Home » समाचार » राज्यों से (page 10)

राज्यों से

आईईईएफए रिपोर्ट : भारत के थर्मल पावर सेक्टर में फंसे परिसंपत्ति जोखिम को कम करके आंका गया

National News

IEEFA Report: India’s stranded asset risk in thermal power sector underestimated India should cancel many of the worst thermal power plant proposals भारत को सबसे खराब थर्मल पावर प्लांट के प्रस्तावों को रद्द करना चाहिए नई दिल्ली, 30 दिसंबर 2019. इंस्टीट्यूट फॉर एनर्जी इकोनॉमिक्स एंड फाइनेंशियल एनालिसिस (IEEFA) द्वारा हाल ही में जारी एक नई रिपोर्ट में पाया गया है …

Read More »

कड़कड़ाती ठंड में शरीर में पानी की मात्रा कम ना होने दें, लंबी खांसी को ना करें नजरअंदाज

Health news

यशोदा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल कौशांबी गाजियाबाद में बेतहाशा ठंड के मद्देनजर लगाया गया एक निशुल्क विशाल फेफड़ा रोग जांच शिविर उम्रदराज लोग फ्लू की वैक्सीन (Flu vaccine) इस खतरनाक ठंड में अपने डॉक्टर से पूछ कर जरूर लगवाएं : डॉक्टर अंकित सिन्हा गाजियाबाद, 29 दिसंबर 2019. फेफड़ा रोग एवं प्रदूषण की वजह से बढ़ रही एलर्जी एवं दमा रोग के …

Read More »

योगी की पुलिस ने प्रियंकाका गला पकड़कर खींचने की कोशिश की, 8 किमी पैदल चलकर दारापुरी के परिजनों से मिलीं प्रियंका

Priyanka Gandhi at Bijnore

तानाशाह योगी आदित्यनाथ की पुलिस ने रोका योगी की पुलिस के बलपूर्वक रोकने के बाबजूद दारापुरी के परिजनों और उनकी बीमार पत्नी से मिलीं महासचिव प्रियंका गांधी सरकार दमन और तानाशाही पर उतारू, हर अन्याय और दमन के खिलाफ लड़ाई लड़ी जाएगी। आशीष अवस्थी लखनऊ 28 दिसम्बर 2019। कांग्रेस महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी स्थापना दिवस के कार्यक्रम के बाद सीएए …

Read More »

नागरिकता संशोधन कानून की कवरेज के दौरान पत्रकारों पर हुए हमले के खिलाफ CAAJ का निंदा वक्तव्य

Assault on Media in anti-CAA protests

CAAJ’s Condemnation Statement against Attack on Journalists during Coverage of Citizenship Amendment Act नयी दिल्ली, 28 दिसंबर, 2019. नागरिकता संशोधन कानून की कवरेज के दौरान पत्रकारों पर हुए हमले के खिलाफ पत्रकारों की समिति काज (Committee Against Assault on Journalists (CAAJ)) ने निम्न वक्तव्य जारी किया है – देश भर में जब छात्र और युवा नागरिकता कानून में हुए संशोधन …

Read More »

29 नवंबर को झारखंड की राजधानी रहेगी गुलजार : देश के राजनीतिक दिग्गजों का होगा जमावड़ा

Hemant Soren

रांची, 28 दिसंबर 2019. शायद यह पहली बार है कि किसी मुख्यमंत्री की ताजपोशी, विपक्षी एकता के रूप में राष्ट्रीय चर्चे में है। कारण साफ है कि जिस तरह से राज्य के कार्यवाहक मुख्यमंत्री रघुवर दास के राजनीतिक गुरूर को विपक्षी एकता ने ध्वस्त किया, वह झारखंड के राजनीतिक इतिहास का पन्ना बन चुका है। झारखंड के विगत विधानसभा चुनाव …

Read More »

