अब तक के तीन सबसे गर्म सालों में शामिल होगा 2020 : संयुक्त राष्ट्र

State of Global AIR 2019

स्‍टेट ऑफ द ग्‍लोबल क्‍लाइमेट’ 2020. चरम मौसमी हालात ने कोविड-19 के प्रभाव को और गहरा कर दिया. लॉकडाउन के बावजूद ग्रीन हाउस गैसों के वातावरणीय संकेंद्रण के स्तरों का बढ़ना जारी है।

जलवायु परिवर्तन और घातक कर सकता है निवार का वार?

Climate change Environment Nature

IPCC (आईपीसीसी) के वैज्ञानिक इस तरह की घटनाओं के बारे में चेतावनी देते रहे हैं। सबसे हालिया रिपोर्ट जिसमें ओशन्स और क्रायोस्फीयर को कवर किया गया था, ने स्पष्ट रूप से चेतावनी दी थी कि अगर ग्लोबल वार्मिंग को नहीं रोका गया, तो इन घटनाओं की संख्या और चक्रवातों की गंभीरता में वृद्धि होगी।

लॉकडाउन से बस प्रदूषण हुआ कम, ग्रीनहाउस गैसें अभी भी लहरा रही हैं परचम : डब्लूएमओ की रिपोर्ट

WMO Greenhouse Gas Bulletin

लॉकडाउन ने कार्बन डाइऑक्साइड जैसे कई प्रदूषकों के उत्सर्जन में तो कटौती की, लेकिन CO2 सांद्रता पर उसका कोई प्रभाव नहीं पड़ा। डब्लूएमओ ग्रीनहाउस गैस बुलेटिन के अनुसार, कार्बन डाइऑक्साइड के स्तर में 2019 में तो वृद्धि बनी ही रही, वो वृद्धि 2020 में भी जारी है।

ट्रम्प की हार नहीं, पर्यावरण की जीत हुई है

Donald Trump, Joe Biden

सीनेट पर रिपब्लिकन नियंत्रण कुछ मुश्किलें खाड़ी करेगा लेकिन फिर भी पर्यावरण अनुकूल नीतियों को शामिल करने के प्रयासों में बढ़ोतरी अपेक्षित है। सदन में डेमोक्रेटस और सीनेट में उदारवादी रिपब्लिकन के साथ काम करते हुए, नए प्रशासन से स्वच्छ ऊर्जा टैक्स क्रेडिट, रिन्यूएबल जेनेरशन, ऊर्जा भंडारण और कार्बन कैप्चर प्रौद्योगिकियों का विस्तार करने की अपेक्षा है।

भारत के दो बैंक भी जैव-विविधता को नुकसान पहुंचाने के लिए

Environment, Biodiversity and Nature News

बैंकरोलिंग एक्‍सटिंक्‍शन’ (bankrolling extinction) नामक जारी एक ताज़ा रिपोर्ट की मानें तो भारत के दो सबसे बड़े बैंक, स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया (state Bank of India) और एचडीऍफ़सी, लगभग 6984 मिलियन डॉलर ऐसे क्षेत्र में निवेश कर चुके हैं जिनसे जैव विविधता को नुकसान (Damage to biodiversity) हो रहा है।

भारत में बीते वर्ष हर मिनट तीन लोग वायु प्रदूषण से मरे!

India recorded highest air pollution exposure globally in 2019

India recorded the highest annual average PM 2.5 concentration exposure in the world last year, according to the State of Global Air 2020 (SOGA 2020) report released on Wednesday.

दिल्ली में प्रदूषण की समस्या ; मौजूदा हालात दरअसल एक सामूहिक नाकामी है

वायु प्रदूषण, air pollution, air pollution poster,air pollution in hindi,air pollution News in Hindi, वायु प्रदूषण पर निबंध,Diseases Caused by Air Pollution,newspaper articles on pollution in hindi, वायु प्रदूषण का चित्र,वायु प्रदूषण पर नवीनतम समाचार,वायु प्रदूषण के कारण, वायु प्रदूषण की समस्या और समाधान, Air Pollution से स्वास्थ्य पर पड़ने वाले प्रभाव,वायु प्रदूषण News in Hindi,

दिल्ली का प्रदूषण अब जगजाहिर समस्या है। इसके समाधानों के बारे में भी कुछ लोगों को जानकारी है, मगर व्यापक रूप से इनकी जानकारी की कमी है। प्रदूषण का ‘मौसम’ तब शुरू होता है जब जहरीली धुंध दिल्ली समेत लगभग पूरे उत्तर भारत को कई हफ्तों तक अपनी आगोश में ले लेती है।

विशेषक्षों ने चेताया वायु प्रदूषण का उच्च स्तर बढ़ा सकता है कोरोना से होने वाली मौतों की संख्‍या

वायु प्रदूषण, air pollution, air pollution poster,air pollution in hindi,air pollution News in Hindi, वायु प्रदूषण पर निबंध,Diseases Caused by Air Pollution,newspaper articles on pollution in hindi, वायु प्रदूषण का चित्र,वायु प्रदूषण पर नवीनतम समाचार,वायु प्रदूषण के कारण, वायु प्रदूषण की समस्या और समाधान, Air Pollution से स्वास्थ्य पर पड़ने वाले प्रभाव,वायु प्रदूषण News in Hindi,

वायु प्रदूषण के उच्च स्तर का असर कोरोना से होने वाली मौतों की संख्‍या में और इजाफे (Higher levels of air pollution further increase the number of deaths from corona) के तौर पर सामने आ सकता है।

ट्रम्प के फैसलों के बावजूद अमेरिका बढ़ रहा है शून्य उत्सर्जन की ओर

Donald Trump

Despite Trump’s decisions, America is moving towards zero emissions : Americas Pledge On Climate Report पिछले 4 वर्षों के दौरान डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन के पर्यावरण संबंधी कई समझौतों से अलग होने के बावजूद अमेरिका इससे होने वाले नुकसान की सफलतापूर्वक भरपाई करने में कामयाब रहा है। ऐसा होने से अमेरिका के लिए वर्ष 2050 तक

अक्षय ऊर्जा अपनाने से वर्ष 2050 तक 50 लाख उत्‍तर भारतीयों को मिल सकता है रोजगार – रिपोर्ट

Environment and climate change

नयी दिल्‍ली, 8 सितम्‍बर, 2020: फिनलैंड की लापीनराटा-लाटी यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्‍नॉलॉजी– lappeenranta-lahti university of technology finland (एलयूटी- LUT University) और दिल्‍ली स्थित क्‍लाइमेट ट्रेंड्स (Climate Trends based in Delhi) के आज जारी एक अध्‍ययन में दावा किया गया है कि वर्ष 2050 तक उत्‍तर भारत की ऊर्जा प्रणाली (North India’s energy system) को 100 फीसद