Home » हस्तक्षेप (page 5)

हस्तक्षेप

कोरोना वायरस : सोशल डिस्टेंसिंग पर अमल के लिए क्या प्रधानमंत्री वाकई गंभीर हैं? इतने गंभीर संकट पर भी जुमलेबाजी !

PM Modi Speech On Coronavirus

Corona Virus: Is the Prime Minister really serious about implementing social distancing? Even jumbo on such a serious crisis! कोरोना वायरस यदि विश्वव्यापी महामारी का जनक है, तो उससे लड़ने के लिए किसी भी देश के पूरे संसाधनों को झोंक देना चाहिए। भारत के लिए भी यही होना चाहिए। विभिन्न देशों ने इससे लड़ने के लिए सैकड़ों अरबों डॉलर : …

Read More »

राम पुनियानी का लेख : दंगों में दलितों का मोहरे की तरह हो रहा इस्तेमाल

Role of caste in communal violence

Caste is a factor in the communal violence in India दिल्ली में हुए खून-खराबे, जिसे मुसलमानों के खिलाफ हिंसा (Violence against muslims) कहना बेहतर होगा, ने पूरे देश को हिला कर रख दिया है। विभिन्न टिप्पणीकार और विश्लेषक यह पता लगाने का भरसक प्रयास कर रहे हैं कि इस हिंसा के अचानक भड़क उठने के पीछे क्या वजहें थीं। लेकिन …

Read More »

भारतीय सिनेमा वाया स्त्री विमर्श : अभिव्यक्ति के खतरे

Bollywood news, Upcoming movies, Exclusive Report, Entertainment news in english

Women in Indian Cinema | strong female characters in indian cinema | patriarchy in indian cinema | stereotypes in indian cinema | girl power movies hindi भारतीय सिनेमा में स्त्री विमर्श | हिंदी सिनेमा में स्त्री विमर्श का स्वरूप तेजस पूनिया हिंदी साहित्य के महान साहित्यकार आचार्य महावीर प्रसाद का कहना है- “साहित्य समाज का दर्पण है।” यक़ीनन साहित्य समाज …

Read More »

कोरोना का कहर : मुफ़्त सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाओं का सिर्फ़ राष्ट्रीय नहीं, अन्तर्राष्ट्रीय ढाँचा तैयार हो

Arun Maheshwari - अरुण माहेश्वरी, लेखक सुप्रसिद्ध मार्क्सवादी आलोचक, सामाजिक-आर्थिक विषयों के टिप्पणीकार एवं पत्रकार हैं। छात्र जीवन से ही मार्क्सवादी राजनीति और साहित्य-आन्दोलन से जुड़ाव और सी.पी.आई.(एम.) के मुखपत्र ‘स्वाधीनता’ से सम्बद्ध। साहित्यिक पत्रिका ‘कलम’ का सम्पादन। जनवादी लेखक संघ के केन्द्रीय सचिव एवं पश्चिम बंगाल के राज्य सचिव। वह हस्तक्षेप के सम्मानित स्तंभकार हैं।

कोरोना वायरस की वैश्विक चुनौती के विचारधारात्मक आयाम | Ideological dimensions of the global challenge of corona virus यूरोप में द्वितीय विश्व युद्ध के काल में जब मनुष्यता के अस्तित्व पर ख़तरा (Danger on the existence of humanity) महसूस किया जाने लगा था, तब बौद्धिक जगत में प्लेग और हैज़ा जैसी महामारियों से जूझते हुए इंसान के अस्तित्वीय संकट के वक़्त …

Read More »

जिन्हें पीने का पानी मयस्सर नहीं, उनके लिए साबुन, मास्क, सेनेटाइजर की हिदायत, क्या ये सरकार का भद्दा मजाक नहीं ?

