Home » Latest » कन्नौज तहसीलदार की पिटाई मामले में भाजपा सांसद जेल भेजे जायें : माले
CPI ML

कन्नौज तहसीलदार की पिटाई मामले में भाजपा सांसद जेल भेजे जायें : माले

BJP MPs should be sent to jail in Kannauj Tehsildar’s beating case: CPI (ML)

लखनऊ, 8 अप्रैल। भाकपा (माले) की राज्य इकाई ने कन्नौज में भाजपा सांसद व गुर्गों द्वारा सदर तहसीलदार अरविंद कुमार की पिटाई (Sadar tehsildar Arvind Kumar beaten by BJP MPs and operatives in Kannauj) की कड़ी निंदा की है और इसे सत्ताधारी दल की गुंडागर्दी कहा है।

पार्टी ने सांसद सुब्रत पाठक (MP Subrata Pathak) समेत हमलावरों को जेल भेजने की मांग की है।

भाकपा (माले) के राज्य सचिव सुधाकर यादव ने बुधवार को जारी बयान में कहा कि मुख्यमंत्री समेत शीर्ष भाजपा नेता घटना पर चुप्पी साधे हैं। आवास में घुसकर पत्नी व आठ साल की बच्ची की आंखों के सामने तहसीलदार को लात-घूंसों से पीटने वाले सांसद व गुंडे नामजद एफआईआर दर्ज होने के बावजूद आजाद क्यों हैं? आये दिन लोगों पर एनएसए लगाने वाली प्रदेश सरकार के अधिकारियों के हाथपांव क्या इसलिए फूल गये हैं कि आरोपी सत्ताधारी दल का प्रभावशाली नेता है?

माले राज्य सचिव ने कहा कि लॉकडाउन में सांसद द्वारा तहसीलदार को दी गई सूची के लोगों को सरकारी राशन मिलने में देरी हो रही थी, तो इसकी शिकायत उच्चाधिकारियों से की जा सकती थी और सांसद इसमें सक्षम थे। लेकिन इसकी आड़ में उक्त अधिकारी पर दर्जनों गुर्गों के साथ शारीरिक हमला किया गया।

माले नेता ने कहा कि लॉकडाउन में अपराध के सरकारी आंकड़ों में भले ही कमी दिखाई जा रही हो, लेकिन उक्त घटना दिखाती है कि भाजपाई गुंडागर्दी में कोई कमी नहीं है। योगी राज में प्रभावशाली लोगों, दबंगों व गुंडों को खुली छूट मिली हुई है। वे कानून को अपने हाथ में ले रहे हैं और दलितों व कमजोर वर्गों पर हमले कर रहे हैं। लोकतंत्र के मायने तभी हैं जब ऐसे लोगों को उनके किये की माकूल सजा मिले।

पाठकों से अपील

“हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें

 

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

ऑल इंडिया पीपुल्स फ्रंट के राष्ट्रीय प्रवक्ता और अवकाशप्राप्त आईपीएस एस आर दारापुरी (National spokesperson of All India People’s Front and retired IPS SR Darapuri)

प्रयागराज का गोहरी दलित हत्याकांड दूसरा खैरलांजी- दारापुरी

दलितों पर अत्याचार की जड़ भूमि प्रश्न को हल करे सरकार- आईपीएफ लखनऊ 28 नवंबर, …