Home » हस्तक्षेप » आपकी नज़र » एक नई विश्व आचार-संहिता का सबब बनता दिखाई दे रहा है कोरोना वायरस
Corona virus in Hindi

एक नई विश्व आचार-संहिता का सबब बनता दिखाई दे रहा है कोरोना वायरस

कोरोना वायरस और इसके वैश्विक परिणामों का एक अनुमान

An estimate of the corona virus and its global consequences

डब्बूएचओ ने कहा है कि कोरोना वायरस को रोकने की संभावनाएँ (Possibilities to stop the corona virus) कम होती जा रही हैं।

मक्का में विदेशी हज यात्रियों का प्रवेश रोक दिया गया है। वेनिस में कार्निवल का कार्यक्रम स्थगित। ईरान में जुम्मे की नमाज़ के लिये मस्जिदों में इकट्ठा होना रोक दिया गया है।

ब्रिटेन में सरकार अपने हाथ में कुछ आपातकालीन अधिकार ले रही है ताकि नागरिकों के आने-जाने को नियंत्रित कर सके।

अर्थात् नागरिकों के लिये अभी एक नई संहिता बनने जा रही है। लोग भीड़ और मेलों से बचें; ग़ैर-ज़रूरी यात्राएँ न करे; एक प्रकार की आत्म-अलगाव की स्थिति को अपनाएँ।

जो भी सरकार लोगों में खुद ऐसी चेतना पैदा नहीं करेगी, वह इस महामारी से लड़ने में विफल रहेगी।

जनतंत्र के इस काल की सरकारों के सामने यह एक सबसे बड़ी चुनौती होगी।

The corona virus appears to be a cause of new world code of conduct.

कोरोना वायरस एक नई विश्व आचार-संहिता का सबब बनता दिखाई दे रहा है। यह अब तक के विश्व वाणिज्य संबंधों को भी एक बार के लिये उलट-पुलट देगा। यह शिक्षा, स्वास्थ्य नीतियों पर भी गहरा असर डाल सकता है। स्कूलों-कालेजों और अस्पतालों के स्वरूप पर भी क्रमश: इसका असर पड़ सकता है।

अरुण माहेश्वरी

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

the prime minister, shri narendra modi addressing at the constitution day celebrations, at parliament house, in new delhi on november 26, 2021. (photo pib)

कोविड-19 से मौतों पर डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट पर चिंताजनक रवैया मोदी सरकार का

न्यूजक्लिक के संपादक प्रबीर पुरकायस्थ (Newsclick editor Prabir Purkayastha) अपनी इस टिप्पणी में बता रहे …