Home » हस्तक्षेप » आपकी नज़र (page 4)

आपकी नज़र

जब-जब यह सोच सरकार बनाती है विचारों का खुलापन सीलेपन की बदबू से घिर जाता है,

Rajeev mittal राजीव मित्तल वरिष्ठ पत्रकार हैं।

इतिहास, शिक्षा, साहित्य और मीडिया।  (History, education, literature and media । ) ये चार ऐसे शक्तिशाली हथियार हैं, जो किसी भी समाज को लंबे समय तक कूपमंडूक और बौरा देने की क्षमता रखते हैं। युद्ध में हुई क्षति के घाव तो देर-सबेर भर जाते हैं, लेकिन ज़रा बताइये कि उन घावों जख्मों का क्या किया जाए, जो मनुस्मृतियों, वेद पुराण …

Read More »

दिल्ली विधानसभा चुनाव परिणाम, जीत के गुलदस्ते में कांटे 

Arvind Kejriwal

दिल्ली विधानसभा के चुनाव परिणामों (Delhi Assembly Election Results) ने देश भर में एक उत्साह का संचार किया है। ये चुनाव असाधारण परिस्थितियों में हुये थे जब तानाशाही प्रवृत्ति के साम्प्रदायिक दकियानूसी संगठन संचालित दल से देश के लोकतांत्रिक धर्मनिरपेक्ष प्रगतिशील लोग असंगठित रूप से मुकाबला कर रहे थे। केन्द्र में सत्तारूढ होने के कारण सुरक्षा बलों का नियंत्रण भी …

Read More »

देशबन्धु को अपनी स्वतंत्र नीति, सिद्धांतपरकता, निर्भीकता और राजाश्रय या सेठाश्रय के बिना कितनी मुश्किलों से गुजरना पड़ा है

Lalit Surjan ललित सुरजन देशबंधु पत्र समूह के प्रधान संपादक हैं. वे 1961 से एक पत्रकार के रूप में कार्यरत हैं. वे एक जाने माने कवि व लेखक हैं. ललित सुरजन स्वयं को एक सामाजिक कार्यकर्ता मानते हैं तथा साहित्य, शिक्षा, पर्यावरण, सांप्रदायिक सद्भाव व विश्व शांति से सम्बंधित विविध कार्यों में उनकी गहरी संलग्नता है. यह आलेख देशबन्धु से साभार लिया गया

देशबन्धु के साठ साल Sixty years of Deshbandhu दृश्य-1 मि.मजूमदार! आई हैव डन माई इनिंग्ज़ मोर ऑर लैस. बट गॉड विलिंग, यू हैव अ लॉंग वे टू गो. आफ्टर ऑल, यू एंड ललित आर ऑफ सेम एज. (श्री मजूमदार! मैं अपनी पारियां लगभग खेल चुका हूं। लेकिन प्रभु कृपा से आपको लंबा सफर तय करना है। आखिरकार, आप और ललित हमउम्र …

Read More »

क्या “आप” आरएसएस का उत्तर भारत में भाजपा का वैकल्पिक राजनैतिक प्रयोग है?

Arvind Kejriwal

Is “AAP” an alternative political experiment of RSS in North India? जब मोदी के विकास जुमले की लहर पूरे देश में चल रही थी तब भी दिल्ली में “आप” की जीत हुई थी. आज जब मोदी का बहुमत की भीड़ से संसद में संविधान के मूल स्तम्भों को धराशायी करने का षड्यंत्र उफ़ान पर है तब भी दिल्ली में “आप” …

Read More »

सोई हुई कांग्रेस ने किसान जनजागरण अभियान शुरू किया है

Kisan Jan Jagran Abhiyan by Congress

सोई हुई कांग्रेस ने किसान जनजागरण अभियान शुरू किया है। हाल ये है कि अजय कुमार लल्लू के प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद और आधा दर्जन आयतित प्रदेश कार्यकारिणी में ओहदेदार बड़ी छान बीन करके नियुक्त करने के बाद, नौजवान जिला अध्यक्ष नियुक्त करने के बाद कांग्रेस पार्टी शीत निष्क्रियता में चली गई। नये ओहदेदार कुछ तो दिशाहीन स्वयं थे, …

