Home » हस्तक्षेप » स्तंभ (page 2)

स्तंभ

article, piece, item, story, report, account, write-up, feature, review, notice, editorial, etc. of our columnist

जनसंख्या की राजनीति के जरिए बहुसंख्य जनता को राजनीतिक प्रतिनिधित्व से वंचित रखा जा रहा है

population explosion

Majority of people are being denied political representation through population politics. हमारे दिवंगत मित्र प्रबीर गंगोपाध्याय ने बांग्ला में जनसंख्या की राजनीति (population politics) पर एक अद्भुत तथ्य आधारित, अखिल भारतीय ग्रास रूट लेवल सर्वेक्षण और जनसंख्या के आंकड़ों के साथ अद्भुत किताब लिखी थी। Politics of Demography इसी राजनीति के तहत भारत विभाजन करके सत्ता हस्तांतरण के बाद से …

Read More »

मोदी नीतियों का मूल लक्ष्य : समाज का अपराधीकरण और धार्मिक तत्ववाद का विकास

opinion debate

सड़क और बाजार में ही पैदा होते हैं भाषा और विचार हाय हिन्दू ! बाय हिन्दू! पीएम नरेन्द्र मोदी की प्रशंसा (Appreciation of PM Narendra Modi) न करने से भक्तगण नाराज हो जाते हैं, कहते हैं सड़क छाप लिखते हो! गोया ! सड़क सबसे फालतू चीज है! अब भक्तों को कौन समझाए भाषा और विचार सड़क और बाजार में ही …

Read More »

भाषा की राजनीति और साम्प्रदायिकता

jagdishwar chaturvedi

Language politics and communalism| hastakshep | हस्तक्षेप |  उनकी ख़बरें जो ख़बर नहीं बनते भाषा और विचार का क्या संबंध है? What is the relationship between language and thought? भाषा रहती है परिवेश में, मातृभाषा जैसी कोई कैटेगरी नहीं होती, भाषा आप किताब से नहीं सीखते। भाषा की जटिलता को समझें भाषा बनती है बाजार में। राजनीति के साथ भाषा …

Read More »

हिंदुत्व के नाम पर ध्रुवीकरण की राजनीति करने वाली भाजपा आदिवासियों को भी संदिग्ध नागरिक बता रही

famous human rights activist of Assam Pranab Doley

सिंधु सभ्यता के वारिस आदिवासी और दलित इस देश के नागरिक नहीं हैं तो नागरिक कौन हैं? असम में अभयारण्यों की किलेबंदी के खिलाफ आदिवासियों और वनवासियों के वनाधिकार की लड़ाई लड़ रहे असम के प्रसिद्ध मानवाधिकार कार्यकर्ता प्रणब डोले की नागरिकता (Citizenship of famous human rights activist of Assam Pranab Doley) संदिग्ध बताते हुए उनके पासपोर्ट के नवीकरण से …

Read More »

तार तार होती संसद की गरिमा और सवाल संसद की शान का

deshbandhu editorial

Degradation of the dignity of Parliament And the question of the pride of Parliament संसद का शीतकालीन सत्र (Parliament winter session live updates in Hindi) तय समय से पहले समाप्त हो गया। इस सत्र में कई विधेयक बिना चर्चा के पास करा लिए गए। संसद के शीतकालीन सत्र की महत्वपूर्ण उपलब्धि तीन कृषि कानूनों का निरस्तीकरण माना जा सकता है। …

Read More »

Jugnu Shardey Death : हमारी आत्मा पर थप्पड़ मारकर चले गए जुगनू शारदेय !

jugnu shardey death

देह छोड़ दिया जुगनू शारदेय ने. उससे पहले उस देह की जितनी दुर्गति करानी थी, कराई. लावारिस थे, चुनांचे पंचतत्व में विलीन नहीं किये गए. फूँक दिया किसी ने उस अनधियाचित शरीर को. पहचान भी लिये जाते कि ये पत्रकार जुगनू शारदेय हैं, तो कौन सा बिहार सरकार बंदूकों की सलामी और राजकीय सम्मान के साथ उनका दाह संस्कार करती? …

Read More »

इतिहास की प्रासंगिकता | हिंदी साहित्येतिहास की समस्याएं – पहला एपिसोड

relevance of history

Problems of Hindi Literary History – Episode 1 – Relevance of History इतिहास में कितने काल होते हैं? सामान्यीकरण क्या है इतिहास लेखन में सामान्यीकरण की भूमिका? इतिहास जानने के स्रोत कौन कौन से हैं? इतिहास की विषय वस्तु क्या है? Hindi Sahitya Ka Itihas और उसका विभाजन हिंदी साहित्य का संक्षिप्त इतिहास M.A. Hindi Literature हिंदी साहित्य का इतिहास …

