किसान विरोधी हैं तीनों नए कानून, जानिए किसान कृषि विधेयकों से नाखुश क्यों हैं

Bharat Bandh Farmers on the streets throughout Chhattisgarh

All three new laws are anti-farmer हाल ही में, हरियाणा में किसानों के एक आंदोलन पर पुलिस द्वारा बर्बर लाठी चार्ज (Barbaric lathi charge by police on a farmers agitation in Haryana) किया गया है। किसान, सरकार द्वारा पारित तीन नए अध्यादेशों या कानून का विरोध कर रहे थे। किसानों से जुड़े तीनो नए कानून

बिजली संशोधन विधेयक 2020 से आपकी जिंदगी में क्या होंगे बदलाव? समझा रहे हैं इं. दुर्गा प्रसाद कैसे ₹1700 का बिल हो जाएगा 23,963 रुपये का

इं. दुर्गा प्रसाद En. Durga Prasad उपाध्यक्ष, उ0प्र0वर्कर्स फ्रंट, अधिशासी अभियंता (सेवानिवृत्त), उ.प्र. पावर कारपोरेशन लिमिटेड, आगरा।

बिजली संशोधन विधेयक 2020 से आपकी जिंदगी में क्या होंगे बदलाव? समझा रहे हैं इंजीनियर दुर्गा प्रसाद कैसे ₹1700 का बिल हो जाएगा 23,963 रुपये का What will be the changes in your life with the Electricity Amendment Bill 2020? How will get a bill of ₹ 1700 for ₹ 23,963, Explaining engineer Durga Prasad 

लॉकडाउन क्यों गलत नीति है – स्वीडिश महामारीविद् व चिंतक जोहान गिसेके की टिप्पणी

professor johan giesecke coronavirus, johan giesecke coronavirus, professor johan giesecke coronavirus,

स्वीडिश महामारीविद् व  चिंतक जोहान गिसेके की टिप्पणी “एक अदृश्य वैश्विक महामारी” The invisible pandemic by Johan Giesecke in Hindi Why lockdowns are the wrong policy – Swedish expert Prof. Johan Giesecke [स्वीडन के महान महामारीविद् व  चिंतक जोहान गिसेके (Johan Giesecke Coronavirus) और उनके सहयोगी एंडर्स टेगनेल कोरोना-विजय के अप्रतिम नायक के रूप में

डॉ. राम पुनियानी का लेख : काशी मथुरा-मंदिर की राजनीति की वापसी

Dr. Ram Puniyani - राम पुनियानी

Kashi- Mathura: Will Temple Politics be Revived? Ram Puniyani | राम पुनियानी दिनदहाड़े बाबरी मस्जिद ध्वस्त किए जाते समय एक नारा बार-बार लगाया जा रहा था “यह तो केवल झांकी है, काशी मथुरा बाकी है”. सर्वोच्च न्यायालय ने बाबरी मस्जिद की भूमि उन्हीं लोगों को सौंपते हुए जिन्होंने उसे ध्वस्त किया था, यह कहा था

कहीं भाजपा को उल्टा तो नहीं पड़ेगा सुशांत सिंह का दांव? 

Sushant Singh Rajput

Sushant Singh Rajput’s suicide आज की राजनीति (Today’s politics) इतनी अमानवीय है कि अपनी राजनीतिक महात्वाकांक्षाओं के लिए किसी को भी बलिवेदी पर चढा सकती है। इस दौर का गिरोह झूठ को सच और सच को झूठ बनाने व उसे प्रचारित करने के लिए पूरा तंत्र सुसज्जित कर के पहले भक्तों को और फिर देश

हस्तक्षेप साहित्यिक कलरव में इस रविवार अशोक अंजुम का काव्य पाठ

Ashok Anjum

Poetry recitation of Ashok Anjum this Sunday in Hastakshep Sahityik Kalrav नई दिल्ली, 17 सितंबर 2020. हस्तक्षेप डॉट कॉम के यूट्यूब चैनल के साहित्यिक कलरव अनुभाग (Sahityik Kalrav section of hastakshep.com ‘s YouTube channel) में इस रविवार 20 सितंबर 2020 को सुप्रसिद्ध गीतकार अशोक अंजुम (Ashok Anjum) का काव्य पाठ होगा। यह जानकारी देते हुए

मोदीजी 70 सालों में पहले पीएम, जिनका जन्मदिवस युवाओं ने काले कपड़े पहनकर राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस के रूप में मनाया

Results of recruitment examinations pending for years, additional five marks, written examination in recruitment examination, calendar of exam, Modiji's Birthday celebrated as National Unemployed Day by the gift of youth to Prime Minister, wearing black clothes युवाओं का प्रधानमंत्री को तोहफा, काले कपड़े पहनकर राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस के रूप में मनाया मोदीजी का जन्मदिवस

Modiji’s Birthday celebrated as National Unemployed Day by the gift of youth to Prime Minister, wearing black clothes युवाओं का प्रधानमंत्री को तोहफा, काले कपड़े पहनकर राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस के रूप में मनाया मोदीजी का जन्मदिवस युवा रहें ललकार, हमको दो रोजगार | मोदी का जन्म दिन या  दिवस बेरोजगार हरियाणा के युवाओं ने काले

अनसुनी आवाज़ : एक संदर्भ ग्रंथ, जिसमें पिछले तीस सालों का भारत है

Ansuni Awaz

पाठकीय दुनिया में दो तरह की पत्रिकाएं दिखायी पड़ती हैं। एक, जो व्यावसायिक हैं, दूसरी, जो ध्येयपरक हैं। व्यावसायिक पत्रिकाओं का योगदान (Contribution of professional journals) यह है कि वे व्यवसाय-वृत्ति के अंतर्गत पाठकों को साहित्य, संस्कृति, राजनीति आदि से संबंधित सूचनाएं और सृजन उपलब्ध कराती हैं जिसमें लेखक-समूह का एलिट क्लास लगा होता है

झुग्गियां तोड़ना समस्या है या समाधान?

People living on the railway side

Destroy Slum is the problem or solution? दिल्ली में 140 किलोमीटर तक की रेल पटरियों के किनारे करीब 48,000 झुग्गियां हैं, जिन्हें यहां से हटाने का आदेश सुप्रीम कोर्ट ने दिया है (Supreme Court order to remove around 48,000 slums along the 140-km railway tracks in Delhi – Slum Demolition Order)। जब से यह आदेश

देश विकास कर रहा है, तो लोग आत्महत्या करने पर मजबूर क्यों हो रहे हैं? गिरती जीडीपी का बढ़ती आत्महत्याओं से क्या संबंध

More than 50 bighas of wheat crop burnt to ashes of 36 farmers of village Parsa Hussain of Dumariyaganj area

गिरती अर्थव्यवस्था, बढ़ती किसान आत्महत्याएं : मध्यप्रदेश आगे, तो छत्तीसगढ़ भी पीछे नहीं If the country is developing, then why are people forced to commit suicide? किसी भी देश में आत्महत्या की दर (Suicide rate) उसके सामाजिक स्वास्थ्य का संकेतक (Indicator of social health) होती है। हमारे देश में राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (National Crime