असाधारण परिस्थिति का मुकाबला असाधारण तरीके से ही किया जा सकता है : सोनिया गांधी

असाधारण परिस्थिति का मुकाबला असाधारण तरीके से ही किया जा सकता है : सोनिया गांधी

भाजपा देश में ध्रुवीकरण बनाए रखना चाहती है

नई दिल्ली, 13 मई 2022. राजस्थान के उदयपुर में कांग्रेस का नवसंकल्प चिंतन शिविर शुरू हो गया है। पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी ने शिविर की शुरूआत से पहले अपने संबोधन में भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि भाजपा लगातार ‘ध्रुवीकरण का खेल खेल रही है और जनता में डर पैदा कर रही है’।

श्रीमती गांधी ने कहा, अब यह तय हो गया है कि प्रधानमंत्री मोदी और उनके सहयोगियों का वास्तव में उनका नारा मैक्सिमम गवर्नेंस, मिनिमम गवर्मेंट का क्या मतलब है। उन्होंने कहा कि इसका मतलब है कि देश में ध्रुवीकरण बनाए रखना, भय और असुरक्षा की स्थिति बनाए रखना और हमारे समाज के अभिन्न अंगों और हमारे अल्पसंख्यकों को अक्सर प्रताड़ित करना और क्रूरतापूर्वक निशाना बनाना।

कांग्रेस अध्यक्षा ने अन्य मुद्दों पर भी अपनी बात रखी। उन्होंने नौकरी और किसानों के मुद्दों पर कहा कि, देश की बड़ी संख्या ने नौकरी की आस छोड़ दी है। मनरेगा और फूड सिक्योरिटी हमारे शानदार प्रोग्राम थे। कांग्रेस पार्टी किसानों के आंदोलन के साथ थी, लेकिन पीएम ने किसानों से जो वादा किया वो अभी भी पूरा नहीं किया। साथ ही रसोई गैस, पेट्रोल डीजल की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं।

संगठन से लचीलेपन की आशा

उन्होंने कहा कि हमारे महान संगठन से लचीलेपन की उम्मीद की जाती रही है। हमसे ये उम्मीद की जा रही है कि हम हौसला दिखाएं। असाधारण परिस्थिति का मुकाबला असाधारण तरीके से ही किया जा सकता है।

हर संगठन को जीवित रहने के लिए परिवर्तन लाने होते हैं। हमें सुधारों की सख्त जरूरत है। काम करने के तरीके में परिवर्तन लाना होगा। हमारा पुनरुत्थान सामूहिक प्रयास से ही हो पाएगा। इसे न टाले जा सकते है और ना टाले जायेंगे। हमे मिली नाकामयाबी से हम बेखबर नही हैं। लोगों को हमसे उम्मीद है, इससे भी हम अनजान नहीं हैं। हम देश की राजनीति में अपनी पार्टी को उसी भूमिका में लाएंगे जो लोग हम से उम्मीद करते हैं।

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner