Home » हस्तक्षेप » आपकी नज़र

आपकी नज़र

Guest writers views devoted to commentary, feature articles, etc.. अतिथि लेखक की टिप्पणी, फीचर लेख आदि

पंडित नेहरू और शेख अब्दुल्ला के कारण ही कश्मीर बन सका भारत का हिस्सा

Pt. Jawahar Lal Nehru

Kashmir became a part of India only because of Pandit Nehru and Sheikh Abdullah भारतीय जनता पार्टी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ समेत कई व्यक्ति व संगठन जवाहरलाल नेहरू को कश्मीर समस्या के लिए जिम्मेदार मानते हैं। परंतु इसके विपरीत पूरे विश्वास से यह दावा किया जा सकता है कि यदि जवाहरलाल नेहरू और शेख अब्दुल्ला नहीं होते तो जम्मू-कश्मीर भारत …

Read More »

भारतीय इतिहास में मील का पत्थर साबित होगा बीडीएम का हस्ताक्षर अभियान !

एच.एल. दुसाध (लेखक बहुजन डाइवर्सिटी मिशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं.)  

Signature campaign of BDM will prove to be a milestone in Indian history! डॉ. जन्मेजय बहुजन डाइवर्सिटी मिशन (Bahujan Diversity Mission –बीडीएम) द्वारा शुरू होने वाला हस्ताक्षर अभियान भारतीय इतिहास में एक मील का पत्थर साबित होगा। क्योंकि इससे पूर्व भारत ही नहीं, संभवतः पूरे विश्व में इतने वृहद मकसद को लेकर शायद ही कोई हस्ताक्षर अभियान चला होगा. टेक्नॉलोजी …

Read More »

मोदी सरकार की हाथ की सफाई और महामारी को छूमंतर करने का खेल

narendra modi violin

पुरानी कहावत है कि जो इतिहास से यानी अनुभव से नहीं सीखते हैं, इतिहास को दोहराने के लिए अभिषप्त होते हैं।  नरेंद्र मोदी का सत्ता पर ज्यादा से ज्यादा प्रत्यक्ष नियंत्रण हासिल करने का मोह क्या कोविड-19 की महामारी के मामले में भी, दूसरी लहर के विनाशकारी इतिहास का आगे भी दोहराया जाना ही भारतवासियों की नसीब में नहीं लिख …

Read More »

कोविड-19 : नागरिकों की ठोड़ी पर झूलते मास्क और हवा में लटकी सरकार

COVID-19 news & analysis

कुछ ऐसी ही है कोरोना की दूसरी लहर से जीतने की अजब-गजब कहानी कोरोना महामारी की पहली लहर (first wave of corona pandemic) में भारतीय हवा में लाठियां भांज रहे थे और दूसरी लहर में ‘अश्वत्थामा’ की मिथकीय कहानी की तरह खुद को अजर-अमर मानकर निश्चिंत पड़े रहे। संक्रमित होने के डर संग अपनों की मौत का पल-पल डर, प्लाज्मा …

Read More »

मंदिरों में दलित पुजारी : ब्राह्मणशाही के खात्मे की दिशा में एक युगांतरकारी फैसला!

MK Stalin and senior members of the DMK visited Sonia Gandhi in Delhi

Dalit Priests in Temples: An epoch-making decision towards the end of Brahmanshahi! धर्म प्रधान देश भारत में धार्मिक सेक्टर से जुड़ी घटनाएँ प्रायः ही लोगों को उद्वेलित करती हैं. विगत सप्ताह से इस क्षेत्र से जुड़ी दो घटनायें चर्चा का खास विषय बनी हुई हैं. इनमें पहली घटना उस राम मंदिर निर्माण से जुड़ी है, जिसके पक्ष में जन-भावना जगाने …

Read More »

अजब गजब मध्यप्रदेश : जिंदगी में कभी शुमार नहीं हुए, अब मौत में भी गिनती में नहीं

covid 19

संसदीय लोकतंत्र या सूचित, लोकतांत्रिक, सभ्य समाज के हर नियम, हर परम्परा को तोड़ना भाजपा का सबसे प्राथमिक मिशन भाजपा और उसकी सरकारों का सचमुच में कोई सानी नहीं है। आप एकदम अति पर जाकर इनके द्वारा किये जाने वाले खराब से खराब काम की कल्पना कीजिये वे अगले ही पल उससे भी ज्यादा बुरा कुछ करते हुए नजर आएंगे। …

Read More »

अंबेडकर से लेकर लोहिया : क्यों मार्क्सवादी दृष्टिकोण के विरोधी हो गए ?

