हस्तक्षेप

वे छद्म हिन्दू हैं

वर्तमान में हिंदुओं को एक ही compartment में रखने की प्रक्रिया चल रही है। विविधता… Read More

गणतंत्र दिवस मनाने से रोकने की याचिका अपने आप में ही, लोकतंत्र विरोधी है

अगर सरकार अपने नागरिकों को गणतंत्र दिवस राष्ट्रीय पर्व मनाने के लिये उचित और सम्मानजनक… Read More

कृषि कानूनों पर सर्वोच्च न्यायालय की टिप्पणी सरकार की अक्षमता का प्रतीक

कृषि कानूनों पर सर्वोच्च न्यायालय की टिप्पणी से यह स्पष्ट है कि तीनों नए कृषि… Read More

नवउदारवादी/वित्त पूंजीवादी व्यवस्था के घोड़े की गर्दन पर किसानों की गिरफ्त!

नवउदारवादी/वित्त पूंजीवादी व्यवस्था : पूंजीवादी अश्वमेध का बेलगाम घोड़ा राष्ट्रीय संसाधनों/संपत्तियों/श्रम को लूटता हुआ, सार्वजनिक… Read More

देशभक्ति, धर्म और संघी सोच : डॉ. राम पुनियानी का लेख

देशभक्ति का सम्बन्ध राष्ट्रीयता से है और राष्ट्रीयता का धर्म से कोई लेनादेना नहीं है।… Read More

अमेरिका का कैपिटल हिल कांड : खतरनाक रूप धारण करती प्रभुवर्ग की सोच!

ट्रंप के नफरत की राजनीति का खौफनाक परिणाम देखकर अधिकांश लोग ट्रंप के भारतीय क्लोन… Read More

मोदी समावेशी विकास की बात और चर्चा क्यों नहीं करते हैं ?

समावेशी विकास : विकास में साधनों एवं संसाधनों का योगदान उल्लेखनीय ही नहीं अपितु अविस्मरणीय… Read More

जानिए यह कृषि कानून किसके हित में है ?

जब यह इतना महत्वपूर्ण कृषि कानून है कि, कॉरपोरेट और किसान दोनों ही इसे नहीं… Read More

पुस्तक समीक्षा : महफ़िल लूटना चाहते हैं तो मुक्तक रट लीजिए

हिन्दी-काव्य में मुक्तक-काव्य-परम्परा का इतिहास (History of muktak-kavya-tradition in Hindi-poetry) देखा जाए तो यह पर्याप्त… Read More

मैं रोटी और कपड़ों में उलझा रहा, और एक फरेबी ने मेरा वतन बेच डाला.

सर्वोच्च न्यायालय के अवकाशप्राप्त न्यायाधीश जस्टिस मार्कंडेय काटजू ने निम्न नज़्म उपलब्ध कराई है। यह… Read More

आज हाकिम ये कौन आया है/ बनके सैय्याद जो गुलशन पर काली आंधी की तरह छाया है

एक वतन परस्त का अहद देश के किसान के लिये... ये जुनून-ए-इश्क-ए-वतन है तो डरना… Read More

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations