Home » समाचार » तकनीक व विज्ञान » जलवायु विज्ञान (page 3)

जलवायु विज्ञान

कोविड ने दिया ऊर्जा रूपांतरण के जरिये हरित अर्थव्‍यवस्‍था बनाने का सुनहरा मौका : विशेषज्ञ

Environment and climate change

COVID gave a golden opportunity to build a green economy through energy conversion Green economy means sustainable employment with growth दुनिया भर में पिछले कई महीनों से कोविड-19 महामारी (COVID-19) ने पूरे विश्व को अस्थिर सा कर दिया है इससे दुनिया एक वैश्विक महामंदी के दौर की तरफ बढ़ रही है इसे रोकने के लिए अल्‍पकालिक और दीर्घकालिक दोनों ही …

Read More »

कृषि को मिलेगी ‘सौर-वृक्ष’ की नयी ऊर्जा

solar tree

Agriculture will get new energy of ‘solar tree’ नई दिल्ली, 02 सितंबर (इंडिया साइंस वायर): भारत की उत्तरोत्तर बढ़ती ऊर्जा आवश्यकता पारंपरिक ऊर्जा-स्रोतों (Conventional energy sources) के लिए एक कठिन चुनौती है। इस दिशा में प्रकृति सुलभ सौर-ऊर्जा एक बड़ी और प्रभावी भूमिका निभा सकती है। लेकिन, सौर-ऊर्जा बनाने वाले सोलर पैनल के लिए बड़ा स्थान चाहिए होता है। इसके …

Read More »

सूर्य ग्रहण : दुनिया जब आकाश में देखेगी ‘रिंग ऑफ फायर’!

solar eclipse

Special Story on Solar Eclipse | Solar Eclipse June 2020 नई दिल्ली, 20 जून (डॉ टी.वी. वेंकटेश्वरन / उमाशंकर मिश्र ): एक दुर्लभ खगोलीय घटना, वलयाकार सूर्य ग्रहण, (A rare astronomical event, the annular solar eclipse,) जिसे लोकप्रिय रूप से ‘रिंग ऑफ फायर‘ (Ring of fire) ग्रहण भी कहा जा रहा है, रविवार 21 जून 2020 को दुनिया इसका गवाह …

Read More »

17 जून को मरुस्थलीकरण और सूखे से लड़ने का दिवस

विश्व मरुस्थलीकरण रोकथाम दिवस | World Day to Combat Desertification and Drought | Global Observance: Desertification and Drought Day 2020 मरुस्थलीकरण और सूखा : दुनिया के समक्ष बड़ी चुनौती मरुस्थलीकरण जमीन के खराब होकर अनुपजाऊ हो जाने की ऐसी प्रक्रिया होती है, जिसमें जलवायु परिवर्तन (Climate change) तथा मानवीय गतिविधियों समेत अन्य कई कारणों से शुष्क, अर्द्ध-शुष्क और निर्जल अर्द्ध-नम …

Read More »

विश्व की चौथी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था, जर्मनी, ने मारी एक लंबी छलांग, 9 बिलियन यूरो की राष्ट्रीय हाइड्रोजन रणनीति की घोषणा

Environment and climate change

जहाँ पूरे विश्व की औद्योगिक अर्थव्यवस्थाएं ख़ुद को कार्बन मुक्त करने की होड़ में लगी हुई हैं, उसी बीच विश्व की चौथी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था, जर्मनी, (The world’s fourth largest economy, Germany,) ने एक लंबी छलांग मारते हुए, लगभग 9 बिलियन यूरो के नियोजित निवेश के साथ, अपनी राष्ट्रीय हाइड्रोजन रणनीति की घोषणा कर दी है। यह जानकारी देते हुए …

Read More »

जलने तो तैयार है 4.5 हजार वर्ग किलोमीटर से ज्यादा अमेज़न जंगल

Environment and climate change

More than 4.5 thousand km2 (sq km) of Amazon forest is ready to burn यदि सब कुछ धुएँ में फुंक जाए तो कोविड-19 महामारी के साथ दूर- दूर तक फैले होने की वजह से यह क्षेत्र पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी (Public health emergency) या सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल की स्थिति का सामना कर सकता है ब्राज़ील, 8 जून, 2020 – अमेज़न में …

Read More »

जीना है तो महासागरों को बचाना ही होगा

World Ocean Day

World Oceans Day is celebrated worldwide on June 8. जीवन में महासागरों के महत्व (Importance of oceans in life,) को समझते हुए पर हम पृथ्वीवासियों का ध्यान महासागरों के अस्तित्व को अक्षुण्ण बनाए रखने की ओर अवश्य ही जाना चाहिए। वर्तमान में मानवीय गतिविधियों का असर समुद्रों पर (The impact of human activities on the seas) भी दिखने लगा है। …

Read More »

जलवायु परिवर्तन से छोटे और युवा होते जंगल

Forests

प्रतिष्ठित जर्नल साइंस में प्रकाशित एक शोधपत्र के अनुसार जलवायु परिवर्तन (Climate change), तापमान वृद्धि ( temperature rise) और बड़े पैमाने पर पेड़ों की कटाई के कारण जंगल पहले की अपेक्षा अधिक युवा और आकार में छोटे होते जा रहे हैं. इसका सीधा असर जंगलों द्वारा कार्बन के भंडारण और वन्य जीवों पर पद रहा है. इस अध्ययन का आधार …

Read More »

हिमालय में जलवायु परिवर्तन के हो सकते हैं दूरगामी परिणाम

Forests

Climate change in Himalayas can have far-reaching consequences नई दिल्ली, 5 जून (उमाशंकर मिश्र ): उत्तरी और दक्षिणी ध्रुवों के बाद सबसे अधिक बर्फ का इलाका होने के कारण हिमालय को तीसरा ध्रुव भी कहा जाता है। हिमालय में जैव विविधता की भरमार है और यहाँ पर 10 हजार से अधिक पादप प्रजातियां पायी जाती हैं। इस क्षेत्र में जलवायु …

Read More »

जलवायु परिवर्तन के चलते ‘डस्‍ट बोल’ काल के मुकाबले दोगुनी गर्मी पड़ने की आशंका

Environment and climate change

1930 के दशक में “डस्‍ट बोल” काल (dust bowl 1930) के दौरान अमरीका के विशाल मैदानी इलाके में रिकॉर्डतोड़ गर्मी बेहद लम्‍बे वक्‍त तक चली हीट वेव्स के कारण हुई थी। In the US, there is a one-and-a-half-time chance of the heat of the dust bowl era in the 1930s How was America transformed from wheat bowl to dust bowl? …

Read More »