ambedkar and lohia on social justice in hindi

अंबेडकर से लेकर लोहिया तक जाति और वर्ग की प्रतीकात्मक धारणाओं के पीछे के ऐतिहासिक कारणों को आत्मसात् करने में विफल रहने के कारण मार्क्सवादी दृष्टिकोण के विरोधी हो गए वर्ग और जाति —अरुण माहेश्वरी वीरेन्द्र यादव की फेसबुक वॉल पर जाति और वर्ग के बारे में डॉ. लोहिया के विचार के एक उद्धरण* के संदर्भ में : जाति हो …

Read More »

मनरेगा में जाति और मनुवादी एडवाइजरी

mgnrega

Caste and Manuwadi advisory in MGNREGA  इस वर्ष के अप्रैल माह में छत्तीसगढ़ सहित पूरे देश में मनरेगा में काम करने वाले दलित व आदिवासी समुदाय से जुड़े मजदूरों के लिए भुगतान का संकट खड़ा हो गया, जबकि बाकी मजदूरों को भुगतान पहले की तरह ही हो रहा था। पूरे देश में हल्ला मचने के बाद यह पता चला कि …

Read More »

भाजपा के पक्ष में ही जा रहा है राम मंदिर निर्माण में भ्रष्टाचार का मुद्दा भी

BJP Logo

The issue of corruption in the construction of the Ram temple is also going in favour of the BJP. विपक्ष को ही नहीं हर सेकुलर व्यक्ति को यह समझ लेना चाहिए कि जब हम भाजपा समर्थकों को अंधभक्ति की संज्ञा देते हैं तो किसी भी तरह के आरोप का उन पर कोई असर नहीं पड़ने वाला है। आज की तारीख …

Read More »

बीडीएम का हस्ताक्षर अभियान : बहुजन-मुक्ति की अभिनव एक परिकल्पना

एच.एल. दुसाध (लेखक बहुजन डाइवर्सिटी मिशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं.)  

Signature Campaign of Bahujan Diversity Mission: An Innovative Vision of Bahujan Liberation कोई आयोजन, कोई घटना, कोई आह्वान महज कुछ घंटों या दिनों तक ही अपना प्रभाव छोड़कर शेष नहीं हो जाता। कुछ आयोजन तो जन मानस और विशेषकर बुद्धिजीवियों को इस कदर उद्वेलित कर देते हैं कि वे गंभीर विमर्श का मुद्दा तक बन जाते हैं। 15 मार्च, 2021 …

Read More »

राममंदिर चंदा घोटाला : भ्रष्टाचार के साथ कैसा धर्म ?

Today's Deshbandhu editorial

Ram Mandir Chanda Scam: What religion with corruption? (देशबन्धु में संपादकीय आज | Editorial in Deshbandhu today) भारतीय राजनीति में अयोध्या विवाद (Ayodhya dispute in Indian politics) भाजपा के लिए वो सीढ़ी बना, जिस पर चढ़कर पार्टी सत्ता तक पहुंच पाई। दो लोकसभा सीटों से 300 सीटों का सफर रथयात्रा, हिंदू-मुस्लिम, मंदिर वहीं बनाएंगे, जैसे जाप करते हुए तय किया गया और …

Read More »

कोरोना की दूसरी लहर और देश का हेल्थकेयर इंफ्रास्ट्रक्चर

covid 19

Second Wave of Corona and Healthcare Infrastructure: Vijay Shankar Singh कोरोना की दूसरी लहर (second wave of corona) के दौरान, जिस अभूतपूर्व त्रासदी के दौर को हम सबने भोगा है और अब भी भोग रहे हैं, वह बेहद तकलीफदेह है। कुछ लोगों के अनुसार, वह सौ साल पहले आये प्लेग की तरह भयावह संक्रमण के दौर की पुनरावृत्ति थी। पर …

Read More »

तेल के दामों की बहार देखो, अडानी के मुनाफे की धार देखो, शिवराज का गेहूं व्यापार देखो

Gautam Adani (गौतम अदाणी) Chairman of Adani Group

Rapidly rising prices of mustard oil and the same proportion of other edible oils across the country पूरे देश में सरसों के तेल और उसी अनुपात में बाकी खाद्य तेलों की बेतहाशा तेजी से बढ़ती कीमतों की वजह से पूरा देश स्तब्ध और परेशान है। लम्बी चुप्पी के बाद केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने मुंह खोला तो लगा …

Read More »

किसान आंदोलन के छह माह : चुभती है इन सवालों पर किसान मोर्चे की आपराधिक चुप्पी

Ghazipur border: farmers will plant flowers near police forts.

