Home » हस्तक्षेप » स्तंभ (page 2)

स्तंभ

बजट 2020 : जलवायु परिवर्तन और प्रदूषण को लेकर चिंताएं बढ़ी ही हैं

Budget 2020

Budget 2020: Concerns about climate change and pollution have increased हर साल की तरह केंद्र सरकार ने वर्ष 2020-21 का आम बजट (General Budget for the year 2020-21) संसद में पेश कर दिया है। लेकिन जलवायु परिवर्तन और प्रदूषण (Climate change and pollution) जैसी दो बड़ी समस्याओं पर यह बजट खामोश है, बल्कि सही कहा जाए तो बजट से जलवायु …

Read More »

2019 के शिखर से मोदी का ढलान शुरू हुआ दिल्ली ने उसमें एक जोरदार धक्का दिया है

Amit Shah Narendtra Modi

दिल्ली में आप की जीत क्रांतिकारी महत्व की है AAP’s victory in Delhi is of revolutionary importance 2019 के शिखर से मोदी के ढलान का रास्ता जो शुरू हुआ है, दिल्ली ने उसमें एक जोरदार धक्के का काम किया है। मोदी का दूत अमित शाह रावण के मेघनादों और कुंभकर्णों की तरह रणभूमि में आकर खूब गरजे-बरसे, पर ज्यादा देर …

Read More »

आपको सिर्फ मुसलमान दिख रहा है जबकि किसान, मजदूर, दलित, पिछड़े और आदिवासी मुसलमानों से पहले मारे जाएंगे !

Shaheen Bagh

अगले पांच साल में बुनियादी ढांचे के विकास (Infrastructure development) के लिए 103 लाख करोड़ रुपये खर्च करने की सरकार की योजना है। रोज़गार और नौकरियां बढ़ाने के लिए निवेश और विनिवेश का रास्ता चुना गया है, खेती और उत्पादन का नहीं। इस बहाने पीपीपी मॉडल (Ppp model) के विकास और रोज़गार सृजन (Employment generation) की आड़ में कारपोरेट टैक्स …

Read More »

जुबान से डंडा मारे और गोली! : ‘राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव’ के नाम पर कॉमेडी सर्कस

PM Narendra Modi at 100 years of ASSOCHAM meet

Comedy Circus in the name of ‘Motion of Thanks on President’s Address’ किसी ऊर्जावर्द्धक औषधि बेचने वाली कंपनी (Company that sells energetic medicine) के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भाषण देती तस्वीरें (Speech pictures of Prime Minister Narendra Modi) बड़े काम की हो सकती हैं। बिना थके गुरूवार को प्रधानमंत्री मोदी दोनों सदनों में बारी-बारी से बोले।  69 साल के …

Read More »

दिल्ली चुनाव : भाजपा यह चुनाव जीते या न जीते, उसने साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण को राष्ट्रीय जीवन के केंद्र में स्थापित कर दिया है

Amit Shah Narendtra Modi

दिल्ली चुनाव : साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण की परतें दिल्ली में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान का दिन (Voting day for assembly elections in Delhi) (8 फ़रवरी 2020) आ गया है. भाजपा ने  अपने चुनाव अभियान में साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण और कांग्रेस को कोसने की रणनीति बदस्तूर जारी रखी है. हालांकि पब्लिक डोमेन में और भाजपा-विरोधी बुद्धिजीवियों की ओर से साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण की …

Read More »

बजट 2020 : सत्ता के टुकड़ों पर पलने वाले लोग दलितों, पिछड़ों और आदिवासियों से कितनी नफरत करते हैं

