Home » हस्तक्षेप (page 3)

हस्तक्षेप

छपाक का विरोध : औरतों से डरे हुए लोग कितना शोर कर रहे हैं

Deepika Paducone Chhapak

…….जो राजनीति के तहत …छपाक …फ़िल्म के विरोध में शामिल हैं, अब वो लोग… महिलाओं के प्रति होने वाले किसी भी अपराध में मोमबत्तियाँ ना थामें ……🙏🙏 ज़ुल्म हुआ है बस इतना ही तो कहा ख़िलाफ़त में फ़ैसले तो नहीं दिये .. मगर उफ़्फ़ यह औरतों से डरे हुए लोग कितना शोर कर रहे हैं… छपाक …से घबराए.. झुंड के …

Read More »

यूपी : अभी कांग्रेस आगे है, पर प्रियंका इस समर्थन को वोट में तब्दील कर पाएंगी ?

Priyanka Gandhi at Muzaffarnagar

यूपी की सियासत का सीन Politics of UP यूपी के राजनीतिक परिदृश्य में कांग्रेस प्रियंका गांधी के मार्फ़त इस समय विभिन्न मुद्दों पर बढ़त बनाए हुए है। जनता में भी कांग्रेस के प्रति सकारात्मक रुख है (People also have a positive attitude towards Congress) खासकर अल्पसंख्यकों का स्पष्ट झुकाव दिख रहा है। सपा और बसपा की यूपी विधानसभा में कांग्रेस से …

Read More »

जेएनयू पर हमला : इमर्जेंसी का विरोध कर चुके जेएनयू के पूर्व छात्र बोले इससे तो इमर्जेंसी अच्छी थी

JNU alumni who have opposed Emergency said that Emergency was better

JNU alumni who have opposed Emergency said that Emergency was better पिछले ही दिनों, कश्मीर के सभी प्रमुख राजनीतिक नेताओं की गिरफ्तारी के पांच महीने पूरे होने पर, मोदी सरकार और सत्ताधारी भाजपा के महत्वपूर्ण प्रवक्ताओं के मुंह से बार-बार यह सुनने को मिला था कि इमर्जेंसी में तो नेताओं को उन्नीस महीने जेल में बंद रखा गया था। यह …

Read More »

औद्योगिक विकास एक अभिशाप : दुनिया की आधी आबादी की तबाही के लिये जिम्मेदार है औद्योगीकरण

opinion

Industrial development is a curse: industrialization is responsible for the destruction of half the world’s population किसी वस्तु का तीव्र गति से अंधकारमय खाई की तरफ बढना या उसका पटरी से उतर जाना, दोनों स्थिति में जब विनाश निश्चित हो तब उस गतिशील वस्तु को पटरी पर लाने का प्रयास विनाश का दुर्घटना के बदले अंधकारमय खाई में नष्ट होने …

Read More »

परिसर या छावनी  

JNU Violance, जेएनयू में एबीवीपी, JNU Violance Live updates, demand for Amit Shah's resignation,

सत्तर के दशक के मध्य जब मैं हरियाणा के एक छोटे गांव से दिल्ली विश्वविद्यालय– Delhi University (डीयू) में पढ़ने आया तो कॉलेज या विश्वविद्यालय परिसर में पुलिस या प्राइवेट सुरक्षा गार्ड नहीं होते थे. कॉलेज, हॉस्टल और फैकल्टी के गेट पर विश्वविद्यालय के चौकीदार होते थे जिनसे सभी छात्र-छात्राएं परिचित हो जाते थे. पूरे उत्तरी परिसर में केवल एक …

Read More »

मोदी-शाह की शह पर टारगेट किए जा रहे सरकारी शिक्षण संस्थान !

Amit Shah Narendtra Modi

Government educational institutions being targeted at the instigation of Modi-Shah! जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय में आंदोलनरत विद्यार्थियों को पुलिस द्वारा पीटने, छात्राओं के टायलेट में घुसने पर भी उनको न बख्शने, बीएचयू में एक मुस्लिम शिक्षक के संस्कृत पढ़ाने का विरोध करने और अब जेएनयू में घुसकर विद्यार्थियों और शिक्षकों को नकाबपोशों द्वारा पीटने की घटना। यह देश में हो …

Read More »

पुलिस के भय के साए तले जी रहे हैं मुस्लिम

Guwahati News, Citizenship Act protests LIVE Updates, Anti-CAA protests, News and views on CAB,

Living in fear of a law and the law enforcers उत्तर प्रदेश के फिरोज़ाबाद में नागरिकता संशोधन अधिनियम – Citizenship Amendment Act (सीएए) 2019 के खिलाफ विरोध प्रदर्शनों के दौरान कम से कम छह लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गई। इसके बाद सप्ताह भर तक अधिक समय में नैनी और जाटवपुरी चौराहे के निकट बाइपास पर रहने वाले …

Read More »

देश को गृह युद्ध की ओर ले जा रहा सीएए के विरोध और समर्थन में चल रहा आंदोलन ?

Movement in support and against of CAA leading the country towards civil war

Movement in support and against of CAA leading the country towards civil war? सीएए के विरोध और समर्थन में चल रहे आंदोलन ने देश में विकट स्थिति पैदा कर दी है। भले ही इस आंदोलन में विद्यार्थी, आम आदमी और सामाजिक संगठन बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे हों पर यह आंदोलन सत्तापक्ष बनाम विपक्ष का बनता जा रहा है। राजनीतिक …

Read More »

सीएए-एनपीआर-एनआरसी का विरोध और हिन्दू की नई संघी परिभाषा

डॉ. राम पुनियानी (Dr. Ram Puniyani) लेखक आईआईटी, मुंबई में पढ़ाते थे और सन्  2007 के नेशनल कम्यूनल हार्मोनी एवार्ड से सम्मानित हैं

Opposition to CAA-NPR-NRC and new definition of Hindu by RSS देश भर में सीएए-एनपीआर-एनआरसी की जिस ढंग से मुखालफत (CAA-NPR-NRC opposed)हुई, वह लम्बे समय तक याद रखी जाएगी। विरोध प्रदर्शन स्वतःस्फूर्त थे और उनमें अनेक पार्टियों, विचारधाराओं और सामाजिक-धार्मिक समुदायों से जुड़े लोग शामिल थे। कहने की आवश्यकता नहीं कि ये विरोध प्रदर्शन इतने व्यापक और बड़े थे कि इनसे …

Read More »

संस्मरण : श्रीकृष्ण सरल ने हास्य कविताएं भी लिखीं

Shri Krishn Saral

Memoir: Shri Krishna Saral also wrote humour poems यह श्रीकृष्ण सरल का जन्म शताब्दी वर्ष है। ठेठ बचपन में जिन लोगों की कविताओं ने रस पैदा किया था उनमें श्री चतुर्भुज चतुरेश, श्री वासुदेव गोस्वामी और श्रीकृष्ण सरल का नाम याद आता है। आज जिन सरल जी को लोग राष्ट्रवादी कविताओं के लिए जानते हैं, उनमें से कम ही लोगों …

Read More »