एएमयू छात्र नेता आमिर मिन्टोई का उठाया जाना गैरकानूनी तत्काल किया जाए रिहा- रिहाई मंच

AMU student leader Aamir Mintoi’s arrest illegal, be released immediately – Rihai manch

लखनऊ 16 अप्रैल 2020। रिहाई मंच ने एएमयू छात्र नेता आमिर मिन्टोई के उठाए जाने की कड़ी भर्त्सना करते हुए तत्काल रिहाई की मांग की है।

रिहाई मंच ने इसे गैरकानूनी कहते हुए बताया कि एएमयू के छात्रों ने बताया है कि एएमयू के मेडिकल कॉलेज पर छात्र नेता अमीर मिन्टोई और उनकी कोआर्डिनेशन टीम रोज़ की तरह ज़रूरतमंद लोगों को खाना बांटने गई थी। खाना बांटने के बाद वे इमरजेंसी के सामने वाले मेडिकल स्टोर से मास्क खरीद रहे थे, तभी सफेद रंग की ब्रेज़ा कार में कुछ लोग आते हैं और अमीर मिन्टोई को किडनेप करने की कोशिश करते हैं। अमीर मिन्टोई को वो लोग खींचकर कार में ज़बरदस्ती बैठाकर भाग जाते हैं। मेडिकल कॉलेज में अफरा तफरी के माहौल के बीच पता चलता है कि वो लोग एसओजी वाले थे। कोऑर्डिनेशन कमेटी ने एएमयू प्रशासन को इस घटना की जानकारी दे दी है।

यह घटना हमें बताती है कि इस लॉक डाउन में भी कैसे पुलिस मनमानी पर उतारू है और रोज़ सैकड़ों लोगों तक राहत सामग्री और भोजन पहुंचाने वालों को परेशान कर रही है। रिहाई मंच इस घटना की निंदा करता है और मांग करता है कि सामाजिक कार्यकर्ता और छात्र नेता आमिर मिन्टोई को तत्काल रिहा किया जाए।

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations