कांशीराम को अखिलेश की गजब श्रद्धांजलि, बसपा के चार नेता तोड़े, पंडित ने बताया 22 में अखिलेश 350 सीटें जीतेंगे !

कांशीराम को अखिलेश की गजब श्रद्धांजलि : BSP के 4 नेता SP में शामिल, पंडित ने बताया 22 में अखिलेश 350 सीटें जीतेंगे !

लखनऊ 15 मार्च। कभी मायावती को चिढ़ाने के लिए कांशीराम जयंती के दिन 15 मार्च को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले अखिलेश यादव ने एक बार फिर कांशीराम जयंती पर अजब तरीके से मायावती को चिढ़ाते हुए कांशीराम को अपनी श्रद्धांजलि दी है। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की स्थापना करने वाले कांशीराम की जयंती के मौके पर रविवार को बुंदेलखंड में बसपा के चार कद्दावर नेताओं ने पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के प्रति आस्था व्यक्त करते हुये समाजवादी पार्टी (सपा) की सदस्यता ग्रहण की।

शाहनवाज आलम ने बोला अखिलेश यादव पर हल्ला, कहा सपा का मुस्लिम विरोधी चेहरा एक बार फिर उजागर

पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम में बसपा के पूर्व सांसद बलिहारी बाबू, पूर्व विधान परिषद सदस्य एवं समन्वयक तिलक चंद अहिरवार,पूर्व विधायक फेरनलाल अहरवार और पूर्व विधायक अनिल अहिरवार ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता हासिल की।

इस मौके पर तिलक चंद अहिरवार ने कहा कि बसपा प्रमुख मायावती ने बाबा साहब डा भीमराव अंबेडकर और श्री कांशीराम के आदर्शो से भटक गयी है। पार्टी में दलितों की आवाज नहीं सुनी जा रही है जिससे त्रस्त होकर उन्होंने सपा में शामिल होने का फैसला किया।

उन्होंने कहा कि वह सपा अध्यक्ष को विश्वास दिलाते हैं कि वे बुंदेलखंड की सभी 19 सीटों को सपा के पक्ष में करने के लिये दिन रात एक कर देंगे।

अखिलेश को आजमगढ़ जाने से कौन रोक रहा है : शाहनावज आलम

उन्होंने कहा कि श्री कांशीराम के सपनों को पूरा करने में समाजवादी पार्टी अहम भूमिका निभा सकती है।

आरोप लग रहे हैं कि अखिलेश यादव अब सॉफ्ट हिंदुत्व की राह पर हैं और आजमगढ़ में बिलरियागंज में सीएए विरोधी प्रदर्शनकारी महिलाओं पर पुलिस जुल्म के बाद उनके मखारविंद से अभी तक एक शब्द भी नहीं निकला है, जबकि आजमगढ़ उनका संसदीय क्षेत्र है। अब अखिलेश यादव ने बताया है कि वह 2022 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में 351 सीटें जीतेंगे क्योंकि एक पंडित ने उन्हें बताया है कि वे 250 सीटें जीतेंगे।

Lucknow, Bahujan Samaj Party, BSP, Kanshi Ram Jayanti, Akhilesh Yadav, Samajwadi Party, SP,लखनऊ,बहुजन समाज पार्टी,बसपा,कांशीराम जयंती, अखिलेश यादव, समाजवादी पार्टी,सपा

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Leave a Comment
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations