Advertisment

भारत जोड़ो यात्रा नफरत की दीवारों को ढहाकर प्रेम-सद्भाव का माहौल स्थापित करेगी : राहुल गांधी

author-image
hastakshep
13 Jan 2023
भाजपा के गुंडों ने पत्रकार को बेरहमी से पीटा, राहुल ने पूछा कुछ चुनिंदा पत्रकारों के लिए ही अधिकार याद आएँगे क्या ?

Advertisment

राहुल गांधी ने लिखा खुला पत्र

Advertisment

नई दिल्ली, 13 जनवरी, 2023: केरल के वायनाड से लोकसभा सदस्य और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपनी भारत जोड़ो यात्रा के दौरान देशवासियों के नाम एक खुला पत्र लिखकर अपने अनुभवों को साझा कर उनके व्यक्तिगत और राजनीतिक जीवन के लक्ष्य की जानकारी दी है।

Advertisment

3500 किलोमीटर की पदयात्रा कर चुके हैं राहुल गांधी

Advertisment

भारत जोड़ो यात्रा के तहत राहुल गांधी करीब 3500 किलोमीटर का सफर तय कर चुके हैं। ये पदयात्रा इस समय पंजाब में है। इसके बाद हिमाचल होते हुए जम्मू -कश्मीर में प्रवेश करेगी।

Advertisment

शुक्रवार को अपने पत्र में राहुल गांधी ने लिखा, मैं ये पत्र आपको 3500 किलोमीटर की ऐतिहासिक भारत जोड़ो यात्रा पूरी करने के बाद लिख (ये पत्र) रहा हूं। कन्याकुमारी से कश्मीर तक की इस पदयात्रा में करोड़ों भारतीयों ने हिस्सा लिया। यह मेरे जीवन की सबसे महत्वपूर्ण यात्रा थी, और इस यात्रा के दौरान जो प्यार और स्नेह मुझे मिला उससे मैं अभिभूत हूं।

Advertisment

श्री गांधी ने इस पत्र में कहा है कि, इस यात्रा के दौरान मैंने आप सब के विचारों और आपकी परेशानियों को बहुत ही ध्यान से सुना आज भारत गहरे आर्थिक संकट के दौर से गुजर रहा है, युवा बेरोजगार है, मंहगाई आसमान छू रही है, किसान कर्ज के बोझ तले दबा है, और देश की सारी संपत्ति चंद उद्योगपतियों के पास है। आज भारत में लोगों को उनकी नौकरी जाने का डर है, उनकी आय कम होती जा रही है। देश में चारों तरफ निराशा का माहौल है।

Advertisment

कमजोरों का ढाल बनना मेरे व्यक्तिगत और राजनीतिक जीवन का लक्ष्य

राहुल ने कहा, ''भारत जोड़ो यात्रा ने उन्हें सिखाया है कि मेरे व्यक्तिगत और राजनीतिक जीवन का लक्ष्य एक ही है- हक की लड़ाई में कमजोरों का ढाल बनना और जिनकी आवाज दबाई जा रही है, उनकी आवाज उठाना।''

कांग्रेस नेता ने कहा, आज हमारी विविधता भी खतरे में है। कुछ विभाजनकारी ताकतें हमारी विविधता को हमारे ही खिलाफ इस्तेमाल कर रही हैं। एक धर्म को दूसरे धर्म से, एक जाति को दूसरी जाति से, एक भाषा को दूसरी भाषा से, और एक राज्य को दूसरे राज्य से लड़ाया जा रहा है। ये विभाजनकारी ताकतें जानती है कि लोगों के दिलों में असुरक्षा और डर पैदा करके ही वो समाज में नफरत के बीज बो सकते हैं। लेकिन इस यात्रा के बाद मुझे पूरा विश्वास हो गया है कि नफरत की राजनीति की अपनी सीमायें हैं और यह ज्यादा दिन तक नहीं चल सकती।

और क्या कहा राहुल गांधी ने

राहुल गांधी ने कहा मैं सड़क से लेकर संसद तक प्रति दिन इन बुराइयों के खिलाफ लडूंगा। मैं एक ऐसा भारत बनाने के लिए दृढ़ संकल्पित हूँ जहाँ हर एक भारतीय के पास सामाजिक खुशहाली के साथ-साथ आर्थिक समृद्धि के समान अवसर हो, जहां किसानों को उनकी फसल का सही दाम मिले, युवाओं को रोजगार मिले, छोटे और मध्यम वर्ग के उद्योगों को प्रोत्साहन मिले, डीजल-पेट्रोल सस्ता हो, रुपयाडॉलर के सामने मजबूत हो, और गैस सिलिंडर की कीमत 500 रुपये से अधिक न हो।

राहुल बोले, मेरा सपना हमारे देश को अंधेरे से उजाले की ओर, नफरत से मोहब्बत की ओर, और निराशा से आशा की ओर ले जाना है और इस लक्ष्य को पाने के लिए में भारत को एक महान संविधान देने वाले हमारे महापुरुषों के बताये हुए सिद्धांतों और मूल्यों को अपना आदर्श बनाकर आगे बढूंगा।

https://twitter.com/INCIndia/status/1613859598255128577

इसके साथ ही कांग्रेस ऐलान किया कि वह 26 जनवरी से केंद्र सरकार के खिलाफ चार्जशीट के साथ राहुल गांधी का लिखा ये पत्र हर घर तक पहुंचाएगी। कांग्रेस का यह कार्यक्रम दो महीने का होगा। जो देश की 2.5 लाख ग्राम पंचायतें, छह लाख गांव और 10 लाख बूथ तक पहुंचाया जाएगा।

https://twitter.com/INCIndia/status/1613848142780461058

Bharat Jodo Yatra will destroy the walls of hatred and establish an atmosphere of love-harmony: Rahul Gandhi

राहुल गांधी के आरोप पर आरएसएस की मुहर! | hastakshep News Point | भारत जोड़ो यात्रा

Advertisment
सदस्यता लें