नई तकनीक से कम हुई जेरेनियम खेती की लागत

Research News

New low-cost technology to prepare Geranium saplings नई दिल्ली, 28 दिसंबर 2019 : सुगंधित पौधों की खेती (Cultivation of Aromatic Plants) किसानों के लिए अतिरिक्त आमदनी एक प्रमुख जरिया बन सकती है। जेरेनियम भी एक ऐसा ही सुगंधित पौधा है जिसका तेल बेहद कीमती होता है। लखनऊ स्थित सीएसआईआर-केंद्रीय औषधीय एवं सगंध पौधा संस्थान (सीमैप) के वैज्ञानिकों ने पॉलीहाउस की …

Read More »

अपने पोल पर ही ट्रोल हो गए भाजपा ट्रोल आर्मी प्रमुख अमित मालवीय

BJP IT cell head Amit Malviya

BJP IT cell head Amit Malviya loses his own Twitter poll, gets brutally trolled नई दिल्ली, 28 दिसंबर 2019. भाजपा आईटी सेल प्रमुख अमित मालवीय भाजपा ट्रोल आर्मी के प्रमुख माने जाते हैं। लेकिन वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई को ट्रोल करने के चक्कर में मालवीय खुद ट्रोल हो गए। दरअसल अमित मालवीय ने बीते शुक्रवार को अनुभवी पत्रकार राजदीप सरदेसाई …

Read More »

क्या मोतीलाल बास्के के परिवार वालों को इंसाफ मिलेगा ?

BABULAL Marandi Will Motilal Baske's family get justice

Will Motilal Baske’s family get justice? Doli laborer Motilal Baske killed by police as Maoist राँची से विशद कुमार 29 दिसंबर को हेमंत सरकार का गठन होने जा रहा है। शायद झारखंडी जनता ने पिछली सरकार से आजीज होकर महागठबंधन को बहुमत दिया है। देखना यह है कि हेमंत सरकार जनता की अपेक्षाओं पर कितनी खरा उतरती है? जिसमें जनता की कई अपेक्षाएं शामिल है। जिसमें डोली मजदूर मोतीलाल बास्के की माओवादी बताकर पुलिस द्वारा की गई हत्या भी शामिल है। क्या मोतीलाल बास्के के परिवार वालों को इंसाफ मिल सकता है? वहीं मोतीलाल बास्के की मौत को लेकर किए गए जनआंदोलनों के कारण प्रतिबंधित किए गए ‘मजदूर संगठन समिति’ से भी प्रतिबंधित हटाया जा सकता है? रघुवर सरकार के कार्यकाल में हुए तमाम तरह की अलोकतांत्रिक व गैर-संवैधानिक घोषणाओं को वापस लिया जा सकता है? झारखंडी जनता को नई सरकार से बहुत सारी अपेक्षाए हैं, जिसे हेमंत किस स्तर से पूरा करते हैं, देखना होगा। 9 जून 2017 शाम को गिरिडीह पुलिस (Giridih Police) ने नक्सल उन्मूलन अभियान (Naxalite eradication campaign) के तहत एक बड़ी सफलता हासिल करने का प्रेस बयान सहित एक फोटो जारी कर बताया था कि ढोलकट्टा के जंगल में पुलिस के साथ मुठभेड़ में एक दुर्दांत नक्सली मारा गया है, जिसके पास से एसएलआर रायफल एवं कई प्रतिबंधित सामान बरामद हुए हैं। दूसरे दिन 10 जून झारखंड के तत्कालीन डीजीपी डीके पांडेय मधुबन आए और गिरिडीह पुलिस को 15 लाख रू0 का इनाम सहित एक लाख रू0 जश्न मनाने के लिए दिया। वहीं सीआरपीएफ को 11 लाख रू0 इनाम की राशि दी गई। मगर 10 जून शाम होते ही पुलिस की खुशी पर मानो ग्रहण लग गया, क्योंकि क्षेत्र का मजदूर संगठन समिति और मरांग बुरू सांवता सुसार बैसी ने पुलिस के दावे को सिरे से खारिज करते हुए बताया कि नक्सल के नाम पर जिसे पुलिस ने मारा है वह एक आदिवासी डोली मजदूर मोतीलाल बास्के था। वह दोनों संगठनों का सदस्य था, उसकी मसंस की सदस्यता संख्या जहां 2065 है, वहीं सुसार बैसी की सदस्यता संख्या 70 है। इस खबर के प्रचारित होते ही पुलिस की आलोचना शुरू हो गई, मगर सफाई में पुलिस ने कोई बयान नहीं दिया। मोतीलाल का नक्सली नहीं होने के कई प्रमाण इन संगठनों द्वारा दिए गए। वहीं पुलिस उसके नक्सली होने का कोई भी प्रमाण नहीं दे सकी। नतिजा यह रहा कि 14 जून को मसंस, सांवता सुसार बैसी, झामुमो, जेवीएम, भाकपा माले सहित क्षेत्र के कई पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा 14 जून को महापंचायत बुलाई गई जिसमें लगभग 5 हजार की भीड़ जमा हो गई। इसी दिन एक रैली हुई और मृतक की पत्नी पार्वती देवी द्वारा मधुबन थाना में पुलिस के खिलाफ अपने पति की हत्या का मामला दर्ज कराया गया। मोतीलाल की इस हत्या पर मधुबन के व्यवसायी वर्ग भी भौचक था। उसके नक्सली होने की बात किसी के गले नहीं उतर रही थी। पारसनाथ पहाड़ के दूसरी छोर में अवस्थित ढोलकट्टा गांव में घटना के बाद सन्नाटा पसरा हुआ था। कई लोग गांव छोड़ कर अपने अपने रिश्तेदारों के यहां भाग गये थे। मृतक की पत्नी पावर्ती ने बताया था कि उसके पति रोज प्रातः तीन बजे शिखर पर जाते थे और 11 बजे के करीब लौटते थे। क्योंकि ऊपर एक छोटी सी दुकान है जहां वे नींबू पानी व चाय वगैरह बेचते थे। कभी-कभी डोली भी ले जाते थे। मगर उस दिन गये तो देर शाम तक नहीं लौटे । शाम को गांव वालों से पता चला कि पुलिस ने उसे गोली मार दी है। मृतक के तीन बच्चे हैं, बड़ा बेटा निर्मल बास्के उस वक्त आठवीं में पढ़ता था, वहीं राम बास्के व लखन बास्के जो जुड़वा हैं, दूसरी कक्षा में पढ़ते थे। मोतीलाल ससुराल में रहता था, तथा वहीं बगल की जमीन पर उसे इंदिरा आवास योजना के तहत मकान बनाने का सरकारी पैसा मिला था। वह पहली किस्त से नींव से ऊपर तक की जुड़ाई कर चुका था। उल्लेखनीय है कि कोई भी सरकारी योजना के लाभुक का चयन किसी भी अपराधी व्यक्ति का नहीं होता है। पुलिस की गोली का शिकार मोतीलाल बास्के की मौत को लेकर …

Read More »

लार के नमूने से हो सकेगी मधुमेह की जांच

Diabetes Care

Now glucose monitoring through saliva too नई दिल्ली, 27 दिसंबंर 2019 : मधुमेह के स्तर का पता लगाने के लिए मरीजों को बार-बार रक्त का परीक्षण करता पड़ता है। शरीर में रक्त शर्करा की मात्रा का पता लगाने के लिए अंगुली में सुई चुभोकर रक्त के नमूने प्राप्त किए जाते हैं। भारतीय शोधकर्ताओं समेत अंतरराष्ट्रीय वैज्ञानिकों की टीम ने ग्लूकोज …

Read More »

दिल के लिए घातक है उच्च रक्तचाप

Health news

High blood pressure is fatal for the heart नई दिल्ली, 27 दिसंबर 2019. शहरी जीवन की व्यस्तता ने मनुष्य को मशीन बना दिया है। अपने परिवार और व्यवसाय में व्यक्ति इस कदर खो जाता है कि उसे स्वयं के लिए भी फुरसत नहीं मिलती और इसी आपाधापी में व्यक्ति अपने स्वास्थ के प्रति लापरवाह हो जाता है। उसे पता भी …

Read More »