Home » हस्तक्षेप (page 30)

हस्तक्षेप

बैंकों ने लोगों की सेवा करने के बजाए उनका शोषण करना शुरू कर दिया है

Bank

NO BANK CHARGES : बैंक लोक कल्याण से भटक कर व्यावसायिक कल्याण के मार्ग पर चले गए हैं, उन्होंने लोगों की सेवा करने के बजाए उनका शोषण करना शुरू कर दिया है, वे कॉर्पोरेट को दिये ऋणों से हुए नुकसान की वसूली आम लोगों से बैंक चार्जेस के माध्यम से करने लगे हैं।    कार्टून – के.पी.ससी       …

Read More »

ट्रंप, शी और डॉ. टेडरस ने डब्ल्यूएचओ को बना दिया चीन-अमेरिका का अखाड़ा

World Health Organization WHO

Trump, Xi and Dr. Tedros made WHO the Sino-US arena Who was the first director general of the World Health Organization (WHO)? डॉ. जार्ज ब्रोक चेसोम (Dr George Brock Chisholm) जेनेवा स्थित विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के पहले डायरेक्टर जनरल बने थे। ‘वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाइजेशन’ नाम भी इन्हीं का दिया हुआ था। उन्होंने स्पष्ट किया था कि यह संगठन पूरे …

Read More »

कोरोना के कहर ने बना दी तीसरे विश्वयुद्ध की भूमिका, जैविक हथियारों के इस्तेमाल होने की पूरी आशंका ?

Donald Trump and Xi Jinping

The havoc of Corona made the role of Third World War. There is every possibility of the use of biological weapons? द्वितीय विश्व युद्ध (second World War) में जब अमेरिका ने जापान के शहर हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु बम गिराया (US dropped atomic bomb on Japan’s cities Hiroshima and Nagasaki) तो उसके ऐसे दुष्परिणाम सामने आये कि दुनिया में …

Read More »

वक़्त बदला इक मोबाइल बच्चों के खिलौने तोड़ गया… और बिना शोर के गिल्ली डंडा गली मुहल्ला छोड़ गया …

puppet show video

निरे बचपने की बात है यारों … है याद ज़रा धुँधली-धुँधली .. गिल्ली डंडा कंचों का दौर.. और सिनेमा सी कठपुतली … पुतलकार के हाथ की थिरकन .. थिरकते थे किरदार .. इक उँगली पे राजा थिरके .. इक उँगली सरदार .. राजा महाराजा के क़िस्से ऊँट घोड़े और रानी .. नाज़ुक धागों में सिमटी थी जाने कितनी कहानी … …

Read More »

डॉ. लोहिया ने कहा था कि जब देश की सड़कें सूनी दिखें तो निश्चित समझना कि देश में तानाशाही है

Dr. Lohia

मजदूरों की पहचान ‘माईग्रेंट’ के रूप में करना मेहनतकश वर्ग के खिलाफ साजिश  Identifying laborers as ‘migrants’ conspiracy against the working class …… ताकि व्यवस्था पर कोई सवाल ना हो। हम जिस गाँव में रहते हैं वहाँ मेरी दस पीढ़ियाँ गुजर गयी होंगी। उस गाँव में मेरे खानदान के आने वाले पहले व्यक्ति सुनने में आता है कि आज के …

Read More »

“झारखंड कोरोना सहायता मोबाईल एप” नहीं कर रहा है काम

Hemant Soren took guard of honor in chappals

पूरे देश में लागू लॉकडाउन की वजह से झारखंड से बाहर फंसे प्रवासी मजदूरों (Migrant laborers stranded outside Jharkhand due to lockdown) के लिए झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Jharkhand Chief Minister Hemant Soren) ने 16 अप्रैल को रांची के प्रोजेक्ट सभागार में ‘झारखंड कोरोना सहायता मोबाईल एप‘ (Jharkhand Corona Sahayata App) लांच किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा …

Read More »

बारूद और वायरस के ढेर पर बैठी इस सभ्यता का ‘शैतान’ मुस्कुराने लगा है, सरकारें तो कुछ नहीं मानतीं, पर समाज भी क्यों नहीं मानता ?

Coronavirus CDC

चांद और मंगल पर कब्जे की तैयारियों में मशगूल दुनिया को अचानक एक वायरस (Corona Virus) ने घुटनों पर ला खड़ा किया है। कहीं धर्म के नाम पर नरसंहार (Genocide in the name of religion), कहीं जातियों और नस्लों के नाम पर अत्याचार, कहीं अनियंत्रित बलात्कार और व्यभिचार देखकर लगता था कि धरती से लेकर अंतरिक्ष तक कुलांचें मारती मानवता …

Read More »

लोगों को एक वक्त का भोजन नसीब नहीं है, इन्हें पिज्जा की पड़ी है

Corona virus

कोरोना से लड़ना है तो जीभ का स्वाद भूल जायें | If you want to fight the corona, forget the taste of the tongue दिल्ली में एक पिज़्ज़ा डिलीवरी बॉय का कोरोना पॉजिटिव पाया जाना (A pizza delivery boy found corona positive in Delhi) एक बार फिर किसी बड़े समूह को मुश्किल में डाल दिया है। प्रशासन ने तुरंत कार्यवाही …

Read More »

उत्तर प्रदेश में स्वास्थ्य आपातकाल के दौरान सकारात्मक – रचनात्मक विपक्ष की भूमिका और उम्मीदें 

covid19 photo hindi 1

‘विपक्ष- विरोध करने की स्थिति (सरकार का)’ एक शाब्दिक अर्थ या सामान्य विचार है, हालाँकि राजनीतिक रूप से इसे ‘वैचारिक रूप से विपरीत’ होने की पहचान होने देना है और भारत की संसद और राज्य विधानसभाओं में, विपक्ष होने का एक प्रमुख कारण सरकार के फैसलों पर नज़र रखना भी है। रचनात्मक आलोचना और नागरिकों के अधिकारों और स्वतंत्रता के लिए आवाज़ उठाने के माध्यम …

Read More »

जरूरत वित्तीय घाटे से बचने की नहीं, लोगों की जान बचाने की है

Narendra Modi in anger

The need is not to avoid financial losses but to save lives लॉकडाउन के दूसरे दौर (Second round of lockdown,) में देश ने प्रवेश कर लिया है। इस बार भी कुछ आर्थिक गतिविधियों को छोड़ दिया जाए तो आम आदमी की राहत के लिए सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों (Guidelines issued by the government for the relief of the common man) …

Read More »