Home » समाचार » तकनीक व विज्ञान » ग्लोबल वार्मिंग (page 2)

ग्लोबल वार्मिंग

Global warming is the ongoing rise of the average temperature of the Earth’s climate system and has been demonstrated by direct temperature measurements and by measurements of various effects of the warming. ग्लोबल वार्मिंग पृथ्वी की जलवायु प्रणाली के औसत तापमान का चलन है और इसे प्रत्यक्ष तापमान माप और वार्मिंग के विभिन्न प्रभावों के मापन द्वारा प्रदर्शित किया गया है। ग्लोबल वार्मिंग इन हिंदी, ग्लोबल वार्मिंग के खतरे, ग्लोबल वार्मिंग का चित्र, ग्लोबल वार्मिंग क्विज इन हिंदी, ग्लोबल वार्मिंग के प्रश्न, Global warming (भूमंडलीय ऊष्मीकरण), ग्लोबल वार्मिंग: कारण और उपाय,

मौजूदा वैश्विक जलवायु लक्ष्यों के साथ 16 फीसदी बढ़ेगा उत्सर्जन​​​​​

Emissions will increase by 16 percent with current global climate targets.विकसित देशों की ज़िम्मेदारी है कि वे विकासशील देशों में जलवायु कार्रवाई के लिए धन मुहैया करें Emissions will increase by 16 percent with current global climate targets संयुक्त राष्ट्र की जलवायु मामलों की संस्था UNFCCC की ताज़ा रिपोर्ट (The latest report of the UN’s climate affairs body UNFCCC) निराश …

Read More »

भोजन के खराब और व्यर्थ होने की वजह से पैदा होता है प्रदूषणकारी तत्वों का उत्सर्जन

What you need to know about food waste and climate change भोजन के खराब तथा व्यर्थ होने से बचाना, भारत में प्रदूषणकारी तत्वों के उत्सर्जन में कटौती और भोजन तथा पोषण सुरक्षा में सुधार लाने का अवसर है नई दिल्ली, 19 अगस्त 2021–  यूनाइटेड नेशंस इंटर–गवर्नमेंटल पैनल ऑन क्लाइमेट चेंज (आईपीसीसी) की छठी आकलन (एआर6) रिपोर्ट (Sixth Assessment (AR6) Report …

Read More »

किगाली संशोधन को मंज़ूरी के साथ एक बार फिर भारत ने दिखाया नेतृत्व

climate change nature

Kigali amendment India India decides to ratify Kigali Amendment to Montreal Protocol किगाली संशोधन क्या है ? मॉन्ट्रियल प्रोटोकॉल में किगाली संशोधन हाइड्रोफ्लोरोकार्बन (एचएफसी) की खपत और उत्पादन को धीरे-धीरे कम करने के लिए एक अंतरराष्ट्रीय समझौता है। इस प्रोटोकॉल में अकेले सदी के अंत तक वातावरण के 0.5 डिग्री गर्म होने से बचने की क्षमता है। जलवायु परिवर्तन के …

Read More »

भारत में जलवायु परिवर्तन से सम्‍बन्धित एक अलग मंत्रालय बनाने की जरूरत !

आईपीसीसी के वैज्ञानिकों ने जलवायु परिवर्तन के भौतिक विज्ञान पर आधारित तीन भागों वाली रिपोर्ट का पहला हिस्‍सा जारी किया। इसके निष्‍कर्षों से यह साफ जाहिर होता है कि भारत अब जलवायु परिवर्तन से जुड़े मामलों को पर्यावरण एवं वन मंत्रालय का पिछलग्‍गू नहीं बनाये रख सकता। संयुक्त राष्ट्र की इकाई द इंटर गवर्नमेंटल पैनल ऑन क्लाइमेट चेंज (आईपीसीसी) जलवायु परिवर्तन …

Read More »

मौसम बदल गया है, हमेशा के लिए

— रॉक्सी मैथ्यू कोल लगभग हर सात साल में, इंटरगवर्नमेंटल पैनल ऑन क्लाइमेट चेंज (IPCC) द्वारा इसपर एक रिपोर्ट जारी की जाती है कि कैसे मानव-प्रेरित जलवायु परिवर्तन की रफ्तार बढ़ रही है और इसकी वजह से चरम मौसम की घटनाएं हमारे दरवाजों पर दस्तक दें रही हैं। तो, 9 अगस्त 2021 को जारी IPCC की छठी असेसमेंट रिपोर्ट में …

Read More »

विनाश की तरफ कदम बढ़ा रही है दुनिया : इंटरगवर्नमेंटल पैनल ऑन क्‍लाइमेट चेंज (आईपीसीसी)

 अगले 20 सालों में दुनिया के तापमान में 1.5 डिग्री सेल्सियस इजाफा तय – आईपीसीसी ग्लोबल वार्मिंग की इस रफ्तार पर भारत में गर्म चरम मौसम की आवृत्ति में वृद्धि की उम्मीद है The world is moving towards destruction: Intergovernmental Panel on Climate Change (IPCC) नई दिल्ली, 09 अगस्त 2021. धरती की सम्‍पूर्ण जलवायु प्रणाली के हर क्षेत्र में पर्यावरण …

