Home » हस्तक्षेप » आपकी नज़र

आपकी नज़र

यह राष्ट्र के विवेक की हत्या है जो कोरोना से हजार गुना खतरनाक है

advertisement on Independence Day of BJP MLA Thukral from Rudrapur

Advertisement on Independence Day of BJP MLA Thukral from Rudrapur | रुद्रपुर से भाजपा विधायक ठुकराल का स्वतंत्रता दिवस पर विज्ञापन, शर्मनाक। विधायक ठुकराल का यह विज्ञापन स्वतंत्रता संग्राम के इतिहास (History of freedom struggle) को विकृत करने का जघन्य प्रयास है, जिसमें गांधी नेहरू को छोड़कर समूची क्रान्तिकारी विरासत को श्यामा प्रसाद मुखर्जी और अटल बिहारी वाजपेयी के साथ …

Read More »

लालकिला और मोदी की भाषण शैली : हमेशा अहंकार और प्रतिस्पर्धा के लोकतंत्र विरोधी भाव में ही क्यों बोलते हैं मोदी!

Narendra Modi Addressing the nation from the Red Fort

Red Fort and Modi’s style of speech: Why does Modi always speak in the anti-democratic sense of ego and competition! Narendra Modi Addressing the nation from the Red Fort लालक़िले की प्राचीर से आज मोदीजी का भाषण (Modi ji’s speech from the ramparts of the Red Fort,) सुनकर यही लगा चलो देश निश्चिंत हुआ देश में मोदी शासन में बहुत …

Read More »

रानी बोली अभी तो अंधेरे की शुरुआत हुई/ मंत्री बोले महाराज अभूतपूर्व यह बात हुई

Sarah Malik poem on King

रानी बोली अभी तो अंधेरे की शुरुआत हुई/ मंत्री बोले महाराज अभूतपूर्व यह बात हुई सुबह सवेरे सूरज निकला चिड़िया बोली, और दिन निकला राजा ने आंखें मलीं, और मुंह खोला, सोने का समय हुआ, दिन बीता रात हुई रानी बोली अभी तो  अंधेरे की शुरुआत हुई, मंत्री बोले महाराज अभूतपूर्व यह बात हुई।   नगाड़ा बजा रात का ऐलान …

Read More »

कोविड-19 : एक भय की महामारी का आविष्कार

Novel Coronavirus SARS-CoV-2 Credit NIAID NIH

The Invention of an Epidemic इतालवी दार्शनिक जार्जो आगम्बेन (Giorgio Agamben) कोविड (COVID-19) के दौर में चर्चा में रहे हैं। अकादमिक क्षेत्र में संभवत: वे पहले व्यक्ति थे, जिसने नोवेल कोरोना वायरस के अनुपातहीन भय (Disproportionate fear of novel corona virus) के खिलाफ आवाज़ उठाई। कोविड से संबंधित उनकी टिप्पणियों के हिंदी अनुवाद प्रमोद रंजन की शीघ्र प्रकाश्य पुस्तक “भय …

Read More »

वर्क फ्रॉम होम के दौर में लैंगिक उत्पीड़न का बदलता स्वरूप

Female inequality, समाज में व्याप्त असमानताएं, Inequalities prevalent in society, महिला असमानता, Female inequality, Gender inequality, Gender Inequality Facts, gender inequality statistics, Female inequality in the world, Female violence rate, यौनिक शिक्षा, Comprehensive sexual education, Discussion on gender-generated violence and exploitation,

Changing nature of sexual harassment during the era of work from home Sexual harassment of women during Work From Home: What should you do कोरोना वायरस के कारण देश में सम्पूर्ण लॉकडाउन (Complete lockdown in the country due to corona virus) किया गया था जिसने सबको घर के अंदर रहने को बाध्य कर दिया था इस दौर में लोग घर …

Read More »

भारत की नई शिक्षा नीति : नीति, नियति और नीयत

National Education Policy 2020 - MHRD

India’s new education policy: policy, destiny and intention आखिरकार भारत की नई शिक्षा नीति (india’s new education policy 2020 in hindi) को अपना मुकाम मिल गया है. करीब पांच सालों तक चली लम्बी कवायद के बाद तैयार किये गये मसौदे को केन्द्रीय कैबिनेट की मंज़ूरी मिल गयी है जिसके बाद करीब 34 साल बाद देश में एक नई शिक्षा लागू …

Read More »

मौसम बहुत खराब है। फ़िज़ां उससे खराब। ज्यादा जोखिम उठाने की जरूरत नहीं है। घर में रहें

Corona virus

मूसलाधार बारिश हो रही है। मौसम बहुत खराब है। फ़िज़ां उससे खराब। गांव में खौफ है (Fear in the village)। आज कोरोना जांच टीम (Corona Investigation Team) आ रही है। जिससे और आतंक फैल गया है। रैपिड पुल टेस्ट होगा। जिसके नतीजे पेचीदे और भ्रामक होने का अंदेशा है। ऊपर से यूपी बॉर्डर पर हिंदुस्तान पाकिस्तान सरहद की तरह सख्त …

Read More »

बेबाक और बेखौफ शायर थे राहत इन्दौरी

Rahat Indori

राहत इन्दौरी को श्रद्धांजलि | Tribute to Rahat Indori खामोश हो गई मुशायरों में गूंजने वाली दमदार आवाज कोरोना संक्रमित होने के अगले ही दिन देश के प्रख्यात शायर राहत इन्दौरी 70 साल की आयु में दुनिया छोड़कर चले गए और मुशायरों में गूंजने वाली दमदार आवाज हमेशा के लिए खामोश हो गई। तबीयत बिगड़ने पर वे 10 अगस्त को …

Read More »

राम मंदिर से आगे ! संतों ने किया अगली लड़ाई का शंखनाद !

एच.एल. दुसाध (लेखक बहुजन डाइवर्सिटी मिशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं.)  

प्रख्यात शिक्षाविद प्रो. अजय तिवारी को समर्पित ! 5 अगस्त को बहुप्रतीक्षित राम मंदिर का भूमि पूजन होने के संग-संग ही एक खास सवाल बुद्धिजीवियों के मध्य उठने लगा था, वह यह कि तीन तलाक के खिलाफ कानून बनने, अनुच्छेद 370 हटने और राम मंदिर का निर्माण का भूमि पूजन होने के बाद आगे क्या ? टीवी चैनलों पर इस …

Read More »

इंडिया बनाम भारत : एक तरफ बहुलता है तो दूसरी तरफ अभाव

India vs Bharat : On one side there is multiplicity, on the other there is lack दो सौ साल की लंबी गुलामी के बाद सन् 1947 में हमारा देश स्वतंत्र हुआ, सन् 1950 में हमने अपना संविधान अपना लिया और हम गणतंत्र बन गए। उसके बाद से भारतवर्ष ने प्रगति के कई पड़ाव पार किये हैं। देश में भारी कल-कारखाने …

Read More »