आपकी नज़र

Guest writers views devoted to commentary, feature articles, etc..
अतिथि लेखक की टिप्पणी, फीचर लेख आदि

मुस्लिम विरोधी आक्रामकता के प्रदर्शन की भाजपा-शासित राज्यों में शर्मनाक होड़

भाजपा-शासित राज्यों में एक शर्मनाक होड़ लगी हुई है। यह होड़ है मुस्लिम विरोधी आक्रामकता… Read More

तो मितरों के लाभ के लिए बिना उचित विचार विमर्श के ही यह कृषि कानून बना दिए गए ?

छन-छनकर नई सूचनाएं आ रही हैं, उनसे यह स्पष्ट होता जा रहा है कि तीनों… Read More

रोहित वेमुलाओं को बचाने के लिए एजुकेशन डाइवर्सिटी!

शिक्षा जगत में दैविक अधिकारी वर्ग के भयावह वर्चस्व के प्रति सरकारों के उदासीन रवैया… Read More

सुधार कृषि के नाम पर और लाभ अडानी ग्रुप को !

डॉ सुब्रमण्यम स्वामी ठीक ही तो कह रहे हैं अडानी ग्रुप बैंकों का लोन, जो… Read More

लव जिहाद, धर्म परिवर्तन और धार्मिक स्वातंत्र्य पर हमला

लव जिहाद, धर्म परिवर्तन : आखिर अंतर्धार्मिक विवाहों का इतना विरोध क्यों होता है? क्या… Read More

डिजिटल इंडिया से “गोडसे ज्ञानशाला” क्या यही न्यू इंडिया है?

अब इनसे कौन पूछेगा कि गोडसे ज्ञानशाला में कौन सा ज्ञान दिया जाएगा? ये हिंदुत्ववादी… Read More

उर्दू की पहली पत्रिका चूड़ियों के शहर फिरोजाबाद से निकली

फिरोजाबाद को चूड़ियों का शहर कहते हैं लेकिन इस शहर में साहित्य की खनक हमेशा… Read More

जब बहुत से कांग्रेसी खुलकर या दबे-छिपे भाजपा के मददगार बन गए थे

नाजुक समय में वी सी शुक्ल ने अप्रत्याशित रूप से भाजपा का दामन थाम लिया।… Read More

इन कृषि कानूनों पर क्या कैबिनेट में भी पर्याप्त विचार विमर्श हुआ था ?

सरकार अब भी इस गिरोहबंद पूंजीवाद को बढ़ावा देने वाली, इस तथाकथित कृषि सुधार से… Read More

विवेकानंद की देशभक्ति और गोडसे ज्ञानशाला

ग्वालियर में हिंदू महासभा ने गोडसे ज्ञानशाला खोली : 12 जनवरी को स्वामी विवेकानंद की… Read More

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations