भयावह : 3 में से 1 महिला अपने जीवनकाल में हिंसा का सामना करती है

16 Days of Activism against Gender-based Violence

संयुक्त राष्ट्र के अनुसार, “3 में से 1 महिला अपने जीवनकाल में घरेलू हिंसा का अनुभव करती है – और # COVID19 के बीच, घरेलू दुरुपयोग दुनिया भर में बढ़ रहा है।”

आज है देव उठनी एकादशी, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल का कोविड से निधन

Ahmed Patel

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल का बुधवार तड़के 3.30 बजे गुरुग्राम के अस्पताल में निधन हो गया। वह 71 साल के थे और एक महीने पहले कोरोनावायरस से संक्रमित हुए थे।

27 को होगा शाम-ए-तालिब

Sham-e-Talib will be organized in memory of the famous Qawwal Marhoom Talib Hussain Sultani

सन 1998 अपने उस्ताद के गुजर जाने के बाद तालिब साहब ने कव्वाली विधा को जिंदा रखकर बदायूं के नाम को और भी बेहतर तरीके से आगे बढ़ाया। अपनी ज़िंदगी के आखिरी दौर तक देश-विदेश में कार्यक्रम पेश करते रहे। तालिब हुसैन सुल्तानी का सूफियाना कलाम ग़ज़ल गायकी में अनोखा अंदाज सबसे जुदा है

फेफड़े से नहीं ये जीव चमड़ी से सांस लेते हैं

Know Your Nature

श्वसन के लिए फेफड़ों के न होने का मतलब होगा कि उन जंतुओं की साइज सीमित रह जाएगी और जीवन शैली में गतिशीलता कम हो जाएगी। मगर सेलेमेंडर के इस समूह (घलेथोडोन्टिडी) की 448 प्रजातियों में ऐसा नहीं हुआ।

भारत में कोयला बिजली परियोजनाओं को मिलने वाला बैंक लोन घट रहा है

Coal

कोयले के लिए फाइनेंस (Finance for coal) मिलने में गिरावट का मतलब है कि वित्तीय संस्थानों को कोयले में निवेश से जुड़े जोखिमों का एहसास होने लगा है।

हरियाणा में किसान नेताओं की गिरफ्तारियों की तीखी निंदा की छत्तीसगढ़ किसान आंदोलन और किसान सभा ने

Agriculture Bill will destroy agriculture - Mazdoor Kisan Manch

छत्तीसगढ़ किसान आंदोलन और छत्तीसगढ़ किसान सभा ने 26-27 नवम्बर को किसानों की प्रस्तावित दिल्ली रैली को विफल करने के लिए हरियाणा में कल रात से जारी किसान-मजदूर नेताओं की गिरफ्तारियों की तीखी निंदा की है

जानिए सनक या जुनून/ ओसीडी क्या है, कैसे यह मानसिक स्वास्थ्य की समस्या है

Health News

ओसीडी एक मानसिक स्वास्थ्य स्थिति (Mental health situation) है जो बार-बार अवांछित विचारों का कारण बनती है, जिसे जुनून कहा जाता है। यह चीजों को बार-बार करने, परेशान करने वाले विचारों से निपटने के लिए मजबूरी पैदा कर सकती है।

महिलाओं के प्रति अनुदार ही नहीं हिंसक भी है समाज

Say no to Sexual Assault and Abuse Against Women

जो मानसिकता समाज की बन गयी है, कमोबेश वही सोच पुलिस की भी बन चुकी है। आखिर पुलिस आती भी तो इसी समाज से है। एक सवाल महिलाओं के राजनीतिक प्रतिनिधित्व का भी है। जब नारी, पुरुष के समान स्वतंत्रता अनुभव करेगी तब स्थितियां बेहतर होगी।

ऑनलाइन मंच पर लगेगा विज्ञान फिल्मों का मेला

india international science festival 2020

महोत्सव में डॉक्यूमेंट्री, डॉक्यू-ड्रामा, एनिमेशन एवं साइंस फिक्शन वर्गों में फिल्में आमंत्रित की गई थीं। ये फिल्में विज्ञान, प्रौद्योगिकी, नवाचार, ऊर्जा, पर्यावरण, जल प्रबंधन, स्वास्थ्य एवं औषधि, बायोग्राफी, कृषि, परंपरागत ज्ञान और विज्ञान के इतिहास जैसे विषयों पर केंद्रित हैं।

लॉकडाउन से बस प्रदूषण हुआ कम, ग्रीनहाउस गैसें अभी भी लहरा रही हैं परचम : डब्लूएमओ की रिपोर्ट

WMO Greenhouse Gas Bulletin

लॉकडाउन ने कार्बन डाइऑक्साइड जैसे कई प्रदूषकों के उत्सर्जन में तो कटौती की, लेकिन CO2 सांद्रता पर उसका कोई प्रभाव नहीं पड़ा। डब्लूएमओ ग्रीनहाउस गैस बुलेटिन के अनुसार, कार्बन डाइऑक्साइड के स्तर में 2019 में तो वृद्धि बनी ही रही, वो वृद्धि 2020 में भी जारी है।