Home » हस्तक्षेप (page 11)

हस्तक्षेप

एक अप्रतिम महानायक : नामदेव ढसाल

Namdev dhasal

15 January: Today is the death anniversary of Namdev Dhasal 15 जनवरी : आज है नामदेव ढसाल की पुण्यतिथि आज 15 जनवरी है। पहले से ही मायस्थेनिया जैसी गंभीर बीमारी शिकार विश्वकवि नामदेव ढसाल तीन महीनों से आंत के कैंसर (Bowel cancer) से जूझते हुए 2014 में आज ही के दिन मुंबई के बॉम्बे हास्पिटल में आखिरी साँस लिए थे। …

Read More »

सीएए और दक्षिण एशिया में धार्मिक अल्पसंख्यक

डॉ. राम पुनियानी (Dr. Ram Puniyani) लेखक आईआईटी, मुंबई में पढ़ाते थे और सन्  2007 के नेशनल कम्यूनल हार्मोनी एवार्ड से सम्मानित हैं

Citizenship Amendment Act and Religious Minorities in South Asia नए साल की शुरुआत में, सीमा के पार पाकिस्तान से दो व्यथित करने वाली घटनाओं की खबरें आईं. पहली थी गुरु नानक के जन्मस्थान ननकाना साहिब गुरूद्वारे पर हुआ हमला (attack on Nankana Sahib). एक रपट में कहा गया था कि हमलावरों का लक्ष्य इस पवित्र स्थल को अपवित्र करना था …

Read More »

जेएनयू, लेफ्ट, संघी और नकाबपोश

JNU Violance, जेएनयू में एबीवीपी, JNU Violance Live updates, demand for Amit Shah's resignation,

नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) ने जब महात्मा गाँधी की हत्या (Assassination of Mahatma Gandhi) की थी तो वह उनके किसी प्रशंसक की तरह हाथ जोड़े हुये आया था और उन्हीं जुड़े हुये हाथों में उसने पिस्तौल छुपा रखी थी, जिसमें से तीन गोलियां उसने गाँधीजी के सीने में उतार दी थीं। जिन लाल कृष्ण अडवाणी ने पूरे भारत में घूम-घूम …

Read More »

कौन कर सकता है भाजपा की हेट पॉलिटिक्स को ध्वस्त !

NRC par ghiri BJP BJP in crisis over NRC

Who can destroy the hate politics of BJP! देश को अभूतपूर्व अशांति में झोंकने वाला नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 (Citizenship Amendment Act 2019), जिसका उद्देश्य पाकिस्तान, बांग्लादेश, और अफगानिस्तान से आये 6 समुदायों (हिन्दू, इसाई, सिख, जैन, बौद्ध तथा पारसी) के शरणार्थियों को भारत की नागरिकता देना रहा है, के लोकसभा में पास हुए एक महीने हो चुके हैं. नागरिकता …

Read More »

अपने ही देश के आठ राज्यों में नहीं जा पा रहे हैं 56” प्रधानमंत्री और गृहमंत्री

Ravish Kumar

नागरिकता क़ानून के पास होते ही गृहमंत्री अमित शाह को मेघालय और अरुणाचल प्रदेश में दौरा करना पड़ा। क़ायदे से जहां से इस क़ानून की उत्पत्ति हुई है वहाँ जाकर लोगों को समझाना था मगर एक महीना हो गया गृहमंत्री असम या पूर्वोत्तर के किसी राज्य में नहीं जा सके हैं। अमित शाह दिल्ली के चुनावों में लाजपत नगर का …

Read More »

छपाक का विरोध : औरतों से डरे हुए लोग कितना शोर कर रहे हैं

Deepika Paducone Chhapak

…….जो राजनीति के तहत …छपाक …फ़िल्म के विरोध में शामिल हैं, अब वो लोग… महिलाओं के प्रति होने वाले किसी भी अपराध में मोमबत्तियाँ ना थामें ……🙏🙏 ज़ुल्म हुआ है बस इतना ही तो कहा ख़िलाफ़त में फ़ैसले तो नहीं दिये .. मगर उफ़्फ़ यह औरतों से डरे हुए लोग कितना शोर कर रहे हैं… छपाक …से घबराए.. झुंड के …

Read More »

यूपी : अभी कांग्रेस आगे है, पर प्रियंका इस समर्थन को वोट में तब्दील कर पाएंगी ?

Priyanka Gandhi at Muzaffarnagar

यूपी की सियासत का सीन Politics of UP यूपी के राजनीतिक परिदृश्य में कांग्रेस प्रियंका गांधी के मार्फ़त इस समय विभिन्न मुद्दों पर बढ़त बनाए हुए है। जनता में भी कांग्रेस के प्रति सकारात्मक रुख है (People also have a positive attitude towards Congress) खासकर अल्पसंख्यकों का स्पष्ट झुकाव दिख रहा है। सपा और बसपा की यूपी विधानसभा में कांग्रेस से …

Read More »

जेएनयू पर हमला : इमर्जेंसी का विरोध कर चुके जेएनयू के पूर्व छात्र बोले इससे तो इमर्जेंसी अच्छी थी

JNU alumni who have opposed Emergency said that Emergency was better

JNU alumni who have opposed Emergency said that Emergency was better पिछले ही दिनों, कश्मीर के सभी प्रमुख राजनीतिक नेताओं की गिरफ्तारी के पांच महीने पूरे होने पर, मोदी सरकार और सत्ताधारी भाजपा के महत्वपूर्ण प्रवक्ताओं के मुंह से बार-बार यह सुनने को मिला था कि इमर्जेंसी में तो नेताओं को उन्नीस महीने जेल में बंद रखा गया था। यह …

Read More »

औद्योगिक विकास एक अभिशाप : दुनिया की आधी आबादी की तबाही के लिये जिम्मेदार है औद्योगीकरण

opinion

Industrial development is a curse: industrialization is responsible for the destruction of half the world’s population किसी वस्तु का तीव्र गति से अंधकारमय खाई की तरफ बढना या उसका पटरी से उतर जाना, दोनों स्थिति में जब विनाश निश्चित हो तब उस गतिशील वस्तु को पटरी पर लाने का प्रयास विनाश का दुर्घटना के बदले अंधकारमय खाई में नष्ट होने …

Read More »

परिसर या छावनी  

JNU Violance, जेएनयू में एबीवीपी, JNU Violance Live updates, demand for Amit Shah's resignation,

सत्तर के दशक के मध्य जब मैं हरियाणा के एक छोटे गांव से दिल्ली विश्वविद्यालय– Delhi University (डीयू) में पढ़ने आया तो कॉलेज या विश्वविद्यालय परिसर में पुलिस या प्राइवेट सुरक्षा गार्ड नहीं होते थे. कॉलेज, हॉस्टल और फैकल्टी के गेट पर विश्वविद्यालय के चौकीदार होते थे जिनसे सभी छात्र-छात्राएं परिचित हो जाते थे. पूरे उत्तरी परिसर में केवल एक …

Read More »