Home » हस्तक्षेप » आपकी नज़र (page 58)

आपकी नज़र

Guest writers views devoted to commentary, feature articles, etc.. अतिथि लेखक की टिप्पणी, फीचर लेख आदि

बिना किसानों की हिस्सेदारी के हो गया कांग्रेस का किसान धरना

Ajay Kumar Lallu with Priyanka Gandhi

बिना किसानों की हिस्सेदारी के हो गया कांग्रेस का किसान धरना कल यूपी के जिला मुख्यालयों पर कांग्रेस का गन्ना किसानों की समस्याओं को लेकर instant धरना (Congress’s immediate strike at the district headquarters of UP regarding the problems of sugarcane farmers) हुआ। एक दिसम्बर को आदेश जारी हुआ कि चार दिसम्बर को धरना देना है। इससे पहले भी एक …

Read More »

जम्मू-कश्मीर : 370 को हटाने के बाद लोकतांत्रिक अधिकारों का गला घोंट दिया गया है, कश्मीर की तबाही का असर जम्मू में

Article 370

जम्मू-कश्मीर : 370 को हटाने के बाद लोकतांत्रिक अधिकारों का गला घोंट दिया गया है, कश्मीर की तबाही का असर जम्मू में इस साल 5 अगस्त को भारतीय संसद ने असंवैधानिक और अलोकतांत्रिक तरीके से जम्मू-कश्मीर राज्य का विशेष दर्जा खत्म (Special status of Jammu and Kashmir state ended) कर दिया. और देश भर में झूठा प्रचार शुरू कर दिया …

Read More »

अपराधियों में कानून का खौफ कैसे हो?

Say no to Sexual Assault and Abuse Against Women.jpg

अपराधियों में कानून का खौफ कैसे हो? समाज में अपराध नियंत्रण कैसे हो? How should there be crime control in the society? जब-जब कोई भयंकर आपराधिक घटना होती है तो हिस्टीरिया जैसा दौर लोगों को पड़ता है। धरना, प्रदर्शन, बलवा, आगजनी, गाली, गलौज, मोमबत्ती जलूस तक होने लगता है। जिसके मन में जो आये वही समस्या का समाधान है। आम लोग …

Read More »

सुनो लड़कियों .. दमन हो जायेगा तुम्हारा.. तो फिर बलात्कार नहीं होगा

Say no to Sexual Assault and Abuse Against Women

सुनो लड़कियों .. दमन हो जायेगा तुम्हारा.. तो फिर बलात्कार नहीं होगा   ..सुनो लड़कियों सीना पिरोना काढ़ना सीखो… बरस चौदह तक आते-आते ब्याह.. फिर सब ऊँ स्वाहा… बीस बरस तक दो चार बच्चे… घोड़े पे राजकुमार वाले तुम्हारे तमाम ख़्वाब सच्चे… फिर जो होगा घरों में ही होगा… मार कुटाई .. लात घूँसा.. वो भरें तो भरने दो खाल …

Read More »

रवीश कुमार के भाषणों के प्रभाव में एक सोच — यह भारतीय मीडिया की एक अलग परिघटना है

Ravish Kumar

रवीश कुमार के भाषणों के प्रभाव में एक सोच — यह भारतीय मीडिया की एक अलग परिघटना है रवीश कुमार के भाषणों (Speeches of ravish kumar) को सुनना अच्छा लगता है। इसलिये नहीं कि वे विद्वतापूर्ण होते हैं ; सामाजिक-राजनीतिक यथार्थ के चमत्कृत करने वाले नये सुत्रीकरणों की झलक देते हैं। विद्वानों के शोधपूर्ण भाषण तो श्रोता को भाषा के …

Read More »

सुन गुड़िया बदक़िस्मत मुल्क है यह… यहाँ तेरी पैदाइश अज़ाब है…  

Say no to Sexual Assault and Abuse Against Women.jpg

……लो मैंने फिर डरा दिया अपनी मासूम बच्ची को लड़कों से.. खुली छतों.. खुली हवाओं.. खुली सड़कों से… तीन बरस की उम्र से एहतियात से रह… बता रही हूँ… मैं मजबूर हूँ.. उसे डर-डर के जी.. सिखा रहीं हूँ… सुन तू ड्राइवरों.. सर्वेंटों… मेल टयूशन टीचरों.. से बच.. सतर्क रह… खोल दे गंदे से गंदा सच… उसे रिश्तेदारों से घुलने-मिलने …

Read More »