पलाश विश्वास जन्म 18 मई 1958 एम ए अंग्रेजी साहित्य, डीएसबी कालेज नैनीताल, कुमाऊं विश्वविद्यालय दैनिक आवाज, प्रभात खबर, अमर उजाला, जागरण के बाद जनसत्ता में 1991 से 2016 तक सम्पादकीय में सेवारत रहने के उपरांत रिटायर होकर उत्तराखण्ड के उधमसिंह नगर में अपने गांव में बस गए और फिलहाल मासिक साहित्यिक पत्रिका प्रेरणा अंशु के कार्यकारी संपादक। उपन्यास अमेरिका से सावधान कहानी संग्रह- अंडे सेंते लोग, ईश्वर की गलती। सम्पादन- अनसुनी आवाज - मास्टर प्रताप सिंह चाहे तो परिचय में यह भी जोड़ सकते हैं- फीचर फिल्मों वसीयत और इमेजिनरी लाइन के लिए संवाद लेखन मणिपुर डायरी और लालगढ़ डायरी हिन्दी के अलावा अंग्रेजी औऱ बंगला में भी नियमित लेखन अंग्रेजी में विश्वभर के अखबारों में लेख प्रकाशित। 2003 से तीनों भाषाओं में ब्लॉग

वित्त मंत्री और सरकार के आंकड़ों और जुमलों की बाजीगरी छोड़ दें। मीडिया के चीखने वाले हवा हवाई जड़ जमीन से कटे पत्रकारों को भी छोड़ें। नॉन ऑर्गेनिक जनविरोधी बुद्धिजीवी और खासकर अर्थशास्त्री अपनी विशेषज्ञता और भाषाई दक्षता से आम जनता और देश को गुमराह करने में किसी से पीछे नहीं हैं। सत्ता के टुकड़ों पर पलने वाले लोग दलितों, …

Read More »

शाहीन बाग की औरतों ने बाग के मायने बदलकर बगावत कर दिया

Shaheen Bagh

नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 और शाहीन बाग : एक नया नवजागरण Citizenship Amendment Act 2019 and Shaheen Bagh: A new renaissance शहंशाह को बागों से बहुत शिकायत है उसने अपनी डायरी में लिख लिया बाग के माने बगावत है — सोनी पांडेय आज (26 जनवरी, 2020) जब राजधानी के राजपथ पर सैन्य बल के  प्रदर्शन से देश के 70वें गणतंत्र …

Read More »

गोली मारो सालों को : हिंसा और घृणा का निर्माण … डॉ. राम पुनियानी का आलेख

Nirmala Sitharaman and Anurag Thakur

नोम चोमस्की (Noam Chomsky), दुनिया में शांति की स्थापना के लिए काम करने वाले शीर्ष व्यक्तित्वों में से एक हैं. कई साल पहले, वियतनाम पर अमरीका के हमले के समय उन्होंने ‘सहमति के निर्माण’ का अपना अनूठा सिद्धांत प्रतिपादित किया था. नोएम चोमस्की का कहना था कि अपनी नीतियों और निर्णयों को वैधता प्रदान करने के लिए राज्य जनमत को …

Read More »

सबरीमाला मामले पर सुप्रीम कोर्ट के नौ जजों की पीठ !

The Supreme Court of India. (File Photo: IANS)

Matter of justifiable right of women to enter Sabarimala temple रंजन गोगई ने जाते-जाते सबरीमाला मंदिर में औरतों के प्रवेश के न्यायपूर्ण अधिकार के मामले को झूठ-मूठ का कुछ इस प्रकार उलझा कर छोड़ दिया कि अब सुप्रीम कोर्ट की नौ जजों की पीठ इस विषय की चीर-फाड़ के लिये लगा दी गई है । वह पूरे विषय को कुछ …

Read More »

नये गोडसे की करतूत : गांधी हैं नहीं और सरदार की कुर्सी पर गोडसाओं के हिमायती बैठे हैं

RamBhakt Gopal.jpg

नये गोडसे और नये गांधी New godse and new gandhi इसे अगर संयोग भी मानें तब भी बहुत इसे बहुत अर्थपूर्ण संयोग कहना होगा। महात्मा गांधी की शहादत (Martyrdom of mahatma gandhi) की 72वीं बरसी पर, खुद को ‘रामभक्त’ गोपाल बताने वाले एक नौजवान ने, 2020 की 30 जनवरी को, 1948 की 30 जनवरी की नाथूराम गोडसे की करतूत दोहराई। …

Read More »