सभी पैसेंजर, एक्सप्रेस ट्रेनें 31 मार्च तक रद्द, केवल मालगाड़ी चलेंगी : रेलवे

All passenger, express trains canceled till 31 March, only freight trains will run: Railways

नई दिल्ली, 22 मार्च 2020 : देश में कोरोनोवायरस से संक्रमित रोगियों की बढ़ती संख्या के मद्देनजर राष्ट्रीय परिवहन रेलवे ने रविवार को मालगाड़ियों को छोड़कर सभी ट्रेनों को 31 मार्च तक रद्द करने की घोषणा की।

प्राप्त जानकारी के अनुसार रेलवे मंत्रालय के कार्यकारी निदेशक राजेश दत्त बाजपेयी (Rajesh Dutt Bajpai, Executive Director, Ministry of Railways) ने अपने बयान में कहा,

“31 मार्च की मध्यरात्रि तक मालगाड़ी को छोड़कर कोई भी ट्रेन नहीं चलाई जाएगी।”

बाजपेयी ने कहा कि कम से कम उपनगरीय सेवाएं और कोलकाता मेट्रो रेल सेवा 22 मार्च की आधी रात तक चलती रहेगी।

उन्होंने आगे कहा,

“इसके बाद यह सेवाएं 31 मार्च की मध्यरात्रि तक रोक दी जाएंगी।”

महाराष्ट्र और बिहार में कोविड -19 की दो ताजा मौतों की खबरों के बीच राष्ट्रीय परिवहन ने यह फैसला लिया है।

रविवार को कोविड -19 रोगियों की कुल संख्या 300 का आंकड़ा पार कर गई।

‘जनता कर्फ्यू’ के मद्देनजर, भारतीय रेलवे ने पहले ही शाम 4 बजे से 10 बजे के बीच लंबी दूरी की ट्रेनों को रद्द करने का फैसला किया था। रेलवे ने देशभर की सभी यात्री ट्रेनों को भी रद्द कर दिया है।

इससे पहले रेलवे ने देश भर में 245 जोड़ी ट्रेनों को रद्द कर दिया था और वातानुकूलित डिब्बों में कंबल देना भी बंद कर दिया था।

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations