Home » Latest » हरिऔध जयंती : जन्मस्थली पहुंच अनिल यादव ने किया पुष्पांजलि अर्पित
hariodh jayanti

हरिऔध जयंती : जन्मस्थली पहुंच अनिल यादव ने किया पुष्पांजलि अर्पित

महाकवि की जन्मस्थली खण्डहर में तब्दील, स्थानीय विधायक और सांसद को चिंता नहीं : अनिल यादव

जल्द ही निज़ामाबाद में हरिऔध स्मारक और पुस्तकालय के लिए चलाया जाएगा अभियान : अनिल यादव

जिले की विरासत को फिर से संवारा जाएगा : प्रवीण सिंह

जो अपने महान पुरखों को भूल जाते हैं उन्हें राजनीति करने का हक़ नहीं : राष्ट्रीय पहलवान अमरजीत यादव
निज़ामाबाद में अयोध्या प्रसाद हरिऔध की जयंती मनाई गई, प्रतिमा पर माल्यार्पण

आज़मगढ़, 15 अप्रैल 2021। महाकवि अयोध्या प्रसाद उपाध्याय ‘हरिऔध’ की जयंती पर कांग्रेस पार्टी के प्रदेश संगठन मंत्री अनिल यादव ने उनकी जन्मस्थली पर पहुंचकर पुष्पांजलि अर्पित की।

निज़ामाबाद में अयोध्या प्रसाद उपाध्याय हरिऔध की प्रतिमा पर माल्यापर्ण करने के बाद कांग्रेस प्रदेश संगठन मंत्री अनिल यादव ने कहा कि खड़ी बोली में पहला महाकाव्य प्रिय प्रवास लिखने वाले, जिनके नाम दर्जनों किताबें दर्ज हों ऐसे महान विभूति को हम नमन करते हैं।

अनिल यादव कहा कि अयोध्या प्रसाद हरिऔध के नाम से पूरे दुनिया में निज़ामाबाद जाना जाता है, लेकिन अफसोस की बात है कि स्थानीय विधायक और सांसद उनके प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित करना तक मुनासिब नहीं समझते।

प्रदेश संगठन मंत्री ने कहा कि पिछले दिनों वे हरिऔध जी के घर पर गए थे, जहां सिर्फ ढहती हुई दीवारें हैं। घास फूस का अंबार लगा हुआ है। स्थानीय प्रशासन सो रहा है। विधायक और सांसद के पास वक्त ही नहीं है कि इन महाविभूति की खबर ले सकें।

संगठन मंत्री ने कहा कि जल्द ही एक बड़ा अभियान चलाया जाएगा कि हरिऔध जी के नाम से एक स्मारक और पुस्तकालय निज़ामाबाद में तत्काल प्रभाव से बने। साथ ही साथ निज़ामाबाद में हरिऔध जी के नाम पर महिला महाविद्यालय, महिला इंटर कालेज और क्षेत्र के युवाओं के लिए मिनी स्टेडियम स्थापित किया जाए।

जिला अध्यक्ष प्रवीण सिंह ने कहा कि आज़मगढ़ की विभूतियों ने विश्वपटल पर ख्याति अर्जित की है। लेकिन सपा, बसपा और भाजपा ने हमारे पुरखों को भुला दिया। लेकिन सड़कों पर संघर्ष करके विरासत को सँवारा जाएगा।

राष्ट्रीय पहलवान अमरजीत यादव ने कहा कि राजनीतिक सामाजिक दायरे में इतिहास को याद रखना बहुत जरूरी होता है। जो अपने महान पुरखों को भूल जाते हैं उन्हें राजनीति करने का हक़ नहीं है और ना ही सामाजिक जीवन में उनका कोई महत्व है।

साथ में जिला अध्यक्ष प्रवीण सिंह, राष्ट्रीय पहलवान अमरजीत यादव, मनीष यादव, आदित्य सिंह, रेहाना खातून, अमर बहादुर यादव, अमित कुमार सिंह, विशाल दुबे, मनोज पांडेय,  मनोज कुमार पांडे, विजय कुमार चौहान, डॉ शहनवाज जी, घनश्याम सोनकर ने प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित किया।

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

farming

रासायनिक, जैविक या प्राकृतिक खेती : क्या करे किसान

Chemical, organic or natural farming: what a farmer should do? मध्य प्रदेश सरकार की असंतुलित …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.