किसान आंदोलन के नेताओं को खुला पत्र Open letter to the leaders of the farmers’ movement मेरे प्रिय किसान नेताओं, आप सभी पिछले आठ महीनों से पंजाब में व छह महीनों से ज्यादा दिल्ली की सरहदों पर ऐतिहासिक किसान आंदोलन फासीवादी सत्ता के खिलाफ मजबूती से चलाये हुए हैं। इसके लिए आप सभी को क्रांतिकारी सलाम करता हूँ। इन छह …

Read More »

मोदी काल का बंगाल की पराजय के साथ ही अंत हो चुका है

mamata modi

Arun Maheshwari on Fate of Modi after Bengal Election सच कहा जाए तो बंगाल के चुनाव के साथ ही भारत की राजनीति का पट-परिवर्तन हो चुका है। दार्शनिकों की भाषा में जिसे संक्रमण का बिंदु, event कहते हैं, जो किसी आकस्मिक अघटन की तरह प्रकट हो कर अचानक ही प्रकृति के एक नए नियम की तरह खुलने लगता है, बंगाल …

Read More »

तो आरएसएस के प्रचारक अब दलाली भी करने लगे !

RSS Half Pants

So the RSS pracharaks now started doing brokerage too! संघ मतलब राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का दावा है कि वह व्यक्ति निर्माण का कारख़ाना है. वह राष्ट्र सेवा के लिए व्यक्तियों के चरित्र निर्माण का काम करता है, इस काम में उसके करोड़ों स्वयंसेवक, पदाधिकारी और प्रचारक तथा विस्तारक लगे हुये हैं. कईं लोग यक़ीन भी करते हैं कि वास्तव में …

Read More »

अंधविश्वास के विरुद्ध सतत बहुआयामी अभियान आवश्यक

एल. एस. हरदेनिया। लेखक वरिष्ठ पत्रकार हैं।

Continuous multidimensional campaign against superstition necessary मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले के एक गांव में एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी को सिर्फ इसलिए कुएं में फेंक दिया क्योंकि उसने लगातार तीन बेटियों को जन्म दिया और पुत्र प्राप्ति की उसकी इच्छा की पूर्ति नहीं की। उसने पत्नी के साथ अपनी दो बेटियों को भी कुएं में फेंक दिया। एक बच्ची इसलिए …

Read More »

नागरिकता संशोधन अधिनियम लागू करने की जल्दी में क्यों सरकार

Dr. Ram Puniyani

ARTICLE BY DR RAM PUNIYANI इन दिनों (जून 2021) देश कोरोना महामारी के दुष्प्रभावों से जूझ रहा है. इस बीमारी से बड़ी संख्या में मौतें हुईं हैं और अस्पतालों में दवाओं से लेकर ऑक्सीजन और बिस्तरों से लेकर डॉक्टरों तक की गंभीर कमी सामने आई है. इस संकटकाल में, केंद्रीय गृह मंत्रालय ने नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) लागू करने की …

Read More »

पवार से मिले प्रशांत किशोर, तो जस्टिस काटजू क्यों बोले सांप बिच्छू गोजर की सरकार

Justice Markandey Katju

सांप बिच्छू गोजर की सरकार इस वीडियो में कहा गया है कि प्रशांत किशोर ने शरद पवार से कहा कि यदि भारत के क्षेत्रीय दल एकजुट हो जाएँ तो 2024 के संसदीय चुनाव में यह संयुक्त मोर्चा 300 सीट अवश्य पायेगा और बीजेपी की पराजय होगीI यदि एक मिनट के लिए मान भी लिया जाय कि भविष्य में विपक्षी दलों …

Read More »

बिल्ली के भाग से छींका टूटने की रणनीति से तो फतह नहीं किया जा सकता उत्तर प्रदेश!

Akhilesh Yadav Yogi Aditynath

अगले साल उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए बिसात बिछनी शुरू हो गई है। भले ही चुनाव की घोषणा होने में अभी बहुत समय है पर राजनीतिक दलों ने चुनाव के लिए पूरी तरह से कमर कस ली है। वह बात दूसरी है कि विपक्ष से ज्यादा सत्तापक्ष ज्यादा सक्रिय नजर आ रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ …

Read More »

टीकाकरण पर पंजीकरण अब तो बंद करो सरकार

covid 19

विपक्ष के अघोषित मुखिया की ओर से एक ट्वीट आया है, जीवन जीने का अधिकार सभी का है, यह बात टीकाकरण के इंटरनेट पर अनिवार्य पंजीकरण को लेकर आई है। बात सही भी है और बहुत पहले सोची जानी थी। हमारे देश का डिजिटल ज्ञान कितना है यह हमें पिछले कुछ सालों की उन महत्वपूर्ण घटनाओं से पता चलता है …

Read More »