महाराष्ट्र : मोदी-शाह के अवसान के संकेत

Amit Shah Narendtra Modi

महाराष्ट्र : मोदी-शाह के अवसान के संकेत महाराष्ट्र में अन्ततः उद्धव ठाकरे ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ही ली (Uddhav Thackeray sworn in as Chief Minister in Maharashtra)। प्रधानमंत्री की लाख कोशिशों के बाद भी देवेंद्र फडणवीस मुख्यमंत्री नहीं रह पाए। Maharashtra: signs of Modi-Shah’s end महाराष्ट्र का यह पूरा घटनाक्रम भाजपा के लिये महज किसी ऐसे जख्म की …

Read More »

बाबरी मस्जिद फैसला : न्यायालय ने ऐतिहासिक तथ्यों को नज़रंदाज़ किया, लेकिन

Babri masjid

बाबरी मस्जिद फैसला : न्यायालय ने ऐतिहासिक तथ्यों को नज़रंदाज़ किया, लेकिन पिछले 9 नवम्बर को सुनाये गए उच्चतम न्यायालय के फैसले (Supreme Court decision) से भारतीय राजनीति के एक लम्बे और दुखद अध्याय का समापन हो गया. मूलतः विश्व हिन्दू परिषद् (Vishwa Hindu Parishad) द्वारा शुरू किये गए इस आन्दोलन को भाजपा ने अपने हाथों में ले लिया, लालकृष्ण …

Read More »

मोदीशाह घटना बन सकते हैं लेकिन इतिहास नहीं

Amit Shah Narendtra Modi

मोदीशाह घटना बन सकते हैं लेकिन इतिहास नहीं चकरघिन्नी अन्धभक्तों के बीच मोदीशाह का रथ After Modi’s entry into central politics, two things happened in BJP मोदी के केन्द्रीय राजनीति में आने के बाद भाजपा में दो काम हुये। पहला काम तो यह हुआ कि भाजपा का केवल नाम रह गया और सारी पार्टी नरेन्द्र मोदी व अमित शाह जैसे …

Read More »

महाराष्ट्र:  बाल-बाल बचा जनतंत्र, सत्ता के अपहरण की भाजपा की कोशिश विफल हो गयी

Ajit Pawar after oath as Deputy CM

महाराष्ट्र:  बाल-बाल बचा जनतंत्र, सत्ता के अपहरण की भाजपा की कोशिश विफल हो गयी अब जबकि उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में शिव सेना-एनसीपी-कांग्रेस की सरकार के शिवाजी पार्क में शपथ ग्रहण (Sworn in Shivaji Park of Shiv Sena-NCP-Congress government led by Uddhav Thackeray) के साथ, महाराष्ट्र में नंगई से, छल से भी ज्यादा केंद्र में शासन के बल से, सत्ता …

Read More »

तेजस ट्रेन में चरम पर पहुंचा कर्मचारियों के शोषण और दमन का खेल

Tejas Train

तेजस ट्रेन में चरम पर पहुंचा कर्मचारियों के शोषण और दमन का खेल 18 घंटे कराते हैं ड्यूटी, शिकायत करने पर मिलती है नौकरी से निकालने की धमकी छेड़खानी व लंबी ड्यूटी की शिकायत करने पर नौकरी से निकाल दी गईं एक दर्जन से अधिक फीमेल क्रू मेंबर्स लगभग दो साल पहले जंतर मंतर पर रेलवे में अप्रेटिंस करने वाले …

Read More »

प्रज्ञा ठाकुर ही नहीं, गोडसे से आरएसएस का पुराना मोह है : इंतज़ार करें कब गोडसे की मूर्ति संसद भवन में प्रतिष्ठित की जाएगी !

Sadhvi Pragya Thakur

प्रज्ञा ठाकुर ही नहीं, गोडसे से आरएसएस का पुराना मोह है : इंतज़ार करें कब गोडसे की मूर्ति संसद भवन में प्रतिष्ठित की जाएगी ! हमारे देश में तवलीन सिंह जैसे ‘भोले-भाले’ राजनैतिक विश्लेषकों/पत्रकारों की कमी नहीं है जो प्रधानमंत्री, मोदी के नेतृत्व में आरएसएस/भाजपा शासकों के जनता और देश विरोधी विघटनकारी विचारों और कार्यकलापों के प्रति सजग हो उठे …

Read More »

पं. नेहरू ! एक नायक

Jawaharlal Nehru

पं. नेहरू ! एक नायक देश के पहले प्रधानमंत्री और कांग्रेस नेता पं. जवाहरलाल नेहरू (India’s first Prime Minister and Congress leader Pt. Jawaharlal Nehru) को आज की युवा पीढ़ी जानती ही नहीं है असल में पं. नेहरू थे कौन? (Who was Pt. Nehru?) वह तो बस वाट्सएप यूनिवर्सिटी और ट्विटर वारियर्स (WhatsApp University and Twitter Warriors ) द्वारा दुष्प्रचारित किये …

Read More »