Read More »

जलवायु संकट से लड़ने के लिये मीथेन उत्‍सर्जन में कमी बेहद ज़रूरी

Reduction in methane emissions very important to fight climate crisis मीथेन में ऊष्मा बढ़ाने की ताकत कार्बन डाइऑक्साइड के मुकाबले मीथेन वातावरण में सिर्फ 9 साल तक ही मौजूद रहती है, मगर इसमें ऊष्मा बढ़ाने की ताकत कार्बन डाइऑक्साइड के मुकाबले 28 गुना ज्यादा होती है जलवायु परिवर्तन के सन्दर्भ में जारी आईपीसीसी की रिपोर्ट में पहली बार, कम समय तक …

Read More »

हर डिग्री सेल्सियस वार्मिंग में बढ़त के साथ मानसून वर्षा में लगभग 5% वृद्धि की संभावना

Monsoon rainfall is likely to increase by about 5% with every degree Celsius warming Climate Change is making India’s monsoon rainfall more erratic अब समय है स्वीकारने का कि जलवायु परिवर्तन हमारी रोज़मर्रा की जिंदगी पर दिखा रहा है असर ग्लोबल वार्मिंग भारत में मानसून की बारिश को उम्मीद से कहीं ज्यादा बढ़ा रहा है भारत के पश्चिमी तटीय राज्यों …

Read More »

नवीकरणीय ऊर्जा क्षेत्र में महाशक्ति बनने की ओर अग्रसर है भारत

Renewable energy

India is poised to become a superpower in the renewable energy sector नई दिल्ली, 19 जुलाई : नवीकरणीय संसाधनों से प्राप्त ऊर्जा को ऊर्जा का स्थायी स्रोत माना जाता है। इससे तात्पर्य है कि यह कभी भी समाप्त नहीं होते हैं या फिर इनके खत्म होने की संभावना लगभग शून्य होती है। वहीं दूसरी ओर जीवाश्म ईंधन जैसे तेल, गैस …

Read More »

ग्लोबल वार्मिंग आकाशीय बिजली की तीव्रता और आवृत्ति बढ़ा रही

 Global warming is increasing the intensity and frequency of lightning How does Thunder fall on earth? Lightning Facts and Information in Hindi | बिजली के तथ्य और जानकारी हिंदी में | Lightning Facts | Fun Facts About Lightning हाल ही में राजस्थान, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में आकाशीय बिजली गिरने (वज्रपात) से कम से कम 74 लोगों की मौत …

Read More »

अक्षय ऊर्जा के लिए सब्सिडी, वित्त वर्ष 2017 के बाद से लगभग 45 फीसदी कम

Subsidies for renewable energy, about 45% less since FY 2017 नए सिरे से समर्थन की ज़रूरत पर विशेषज्ञों का जोर नए शोध सुझाते हैं कि भारत को कोविड-19 से आर्थिक सुधार के हिस्से के रूप में आत्मनिर्भर भारत और स्वच्छ ऊर्जा संक्रमण के अपने लक्ष्यों तक पहुंचने के लिए रिन्यूएबल ऊर्जा के लिए वित्तीय सहायता बढ़ाने की आवश्यकता है। नई …

Read More »

कुल वैश्विक ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन के 76फीसदी के लिए अकेले G20 देश ज़िम्मेदार

 G20 countries alone are responsible for 76% of total global greenhouse gas emissions नई दिल्ली, 12 जुलाई 2021. अकेले चीन वैश्विक उत्सर्जन के एक चौथाई से ज़्यादा के लिए ज़िम्मेदार, मगर सभी G20 देशों को निभानी होगी महत्वपूर्ण भूमिका क्योंकि दुनिया के कुल ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन के 76 फीसद हिस्से के लिए अकेले G20 देश ज़िम्मेदार हैं, इसलिए अगर इन …

Read More »

पाकिस्तान से आ रही गर्म हवाएँ चढ़ा रही हैं दिल्ली में पारा

 Warm winds coming from Pakistan are raising the temperature in Delhi मानसून के लुका-छिपी खेलने के साथ, दिल्ली पिछले कुछ दिनों से लगातार हीटवेव से जूझ रही है। 29 जून से 1 जुलाई तक लगातार तीन दिनों अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहा। वास्तव में, यह 2012 के बाद से, जब दिन का अधिकतम तापमान 43.5 डिग्री सेल्सियस …

Read More »

सितंबर माह में अत्यधिक बारिश के पीछे आर्कटिक में पिघलती बर्फ

Melting snow in the Arctic behind excessive rain in September At present, the whole world is facing the problem of global warming. नई दिल्ली, 08 जुलाई 2021: इस समय संपूर्ण विश्व ग्लोबल वार्मिंग की समस्या से जूझ रहा है। ग्लोबल वार्मिग के कारण धरती के तापमान में लगातार वृद्धि देखने को मिल रही है जिसके कारण उत्तरी और दक्षिणी ध्रुव …