Read More »

धर्मनिरपेक्षता, साम्प्रदायिकता से परे स्त्री की आज़ादी का सवाल

jagdishwar chaturvedi

Question of women’s freedom beyond secularism, communalism औरत की आज़ादी और सुरक्षा देश की सबसे बड़ी समस्या है। हम यह मान बैठे हैं कि संविधान में औरत को हक़ दे दिए गए हैं और क़ानून बना दिया गया तो औरत अब आज़ादी से घूम- फिर सकती है। औरत की मुक्ति की सबसे बड़ी चुनौती क्या है (What is the biggest …

Read More »

खास लोगों के लिए आपदा ही अवसर है खतरे से खाली नहीं इस निजाम में आम लोगों की आवाज उठाना

opinion debate

For special people, disaster is an opportunity. Raising voice of common people in this system not free from danger कोहरा क्यों जरूरी है? कुहासा का मौसम शुरू हो गया। यह चुनाव का मौसम भी है। गेंहू और लाही की फसल के लिए कोहरा जरूरी है। ज्यादा सर्दी भी। धान की फसल चौपट होने के बाद किसान इसी फसल के भरोसे …

Read More »

पंचायती राज में गांधी की प्रासंगिकता

Mahatma Gandhi महात्मा गांधी

सामाजिक चुनौतियां बनाम गांधी जीवन दर्शन | Relevance of Gandhi in Panchayati Raj वास्तव में आज कैसे गांधी की ज़रूरत है (How Gandhi is needed today)? अहिंसा की प्रासंगिकता क्या है? गांधी जी की कार्य पद्धति का रूप क्या था ? वैश्वीकरण के युग में गांधीवादी आर्थिक विचारों की प्रासंगिकता क्या है? गांधीजी के शिक्षा दर्शन की प्रासंगिकता वर्तमान परिप्रेक्ष्य …

Read More »

मुसलमानों को यहां से देखो

jagdishwar chaturvedi

भारत की सांस्कृतिक परंपराओं में मुसलमान लेखकों के योगदान के बारे में जानिए (Know about the contribution of Muslim writers to the cultural traditions of India) मुसलमानों के खिलाफ हिंदुत्ववादियों के द्वारा जिस तरह का घृणा अभियान चलाया जा रहा है उसकी जितनी निंदा की जाय, कम है, वे मुसलमानों को सामाजिक जहर के रुप में प्रचारित-प्रसारित कर रहे हैं। …

Read More »

हमारे नेता-नौकरशाह सरकारी बसों से क्यों नहीं चलते?

pushpranjan

दिल्ली दुनिया की सबसे घनी आबादी वाला तीसरा शहर है। डीटीसी की सेवाएं (Services of DTC) आज भी दिल्ली मैट्रो जैसी व्यवस्थित क्यों नहीं हो पाई हैं? अरविंद केजरीवाल की घोषणाएं (Arvind Kejriwal’s announcements) हवा हवाई साबित हुई हैं। क्या जनसुविधाएं सही चल रही हैं, सरकार के स्तर पर किसी ने कभी चेक भी किया है? सड़क परिवहन सुविधाओं की …

Read More »

जब पं. नेहरू के मंच से कांग्रेस के खिलाफ भाषण देकर एनडी तिवारी बन गए थे विधायक

jawahar lal nehru

कैसे चुनाव प्रचार के दौरान मतदाताओं से मिले बिना, उनसे संवाद किये बिना लोग चुनाव जीत जाते हैं? कैसे बड़ी-बड़ी रैली, रोड शो, विज्ञापन और आईटी सेल के जरिये चुनाव प्रचार में मतदाताओं से सम्पर्क किये बिना चुनाव नतीजे तय होते हैं? कैसे होती है कारपोरेट फंडिंग और विदेशी फंडिंग, पार्टियों और उम्मीदवार के करोड़ों के खर्च का क्या हिसाब …

Read More »

किसान आंदोलन : सुनहरे अक्षरों में दर्ज होगी किसानों की जीत

deshbandhu editorial

स्थगित हुआ किसान आंदोलन तीन कृषि कानूनों के विरुद्ध एक वर्ष से भी अधिक समय तक चल रहे किसान आंदोलन को स्थगित कर दिया गया है (Farmer’s movement suspended)। केंद्र में काबिज भाजपा सरकार ने किसानों को लिखित में कई आश्वासन दिए हैं। इसे किसानों और लोकतंत्र की बड़ी जीत (Big victory for farmers and democracy) के रूप में जा …

