Home » Latest » पाँच दशक से वैकल्पिक मीडिया का नेतृत्व कर रहे हैं आनन्दस्वरूप वर्मा
Anand swaroop Verma

पाँच दशक से वैकल्पिक मीडिया का नेतृत्व कर रहे हैं आनन्दस्वरूप वर्मा

Anandaswaroop Verma has been leading alternative media for five decades

हमें छात्र जीवन से आनन्द स्वरूप वर्मा और  पंकज बिष्ट का सानिध्य मिला। समकालीन तीसरी दुनिया और समयांतर दोनों पत्रिकाएं रघुवीर सहाय के दिनमान के बाद हिंदी पत्रकारिता के मानक बनी हुई हैं।

नैनीताल समाचार के डीएसबी के दिनों से लेकर प्रेरणा अंशु तक हम इनका ही अनुसरण करते हैं। प्रेरणा-अंशु परिवार के अभिभावक हैं दोनों।

मंगलेश डबराल, वीरेन डंगवाल, गिर्दा, अमलेंदु उपाध्याय, अभिषेक श्रीवास्तव, राजीव लोचन साह, शमशेर सिंह बिष्ट, पीसी तिवारी, शेखर पाठक जैसे मित्रों को एक साथ एक टीम की तरह बांधकर 5 दशक से वैकल्पिक मीडिया का नेतृत्व कर रहे हैं आनन्दस्वरूप वर्मा। हम सभी को महाश्वेता देवी का मार्ग दर्शन भी निरन्तर मिलता रहा है।

महाश्वेता देवी, वीरेनदा और गिरदा और शमशेर दाज्यू हमारे बीच नहीं है; लेकिन हम अपने रास्ते पर चल रहे है और जनपक्षधर कला, साहित्य और पत्रकारिता के मॉडल से सामाजिक न्याय और समानता के लिए अनिवार्य वैकल्पपिक राजनीति की जमीन तैयार कर रहे हैं।

 पाठकों सेअपील - “हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें

आज उन्हीं बड़े भाई साहब 76 साल के आनन्दस्वरूप वर्मा का जन्मदिन है। प्रेरणा अंशु परिवार व हस्तक्षेप परिवार की ओर से उन्हें जन्मदिन की बधाई।

पलाश विश्वास

हस्तक्षेप के संचालन में मदद करें!! सत्ता को दर्पण दिखाने वाली पत्रकारिता, जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, के संचालन में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.
 

हमारे बारे में hastakshep

Check Also

उनके राम और अपने राम : राम के सच्चे भक्त, संघ के राम, राम की सनातन मूरत, श्रीराम का भव्य मंदिर, श्रीराम का भव्य मंदिर, अयोध्या, राम-मंदिर के लिए भूमि-पूजन, राममंदिर आंदोलन, राम की अनंत महिमा,

मर्यादा पुरुषोत्तम राम को तीसरा वनवास

Third exile to Maryada Purushottam Ram राम मंदिर का भूमि पूजन या हिंदू राष्ट्र का …