Corona virus COVID19, Corona virus COVID19 image

कोरोना वायरस – सत्ता और आवाम | Corona Virus – Government and People “आज सुबह जब मैंने रेड लाइट पर गाड़ी रोकी तो एक महिला जिसकी गोद में बच्चा था, मेरी गाड़ी के शीशे को थपथपा रही थी। ये दृश्य रोजाना होता है, ये लोग भीख मांग कर अपना गुजारा करते हैं। उसने बाहर से खाली बोतल दिखाते हुए पानी …

Read More »

चंद्रशेखर की राजनीति क्या है? कांशीराम ने तो बाबासाहेब की राजनीति ख़त्म करके सौदेबाजी की राजनीति स्थापित की

Chandrashekhar Azad

15 मार्च को चंद्रशेखर ने आज़ाद समाज पार्टी (एएसपी) के नाम से एक नई राजनीतिक पार्टी बनाने की घोषणा की है जिसका स्वागत है क्योंकि लोकतंत्र में हरेक नागरिक को अपनी पार्टी बनाने का अधिकार है. परन्तु इस पार्टी का एजंडा अथवा राजनीति के बारे में अभी तक कोई भी घोषणा नहीं की गयी है. प्रथमदृष्टया अभी तक आम जन …

Read More »

कोरोना : संकट की घड़ी, पर डॉ. अंबेडकर ने क्यों कहा था हिन्दू कभी एकजुट नहीं होते, वे एकजुट होते हैं तब जब हिन्दू मुस्लिम –मुस्लिम दंगे होते हैं

Corona virus Do's and Don't in Hindi, Corona virus Do's and Don't poster in Hindi, हिंदी में कोरोना वायरस पोस्टर, हिंदी में कोरोना वायरस,

कोरोना वायरस : संकट की इस घड़ी में प्रभुवर्ग से प्रत्याशा ! Corona Virus: Anticipation from the sovereign in this hour of crisis! चीन से उपजा कोरोना वायरस मानव जाति के समक्ष एक गंभीर संकट बनकर खड़ा हो गया है, इस बात को खुद विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूटएचओ) ने स्वीकार किया है। इस वायरस से पूरे विश्व में आर्थिक, शैक्षिक, …

Read More »

निजी क्षेत्र का महिमामंडन करना बंद करें, निजी क्षेत्र के बैंकों के राष्ट्रीयकरण का सही समय आ गया है ?

Bank

Stop glorifying the private sector. Is the right time to nationalize private sector banks? जब पूरी दुनिया कोरोना वायरस के प्रसार (Spread of corona virus) के बारे में चिंतित है, भारतीय अर्थव्यवस्था एक और वायरस से पहले से ही कांप रही है। यह निजी पूंजी के लालच से उत्पन्न अस्थिरता (Instability created by greed for private capital) का वायरस है। …

Read More »

सार्क के मंच पर भी झूठ ! पर हमारे मोदी जी लाचार हैं !

Narendra Modi in anger

सार्क के मंच को नष्ट करने का नुक़सान शायद मोदी जी को अब समझ में आ रहा होगा। सार्क देशों में समन्वय के प्रयत्नों की शिक्षा | lesson of coordination efforts in SAARC countries सार्क के मंच को नष्ट करने का नुक़सान शायद मोदी जी को अब समझ में आ रहा होगा। पर, सार्क देशों के बीच समन्वय (Coordination among SAARC …

Read More »

बुरी तरह से डरी हुई सरकार राष्ट्र के अस्तित्व पर संकट के अशनि संकेत दे रही

PM Narendra Modi at 100 years of ASSOCHAM meet

आरएसएस के लोगों के द्वारा ‘देशद्रोहियों’ के सफ़ाए का उत्तेजक प्रचार देश के सर्वनाश का कारण बनता हुआ नज़र आता है। Badly scared government proving signs of crisis over the existence of the nation सारे संकेत बता रहे हैं कि सरकार के पास दैनंदिन खर्च के लिये पैसों की कमी पड़ सकती है, अन्यथा आज के काल में मोबाइल और …

Read More »