1984 सिख क़त्ले-आम की 38 वीं बरसी : क़ातिलों को सज़ा देना तो दूर उन की पहचान होना भी बाक़ी!

देश के दूसरे सब से बड़े धार्मिक अल्पसंख्यक सम्प्रदाय के जनसंहार पर प्रजातांत्रिक-धर्मनिरपेक्ष भारतीय गणतंत्र और न्यायपालिका सभी मूक दर्शक बनी रहे हैं या मुजरिमों की तलाश का पाखंड किया है।

Read More

आरएसएस की तिरंगे से नफ़रत और इस के प्रचारक प्रधानमंत्री मोदी का तिरंगे से प्यार का राज़!

ख़ुद को हिन्दू राष्ट्रवादी बताया था पीएम मोदी ने मौजूदा प्रधानमंत्री मोदी ने, जब वे गुजरात के मुख्यमंत्री थे, विश्व की एक नामी समाचार एजेंसी

Read More

‘विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस’ मनाने की योजना सादवाद और आपराधिक प्रवृत्ति से पीड़ित दिमाग़ की उपज है!

अमृतसर में सिखों ने मुसलमानों को और लाहौर में मुसलमानों ने हिंदुओं को बचाया। मालेर कोटला को सिखों ने बचाया। हांसी (हरियाणा) में इंज़माम-उल-हक़ [पाकिस्तान

Read More

शादी की संस्था औरतों और मर्दों दोनों के ख़िलाफ़ है, लेकिन औरत को ज्यादा भुगतना पड़ता है, इस घर में तो कुत्ता भी मर्द है : किश्वर नाहीद

भारतीय उपमहाद्वीप का प्रगतिशील बुद्धिजीवी बहुत बेईमान है किश्वर नाहीद से शम्सुल इस्लाम की बात-चीत Shamsul Islam‘s conversation with Kishwar Naheed in Hindi. [किश्वर नाहीद

Read More