जन-पर्यावरण को जीएम सरसों की खेती से गंभीर खतरा

Genetic Engineering Appraisal Committee – GEAC जीईएसी ने बीती 18 अक्टूबर को आनुवंशिक रूप से संशोधित यानी जीएम सरसों के पर्यावरण रिलीज की अनुमति दी है।

Read More

विशेषज्ञों से जानिए कैसे और कितनी मात्रा में करें प्रोटीन का सेवन

क्या आप जानते हैं प्रोटीन शरीर के लिए जरूरी है, लेकिन हानिकारक भी साबित हो सकता है, जानिए एक दिन में कितना प्रोटीन लेना चाहिए?

Read More

दशहरे पर संघ प्रमुख मोहन भागवत का राजनीतिक भाषण

दशहरे पर आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के भाषण पर संपादकीय (Editorial on RSS chief Mohan Bhagwat’s speech on Dussehra). विजयादशमी के संबोधन में संघ प्रमुख की राजनैतिक महत्व की बातें

Read More

राहुल : बिना अवरोधों के कोई गांधी नहीं बन सकता

वे कौन लोग हैं जो भारत जोड़ो यात्रा को तोड़ना चाहते हैं? सारी तकलीफों से पार जाने पर ही राहुल को ‘गांधी’ मिलेंगे।

Read More

भाषा और साहित्य पर महात्मा गांधी की दृष्टि

भगवान सिंह की ‘महात्मा गांधी का साहित्य और भाषा चिंतन’ : महात्मा गांधी के चिंतन में तुलसीदास. शिक्षा एवं भाषा के संबंध में गांधीजी के विचार. गांधी की राजनीति में सत्याग्रह, रामराज्य और चरखा का क्या महत्व है

Read More

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा ने बड़ी लकीर खींच दी

राहुल गांधी की छवि खराब करने में हजारों करोड़ रुपया खर्च किया गया। 18 साल से पूरी भाजपा, मीडिया लगी हुई है। लेकिन तीन हफ्ते में राहुल ने अपनी एक नई छवि बनाई

Read More

पूंजी निर्माण में वितरण का महत्व

क्या पूंजी के पास हर आर्थिक समस्या का हल है? पूंजीवाद का (और साम्यवाद का भी! ) दावा है कि हर आर्थिक समस्या का हल

Read More

समाज और लोगों की चिंताओं को डॉक्टरों को पहचानना होगा

वर्ल्ड मेडिकल एसोसिएशन की जेनेवा घोषणा एक पेशा नहीं बल्कि एक जुनून है चिकित्सा चिकित्सा की गरिमा को बनाए रखने और लोगों की स्वास्थ्य देखभाल

Read More

तो खत्म हो जाएंगी चिड़ियां

तेजी से घट रही है जंगलों में पाई जाने वाली चिड़ियों की संख्या चिड़िया की चहचहाट में जिंद़गी के सपने दर्ज हैं और चिड़िया की

Read More

जानिए कामगार पक्षियों के बारे में

दुनिया के मजदूर भी हैं पंछी जिस तरह हम इंसानों की दुनिया में अलग-अलग तरह के काम करने वालों के अलग नाम और पहचान होती

Read More

क्या भारत की न्यायपालिका में वैचारिक बदलाव आया है?

मामला अदालत के चैम्बर के ‘शुद्धिकरण’ का वह 1990 के दशक का उत्तरार्द्ध जब इलाहाबाद उच्च न्यायालय में एक अदालत के चैम्बर के ‘शुद्धिकरण’ का

Read More

बलात्कारियों का सम्मान! कैसा समाज बना रहे हैं हम?

गर निर्भया के दोषी कर दिए जाएं रिहा, तो कैसी होगी आपकी प्रतिक्रिया? फर्ज़ कीजिये किसी दिन आपको यह ख़बर मिलती है कि निर्भया के

Read More

1 2 3 9