Home » Latest » हाथरस : अपने भतीजे को ग्राम प्रधानी भी न जिता पाए भाजपा विधायक
BJP Logo

हाथरस : अपने भतीजे को ग्राम प्रधानी भी न जिता पाए भाजपा विधायक

सिकंदराराऊ विधायक की खुली पोल

सिकंदराराऊ (हाथरस), 4 मई 2021. भाजपा विधायक वीरेंद्र सिंह राना व उनके दोनों पुत्रों द्वारा समर्थित गंभीर पट्टी बिसाना में प्रधान पद का प्रत्याशी विधायक भतीजा मोनू राना की करारी हार। 321 वोटों के साथ दूसरे नंबर पर रहे विधायक भतीजा, 118 वोटों के अंतर से पूर्व एमएलसी डॉ राकेश सिंह राना समर्थित प्रत्याशी सतेंद्र राना की हुई जीत।

विधायक वीरेंद्र सिंह राना की जनता के बीच में छवि का जीता जागता उदाहरण है।

जिला हाथरस की विधानसभा क्षेत्र सिकंदराराऊ के भाजपा विधायक बिरेन्द्र सिंह राना ने अपने पैतृक ग्राम गंभीर पट्टी बिसाना के ग्राम प्रधान चुनाव को अपने प्रतिष्ठा का विषय बनाकर अपने भतीजे मानवेन्द्र राना उर्फ मोनू को चुनाव मैदान में उतारा। आरोप हैं कि विधायक जी ने ग्राम वासियों पे कई प्रकार का दबाव भी बनाया एवं प्रलोभन भी दिया। परंतु ग्राम गंभीर पट्टी बिसाना के मतदाताओं ने सारे दबाव व प्रलोभन को नकार कर विधायक जी के भतीजे को बुरी तरह से हराया व पूर्व एमएलसी डॉ राकेश सिंह राना समर्थित प्रत्याशी सतेंद्र राना को जिताने का काम किया।

rakesh singh rana
जिला हाथरस के ग्राम गंभीर पट्टी बिसाना के विजयी प्रधान सतेंद्र राना ने पूर्व एमएलसी डॉ राकेश सिंह राना के आवास पर आकर चुनाव में मदद के लिये धन्यवाद दिया एवं माला पहनाकर स्वागत किया।

जिला हाथरस के ग्राम गंभीर पट्टी बिसाना के विजयी प्रधान सतेंद्र राना ने पूर्व एमएलसी डॉ राकेश सिंह राना के आवास पर आकर चुनाव में मदद के लिये धन्यवाद दिया एवं माला पहनाकर स्वागत किया।

पाठकों से अपील

“हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें

 

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

Mohan Markam State president Chhattisgarh Congress

उर्वरकों के दाम में बढ़ोत्तरी आपदा काल में मोदी सरकार की किसानों से लूट

Increase in the price of fertilizers, Modi government looted from farmers in times of disaster …

Leave a Reply