Read More »

जानिए यूपी चुनाव में धर्मनिरपेक्षता की रक्षा करना क्यों जरूरी है?

opinion debate

Know why it is necessary to protect secularism in UP elections? यूपी में धर्मनिरपेक्षता की रक्षा करना प्रथम चुनौती Protecting secularism in UP is the first challenge भारत में धर्मनिरपेक्षता की पुख्ता जड़ें हैं उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में सबसे बड़ी चुनौती है उन दलों को परखा जाए जो धर्मनिरपेक्षता की कसौटी पर खरे उतरे हैं। प्रोफेसर जगदीश्वर चतुर्वेदी …

Read More »

उप्र में भाजपा की हंफनी छूट रही है, पर ओवैसी भाईजान हैं न

two way communal play in uttar pradesh

उप्र : दुतरफा सांप्रदायिक खेला उत्तर प्रदेश में भाजपा की हंफनी छूट रही लगती है। चुनाव अभी कम से दो महीने दूर है। फिर भी भाजपा ने न सिर्फ अपनी सांप्रदायिक दुहाई का ज्यादा से ज्यादा सहारा लेना शुरू कर दिया है बल्कि सांप्रदायिक दुहाई के अपने भड़काऊ से भड़काऊ नारों का सहारा लेना शुरू कर दिया है। ऐसी ही …

Read More »

News of the week : गुमराह करती गुमराह सरकार | सप्ताह की बड़ी खबर

news of the week

News of the week : गुमराह करती सरकार ! कृषि कानून | किसान आंदोलन | सप्ताह की बड़ी खबर कृषि कानूनों पर सरकार का जबर्दस्त यू टर्न (Government’s tremendous U turn on agricultural laws) ये मान लिया था कि किसान आंदोलन समाप्त हो जाएगा. सरकार ने एमएसपी पर कोई गारंटी नहीं दी. अजय मिश्र टेनी अभी भी मोदी सरकार का …

Read More »

हंसी सबसे अच्छी दवा है : मुनव्वर फारूकी

Dr. Ram Puniyani - राम पुनियानी

स्टेंडअप कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी (Standup Comedian Munawwar Farooqui) बेंगलुरू में एक परोपकारी संस्था के लिए अपना शो करने वाले थे. पूरे टिकट बिक चुके थे. फिर आयोजकों को यह सूचना दी गई कि उन्हें कार्यक्रम रद्द करना होगा. और कार्यक्रम रद्द हुआ. पुलिस ने इसका कारण यह बताया कि फारूकी एक विवादास्पद व्यक्ति हैं और उनके शो से कानून-व्यवस्था की …

Read More »

प्रारंभिक शिक्षा की चुनौतियां

opinion debate

Challenges of early education in Hindi सभी असंतुष्ट हैं स्कूली शिक्षा से (all are dissatisfied with school education). अंग्रेजी मीडियम में पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावकों का कष्ट क्या है? सरकारी स्कूलों में शिक्षक पाठ्यक्रम के साथ न्याय कैसे कर पायेगा? प्रारंभिक शिक्षा की प्रमुख आवश्यकता क्या है? प्रारंभिक बाल्यावस्था शिक्षा की चुनौतियां क्या है? इन विषयों पर चर्चा करते …

Read More »

डाटालेस नादान सरकार

pm narendra modi

कानून वापसी हो गई पर नहीं हुई किसानों की घर वापसी देशबन्धु में संपादकीय आज | Editorial in Deshbandhu today तीन कृषि कानूनों की वापसी का विधेयक (Bill to withdraw three agricultural laws) संसद में पारित करवा कर केंद्र सरकार ने यह मान लिया था कि अब एक साल से आंदोलनरत किसान अपने घरों को लौट जाएंगे। लेकिन कानून वापसी …

Read More »

फिदेल कास्त्रो की माँ, धर्म और गरीबी

fidel castro

Fidel Castro’s Mother, Religion and Poverty फिदेल कास्त्रो से जुड़ी दिलचस्प बातें (Interesting facts about Fidel Castro in Hindi) धर्मसंबंधी निजी सवालों के उत्तर (Answers to Personal Questions About Religion) देते समय फिदेल कास्त्रो के अंदर कोई विभ्रम नजर नहीं आते फिदेल कास्त्रो को स्पष्टवादिता का संस्कार क्रांति से मिला। क्रांतिकारी होने के नाते वे हर बात को स्पष्ट ढंग …

Read More »