Read More »

मैं केजरीवाल में एक पोटेंशियल फासिस्ट देखता हूँ

Arvind Kejriwal

I see a potential fascist in Arvind Kejriwal कनक तिवारी जी की एक एफबी पोस्ट पर मैंने कमेंट किया कि अरविंद केजरीवाल की आरएसएस भाजपा के शीर्षस्थ नेतृत्व से एक मिली भगत है। तो उन्होंने कहा कि बताइये आप ये बात कैसे कह रहे हैं। तो मैंने उन्हें निम्नवत जवाब भेजा है। मुझे लगा कि गाली के डर के बावजूद …

Read More »

हिन्दुत्व के दायरे में अपना खोया ’स्पेस’ तलाशती सपा !

Akhilesh Yadav with Sunil Singh of Hindu Yuva Vahini

Communalism among Samajwadi Party’s base voters ’’देखौ बच्चा! हम बात बहुत साफ बोलि थै कि मोदी जी दिल्ली में रहईं और अखिलेश का यूपी देईं। केवल मोदी पाकिस्तान से लड़ सकत हैं दिल्ली में उनही कइ जरूरत है। ई चुनाव में हम सब चाहिथै कि मोदी जी दिल्ली मा फिर से लौउटें बाकि पिछले चुनाव(2017) मा हम अखिलेश यादव का …

Read More »

आपको सिर्फ मुसलमान दिख रहा है जबकि किसान, मजदूर, दलित, पिछड़े और आदिवासी मुसलमानों से पहले मारे जाएंगे !

Shaheen Bagh

अगले पांच साल में बुनियादी ढांचे के विकास (Infrastructure development) के लिए 103 लाख करोड़ रुपये खर्च करने की सरकार की योजना है। रोज़गार और नौकरियां बढ़ाने के लिए निवेश और विनिवेश का रास्ता चुना गया है, खेती और उत्पादन का नहीं। इस बहाने पीपीपी मॉडल (Ppp model) के विकास और रोज़गार सृजन (Employment generation) की आड़ में कारपोरेट टैक्स …

Read More »

सीएए : ये मनुवादी जनतंत्र से चिढ़ते हैं, इनका निशाना मुसलमान नहीं वंचित-बहुजन ही हैं – प्रकाश अंबेडकर

Prakash Ambedkar

संविधान बचाओ ! देश बचाओ !! आप जानते हैं कि पिछले 50 दिनों से अधिक समय से दिल्ली के शाहीन बाग़ इसी शहर के तमाम जगहों पर और देश के विभिन्न भागों में सीएए, एनआरसी, और एनपीआर के खिलाफ महिलाएं तथा पुरुष 24×7 बैठे हुए हैं. इन देशभक्तों और संविधान प्रेमियों के जज़बे और जोश को दरकिनार करते हुए मेनस्ट्रीम …

Read More »

क्या गुजरात के बाद शाहीनबाग आरएसएस का दूसरा”प्रयोग” ही है?

RamBhakt Gopal.jpg

Is Shaheen Bagh the second “experiment” of RSS after Gujarat? जिन प्रगतिशील विचार के पत्रकारों बुद्धिजीवियों ने अरविंद केजरीवाल के”शाहीनबाग और पुलिस” के संदर्भ में दिए गए बयान को अराजनीतिक और शाहीनबाग के खिलाफ मानकर ”आप” को कठघरे में खड़ा करने की कोशिश की, उन्होंने यह जानने की कोशिश नहीं की कि केजरीवाल ने अन्ततः ”शाहीनबाग को 2 घन्टे में …

Read More »