यूनतम वेतन रु. 25,000- प्रतिमाह किए जाने की मांग

फ्रन्ट लाइन योद्धा मानते हुए इनकी गृह जनपद में तैनाती किए जाने की मांग

कोविड संक्रमण से मृत होने वाली संविदा महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता के परिजनों को  आर्थिक सहायता सहित 50 लाख रूपये बीमा रक्षण प्रदान की जाए

लखनऊ 22 मई 2021। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर संविदा पर कार्यरत प्रदेश की लगभग 16000 हजार महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के 7 सूत्रीय मांगपत्र पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करने की मांग करते हुए कहा कि संविदा पर कार्यरत महिला स्वस्थ्य कार्यकर्ताओं ने आपदाकाल में और इसके पूर्व भी जिस तरह चिकित्सकीय सहयोग करने के साथ इंसेफेलाइटिस, जापानी बुखार के साथ वर्तमान कोरोना काल मे जिस तरह वैक्सीनेशन अभियान में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है उसकी भूरि भूरि प्रशंसा किये जाने के साथ उनकी समस्याओं का तत्काल निस्तारण किया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को उनके वार्षिक अनुभव के आधार पर 3 अंकों के स्थान पर 5 अंक देने के साथ उनकी गृह जनपदों में तैनाती सुनिश्चित किया जाना चाहिए जिससे उनकी स्वास्थ्य सम्बन्धी दी जा रही सेवाओं का और अधिक लाभ जनमानस को प्राप्त हो सके।

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने मुख्यमंत्री को भेजे पत्र में कहा है कि सभी महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को भी नियमित पदों पर साक्षात्कार व परीक्षा हेतु अनुमति देने के साथ नियमित पद पर समायोजित होने तक महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं का न्यूनतम वेतन रु. 25,000- प्रतिमाह करना आवश्यक है जिससे उनके परिवार के भरण पोषण में किसी तरह की बाधा न आये। कोविड संक्रमण से मृत होने वाली संविदा महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता  के परिजनों को आर्थिक सहायता सहित देने के साथ न्यूमतम 50 लाख रुपये का बीमा कवच प्रदान किया जाना मानवीय व न्याय की दृष्टि के आधार पर उचित होगा, क्योंकि जिस तरह इन्होंने कठिन श्रम करते हुए इंसेफेलाइटिस, जापानी बुखार के समय अमूल्य योगदान करने के साथ कोविड-19 से लोगों के बचाव के लिए टीकाकरण, कोविड पॉजिटिव मरीजों का सर्वे और उनकी देखभाल के लिए कार्यशील रही हैं उससे उनकी आवश्यकता व महत्व को स्वीकार करते हुए सभी स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को वेतन के 25 प्रतिशत धनराशि का प्रोत्साहन भत्ता दिया जाए।

श्री लल्लू ने मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में लिखा है कि महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के संगठन द्वारा लगातार दिए जा रहे ज्ञापनों व मांग पत्रों पर गम्भीरता पूर्वक विचार करना अतिआवश्यक है।

अजय कुमार लल्लू ने पत्र में कहा है कि इस सदी के भीषण महामारी के संकटकाल में प्रदेश की सभी महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को भी अग्रिम पंक्ति का योद्धा मानते हुए तत्काल सहायता और प्रोत्साहन दिए जाने की जरूरत है, ताकि सदी के भीषणतम संकटकाल में इनके योगदान को मान्यता मिल सके और यह सभी स्वस्थ्य कार्यकर्ता भरपूर ऊर्जा के साथ यह एक योद्धा की भांति इंसानी जानों को बचाने के लिये चल रहे अभियान में महत्वपूर्ण भूमिका आत्मविश्वास के साथ निभा सकें।

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

Women's Health

गर्भावस्था में क्या खाएं, न्यूट्रिशनिस्ट से जानिए

Know from nutritionist what to eat during pregnancy गर्भवती महिलाओं को खानपान का विशेष ध्यान …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.