Home » हस्तक्षेप (page 5)

हस्तक्षेप

भारत का मीडिया भारत के अर्जित लोकतंत्र का हत्यारा है – रवीश कुमार

Ravish Kumar

India’s media is the killer of India’s earned democracy – Ravish Kumar अमित मालवीय। बीजेपी के नैशनल इंफोर्मेशन एंड टेक्नॉलजी के प्रभारी हैं। प्रेस की कथित स्वतंत्रता का सम्मान करने वाले हमारे आदरणीय प्रधानमंत्री मोदी जी की पार्टी के NIT सेल के प्रभारी इंडिया टुडे के पत्रकार राजदीप सरदेसाई को लेकर अपने ट्विटर हैंडल पर एक पोल चला रहे हैं। …

Read More »

नागरिकता संशोधन कानून की कवरेज के दौरान पत्रकारों पर हुए हमले के खिलाफ CAAJ का निंदा वक्तव्य

Assault on Media in anti-CAA protests

CAAJ’s Condemnation Statement against Attack on Journalists during Coverage of Citizenship Amendment Act नयी दिल्ली, 28 दिसंबर, 2019. नागरिकता संशोधन कानून की कवरेज के दौरान पत्रकारों पर हुए हमले के खिलाफ पत्रकारों की समिति काज (Committee Against Assault on Journalists (CAAJ)) ने निम्न वक्तव्य जारी किया है – देश भर में जब छात्र और युवा नागरिकता कानून में हुए संशोधन …

Read More »

आखिर पाठ्यपुस्तकों से क्यों नहीं हट रहा है ‘क्रांतिकारी आतंकवादी’ शब्द ?

opinion

After all, why is the word ‘revolutionary terrorist’ not being removed from textbooks? देश में सबसे अधिक दिखावा देशभक्ति को लेकर हो रहा है। जहां सत्तापक्ष राष्ट्रवाद का राग  अलाप रहा है वहीं विपक्ष सत्ता में बैठे भाजपा और आरएसएस के लोगों के आजादी में कोई योगदान न देने की बात कर रहा है। मतलब राजनीतिक दलों में अपने को …

Read More »

सुनंदा के. दत्ता-रे की यह कैसी अनोखी विमूढ़ता ! ज़मीनी राजनीति से पूरी तरह कटा हुआ एक वरिष्ठ पत्रकार

SUNANDA K. DATTA-RAY ARTICLE INDIAN INEFFICIENCY MAY BE THE SAVING OF INDIA A note of assurance

Comment on SUNANDA K. DATTA-RAY ARTICLE in The telegraph “INDIAN INEFFICIENCY MAY BE THE SAVING OF INDIA : A note of assurance” जब भी किसी विषय को उसके संदर्भ से काट कर पेश किया जाता है, वह विषय अंधों के लिये हाथी के अलग-अलग अंग की तरह हो जाता है ; अर्थात् विषय के ऐसे प्रस्तुतीकरण को द्रष्टा को अंधा …

Read More »

हिटलर की किताब से ही चुराया गया एक पन्ना है मोशा का संघी एनपीआर एनआरसी

Jews Badge Yellow badge

नागरिकता का संघी प्रकल्प हिटलर की किताब से ही चुराया गया एक पन्ना है NPR is the core of NRC. सब जानते हैं, एनपीआर एनआरसी का मूल आधार है। खुद सरकार ने इसकी कई बार घोषणा की है। एनपीआर में तैयार की गई नागरिकों की सूची की ही आगे घर-घर जाकर जाँच करके अधिकारी संदेहास्पद नागरिकों की शिनाख्त करेंगे और …

Read More »

अरविंद सुब्रह्मण्यन की महा सुस्ती की थीसिस और उनके सोच की सीमा

Arvind Subramanian of Counsel The challenges of Modi-Jaitley Economy

Arvind Subramanian’s thesis of great Slowdown and the limits of his thinking भारत के पूर्व प्रमुख आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रह्मण्यन के साथ एनडीटीवी के प्रणय राय की भारतीय अर्थ-व्यवस्था की वर्तमान स्थिति पर यह लंबी बातचीत (long conversation with NDTV’s Prannoy Rai on the current state of the Indian economy with Arvind Subrahmanyan, former Chief Economic Advisor of India) कई …

Read More »

मोशा जी ! जो दरिया झूम के उट्ठे हैं, तिनकों से न टाले जायेंगे

Amit Shah Narendtra Modi

प्रेमचन्द से राजेन्द्र यादव तक के देखे सपनों का पूरा होना आज अगर राजेन्द्र यादव होते तो बहुत खुश होते। जनवरी 1993 में हंस के सम्पादकीय में उन्होंने एक अलग रुख लिया था। 6 दिसम्बर 1992 को बाबरी मस्जिद तोड़ने पर, जब सभी बुद्धिजीवी , पत्रकार , सम्पादक राजनेता, सामाजिक कार्यकर्ता एक स्वर से कट्टर हिन्दुत्व की निन्दा कर रहे …

Read More »

क्या है झारखंड की जनता को नयी सरकार से उम्मीद?

Hemant Soren

What do the people of Jharkhand expect from the new government? 30 नवंबर से 20 दिसंबर तक पांच चरणों में हुए विधानसभा चुनाव का परिणाम 23 दिसंबर को आ गया है। उम्मीद के अनुसार ही महागठबंधन (झामुमो-कांग्रेस-राजद) को स्पष्ट बहुमत (झामुमो-30, कांग्रेस-16, राजद-1) के साथ 81 सदस्यीय विधानसभा में 47 सीटें मिली हैं और सत्तासीन भाजपा को मात्र 25 सीटें …

Read More »

बहुमत के दम पर मनमानी करते नेताओं को जनता ने दिखा दिया कि वह मूर्ख नहीं हैं

Amit Shah Narendtra Modi

विरोध का दौर और हम Round of protest and we सीएए और एनआरसी की आग देश में ऐसी लगी है कि सारा देश जल रहा है। हर तरफ एक आक्रोश है जो दिखा रहा है कि पूरा देश सरकार के ऑटोक्रेटिक रवैये के खिलाफ है (The entire country is against the autocratic attitude of the government), उस सोच के खिलाफ …

Read More »

योगीराज (यूपी) में जारी फासीवादी बर्बरता व दमन के खिलाफ आवाज लगायें!

Release

योगीराज (यूपी) में जारी फासीवादी बर्बरता व दमन के खिलाफ आवाज लगायें! Raise voice against fascist vandalism and oppression in Yogiraj (UP)! यूपी के जेलों में बंद कर दिये गए दर्जनों छात्रों-महिलाओं व सामाजिक-राजनीतिक कार्यकर्ताओं की रिहाई लिए बोलें! देशभर में जारी राजकीय हिंसा व दमन के बीच यूपी का योगी राज फासीवादी दमन व बर्बरता के मॉडल के बतौर …

Read More »