शब्द

चंद इजारेदारों के कदमों में, नहीं देख सकते हम बंधक, अपने देश की संसद और सरकार

तीन काले कानूनों के विरुद्ध दिल्ली में आंदोलनरत किसानों को समर्पित पूर्व आईएएस अफसर व… Read More

मिर्ज़ा ग़ालिब का सम्पूर्ण जीवन ही दु:खों से भरा हुआ था

मिर्ज़ा ग़ालिब की जीवनी हिंदी में,Biography of mirza ghalib in hindi, Read More

मर जवान मर किसान/ फिर भी मेरी सरकार महान

ये जाड़े की ठिठुरते हुए दिन रात, साहेब के जुल्म की एक नई नजीर ,एक… Read More

मथुरा में एक थे सव्यसाची जो एक व्यक्ति नहीं संस्था थे

सव्यसाची को करीब से जानने वाले लोग उनके विराट व्यक्तित्व को न तो एक भाषण… Read More

एय बे उसूल ज़िंदगी/ फ़ाश कहाँ हुए तुझपे/अब तलक जन्नतों के राज़ …

एय बे उसूल ज़िंदगी फ़ाश कहाँ हुए तुझपे अब तलक जन्नतों के राज़ ... सय्यारों… Read More

लापता पैर : विमर्शों, कल्पनाओं और यथार्थ के मिश्रण से उपजी कहानियाँ

लेखक ने अधिकांश कहानियों का निर्माण अपनी कल्पना शक्ति से किया है, जिसके लिए उन्हें… Read More

प्रश्न पानी से नहीं धुलते : नए विमर्श पैदा करती कहानियां

वर्तमान में कहानी कला में कई परिवर्तन भी देखने को मिले हैं। खास करके भाषा… Read More

लोकतंत्र के बिंदास लेखक नागार्जुन

बाबा नागार्जुन को मंदी और नव्य-उदारीकरण के संदर्भ में पढ़ना निश्चित रूप से बड़ी उपलब्धि… Read More

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations