Home » हस्तक्षेप (page 74)

हस्तक्षेप

खूनी खेल के तमाशबीन ! भारत भी क्या प्राचीन बर्बरता को अपना कर नाजीवाद की दिशा में बढ़ चुका है !

Say no to Sexual Assault and Abuse Against Women

खूनी खेल के तमाशबीन ! भारत भी क्या प्राचीन बर्बरता को अपना कर नाजीवाद की दिशा में बढ़ चुका है ! सऊदी अरब में आज की दुनिया की सबसे बर्बर राजशाही (World’s most barbaric monarchy) चल रही है। इसकी एक पहचान है रियाद शहर का डेरा स्क्वायर (Deera Square of Riyadh City)। इसे कटाई स्क्वायर ( chop chop square) भी …

Read More »

अमित शाह की ज़ुबान से निकले शब्द गाली क्यों बन जाते हैं

Amit Shah at Kolkata

अमित शाह की ज़ुबान से निकले शब्द गाली क्यों बन जाते हैं अमित शाह की भाषा का असली अर्थ ! अब सचमुच अमित शाह की ज़ुबान से निकला ‘नागरिक’ शब्द भारत के लोगों के लिये शत्रु को संबोधित हिक़ारत भरी गाली बन चुका है। यह बात सचमुच बहुत दिलचस्प है। फ्रायड कहते हैं कि आदमी के सपनों की एक शाब्दिक …

Read More »

क्या भविष्य के बलात्कारी हैं ये 80 लाख यूजर्स ? कहीं आप तो इनमें शामिल नहीं ?

Say no to Sexual Assault and Abuse Against Women

क्या भविष्य के बलात्कारी हैं ये 80 लाख यूजर्स ? बलात्कार और समाज का नजरिया Rape and society’s perspective बलात्कार शब्द ही इतना डरावना है जब भी इसको सुना, पढ़ा जाता है तो दिमाग में एक तस्वीर उभर जाती है कि एक महिला पर पुरुष का यौन हमला, एक महिला की जिंदगी का खात्मा। The problem of rape in India …

Read More »

बिना किसानों की हिस्सेदारी के हो गया कांग्रेस का किसान धरना

Ajay Kumar Lallu with Priyanka Gandhi

बिना किसानों की हिस्सेदारी के हो गया कांग्रेस का किसान धरना कल यूपी के जिला मुख्यालयों पर कांग्रेस का गन्ना किसानों की समस्याओं को लेकर instant धरना (Congress’s immediate strike at the district headquarters of UP regarding the problems of sugarcane farmers) हुआ। एक दिसम्बर को आदेश जारी हुआ कि चार दिसम्बर को धरना देना है। इससे पहले भी एक …

Read More »

गांधी बनाम गोडसे : हिंदू बनाम धर्मान्ध हिंदू

Mahatma Gandhi

गांधी बनाम गोडसे : हिंदू बनाम धर्मान्ध हिंदू Gandhi v. Godse : Hindu vs. Dharmandh Hindu, गांधी बनाम गोडसे यानी हिंदू बनाम धर्मान्ध हिंदू । जरा सोचिए, गोडसे भी हिंदू था और गांधी भी हिंदू; पक्का सनातनी हिंदू; रामराज्य का सपना लेने वाला हिंदू; एक ऐसा हिंदू, मृत्यु पूर्व जिसकी जिहृा पर अंतिम शब्द ’राम’ ही था; बावजूद इसके नाथूराम …

Read More »

जम्मू-कश्मीर : 370 को हटाने के बाद लोकतांत्रिक अधिकारों का गला घोंट दिया गया है, कश्मीर की तबाही का असर जम्मू में

Article 370

जम्मू-कश्मीर : 370 को हटाने के बाद लोकतांत्रिक अधिकारों का गला घोंट दिया गया है, कश्मीर की तबाही का असर जम्मू में इस साल 5 अगस्त को भारतीय संसद ने असंवैधानिक और अलोकतांत्रिक तरीके से जम्मू-कश्मीर राज्य का विशेष दर्जा खत्म (Special status of Jammu and Kashmir state ended) कर दिया. और देश भर में झूठा प्रचार शुरू कर दिया …

Read More »

अपराधियों में कानून का खौफ कैसे हो?

Say no to Sexual Assault and Abuse Against Women.jpg

अपराधियों में कानून का खौफ कैसे हो? समाज में अपराध नियंत्रण कैसे हो? How should there be crime control in the society? जब-जब कोई भयंकर आपराधिक घटना होती है तो हिस्टीरिया जैसा दौर लोगों को पड़ता है। धरना, प्रदर्शन, बलवा, आगजनी, गाली, गलौज, मोमबत्ती जलूस तक होने लगता है। जिसके मन में जो आये वही समस्या का समाधान है। आम लोग …

Read More »

सुनो लड़कियों .. दमन हो जायेगा तुम्हारा.. तो फिर बलात्कार नहीं होगा

Say no to Sexual Assault and Abuse Against Women

सुनो लड़कियों .. दमन हो जायेगा तुम्हारा.. तो फिर बलात्कार नहीं होगा   ..सुनो लड़कियों सीना पिरोना काढ़ना सीखो… बरस चौदह तक आते-आते ब्याह.. फिर सब ऊँ स्वाहा… बीस बरस तक दो चार बच्चे… घोड़े पे राजकुमार वाले तुम्हारे तमाम ख़्वाब सच्चे… फिर जो होगा घरों में ही होगा… मार कुटाई .. लात घूँसा.. वो भरें तो भरने दो खाल …

Read More »

रवीश कुमार के भाषणों के प्रभाव में एक सोच — यह भारतीय मीडिया की एक अलग परिघटना है

Ravish Kumar

रवीश कुमार के भाषणों के प्रभाव में एक सोच — यह भारतीय मीडिया की एक अलग परिघटना है रवीश कुमार के भाषणों (Speeches of ravish kumar) को सुनना अच्छा लगता है। इसलिये नहीं कि वे विद्वतापूर्ण होते हैं ; सामाजिक-राजनीतिक यथार्थ के चमत्कृत करने वाले नये सुत्रीकरणों की झलक देते हैं। विद्वानों के शोधपूर्ण भाषण तो श्रोता को भाषा के …

Read More »

सुन गुड़िया बदक़िस्मत मुल्क है यह… यहाँ तेरी पैदाइश अज़ाब है…  

Say no to Sexual Assault and Abuse Against Women.jpg

……लो मैंने फिर डरा दिया अपनी मासूम बच्ची को लड़कों से.. खुली छतों.. खुली हवाओं.. खुली सड़कों से… तीन बरस की उम्र से एहतियात से रह… बता रही हूँ… मैं मजबूर हूँ.. उसे डर-डर के जी.. सिखा रहीं हूँ… सुन तू ड्राइवरों.. सर्वेंटों… मेल टयूशन टीचरों.. से बच.. सतर्क रह… खोल दे गंदे से गंदा सच… उसे रिश्तेदारों से घुलने-मिलने …

Read More »