Read More »

श्रम उत्पादकता को 21 फीसदी घटा रहा है बढ़ता हुआ वेट बल्ब तापमान

Rising wet bulb temperature is reducing labor productivity by 21 percent नई दिल्ली, 07 जुलाई 2021. इन दिनों भारत के ज्यादातर इलाके भीषण तपिश से बेहाल हैं और खुले आसमान और चिलचिलाती धूप में काम करने वाले मेहनतकश मजदूरों का सबसे बुरा हाल है। क्योंकि बारिश की रिमझिम बूंदों और ठंडे मौसम की जगह वेट बल्‍ब टेंपरेचर के रूप में …

Read More »

जर्मनी के नए जलवायु लक्ष्य करेंगे 2030 तक कोयले का फेज़ आउट

लेखक : फिलिप लिटज़  & नगा नागो थुय Coal gone by 2029, Renewables 65% by 2030 संघीय सरकार ने प्रभावित राज्यों को आवश्यक वित्तीय संसाधन उपलब्ध करा कर एक न्यायपूर्ण परिवर्तन की नींव पहले ही रख दी है। अब, जब G7 देशों ने साफ़ कर दिया है कि वो कोयला की फाइनेंसिंग नहीं करेंगे, तब चीन ही एक आखिरी सहारे …

Read More »

भारत के पास नहीं है वायु को साफ करने के लिए कोई ठोस कार्य योजना : विशेषज्ञ

वायु प्रदूषण, air pollution, air pollution poster,air pollution in hindi,air pollution News in Hindi, वायु प्रदूषण पर निबंध,Diseases Caused by Air Pollution,newspaper articles on pollution in hindi, वायु प्रदूषण का चित्र,वायु प्रदूषण पर नवीनतम समाचार,वायु प्रदूषण के कारण, वायु प्रदूषण की समस्या और समाधान, Air Pollution से स्वास्थ्य पर पड़ने वाले प्रभाव,वायु प्रदूषण News in Hindi,

India does not have any concrete action plan to clean the air: Experts Noida is one of the ten most polluted cities of the world as per the 2019 World Air Quality Report by GA राष्ट्रीय स्तर की वायु गुणवत्ता मॉनिटरिंग और शहर के एक्शन प्लान साबित हुए हैं अप्रभावी, राज्यों के एक्शन प्लान नहीं किये गये हैं तैयार : …

Read More »

जलवायु परिवर्तन के कारण बदल रहा है भारत के मानसून का मिजाज़

The mood of India’s monsoon is changing due to climate change फ़िलहाल भारत में मानसून आ चुका है, लेकिन मानसून के मिजाज़ बदले बदले से हैं इस मौसम की घटना के। वैसे भी भारतीय मानसून एक जटिल परिघटना है और विशेषज्ञों की मानें तो जलवायु परिवर्तन और ग्लोबल वार्मिंग ने मानसून के बनने की परिस्थिति पर और तनाव डाल दिया …

Read More »

पिघलते ग्‍लेशियर और जलवायु परिवर्तन की मार, कर रही है तीसरे पोल पर वार

Glaciers

Melting glaciers and climate change हिमालय और काराकोरम पर्वत श्रंखलाओं में जलवायु परिवर्तन के फुटप्रिंट बिल्‍कुल खुलकर ज़ाहिर हो गये हैं। इस क्षेत्र को तीसरा पोल भी कहा जाता है और यहां ग्‍लेशियर पिघल रहे हैं, नुकसानदेह परिघटनाएं हो रही हैं, बर्फबारी की तर्ज में बदलाव हो रहे हैं। ये उन देशों के लिये बुरी खबर है जो पानी की …

Read More »

महासागरों की सुध लेने का समय | विश्व महासागर दिवस पर विशेष

World Ocean Day

World Oceans Day 2021: क्या है इसका महत्व और क्यों मनाते हैं विश्व महासागर दिवस, जानिए World ocean day in Hindi (08 June 2021) विश्व महासागर दिवस कब मनाया जाता नई दिल्ली, 08 जून (इंडिया साइंस वायर): अंतरिक्ष से देखने पर पृथ्वी नीले रंग की दिखती है, इसलिए पृथ्वी को ‘ब्लू प्लैनेट’ यानी नीला ग्रह भी कहा जाता है। इसके …

Read More »

तूफानों ने की मानसून की रफ्तार कम, जलवायु परिवर्तन का असर साफ़

super cyclone Amphan

Storms reduce the speed of the monsoon, the effect of climate change is clear Climate change is related to changing patterns of weather जलवायु परिवर्तन का मौसम की बदलती तर्ज से गहरा नाता है और यह ताकतवर चक्रवाती तूफानों तथा बारिश के परिवर्तित होते कालचक्र से साफ जाहिर भी होता है। हमने हाल ही में एक के बाद एक दो …

Read More »