Home » हस्तक्षेप (page 79)

हस्तक्षेप

Guest writers views devoted to commentary, feature articles, etc.. अतिथि लेखक की टिप्पणी, फीचर लेख आदि. Critical News of Journalism – The Fourth Pillar of Democracy, Opinion, and Media Education. लोकतंत्र का चौथा खंभा पत्रकारिता जगत की आलोचनात्मक खबरें, ओपिनियन, और मीडिया शिक्षा. article, piece, item, story, report, account, write-up, feature, review, notice, editorial, etc. of our columnist. साहित्य का कोना। कहानी, व्यंग्य, कविता व आलोचना Literature Corner. Story, satire, poetry and criticism. today current affairs in Hindi, Current affairs in Hindi, views on news, op ed in hindi, op ed articles, अपनी बात,

मैं नहीं मानता, मैं नहीं जानता।। मोदी जी, आपके होते हुए गुजरात जलता रहा था, क्या आप दिल्ली का दाग भी सहेजना चाहेंगे?

Narendra Modi in anger

Mr. Prime Minister! Democracy is strengthened by questions, tell this to your supporters. आदरणीय प्रधानमंत्री जी नमस्कार दिल्ली के यमुना विहार इलाके से लोग घर छोड़कर जा रहे हैं। आपने भी घर छोड़ा था न प्रधानमंत्री जी। अलग कारण से ही सही। तो इस दर्द को थोड़ा बहुत तो समझते होंगे। क्यों जा रहे हैं? कौन हैं ये लोग? इन्हें …

Read More »

दहकती दिल्ली : इंसानियत को नोंचकर खा जायेंगे ये भेड़िए

Delhi riots.jpeg

दोस्त मेरे, मज़हबी जज़्बात को मत छेड़िए नफरत की राजनीति Politics of hate CAA-NRC के विरोध और समर्थन में जुटे लोगों के बीच हिंसा और अब तक 27 लोगों का मारा जाना, दुकानों, शोरूमों, स्क्रैप मार्किट और चार पहिए व दो पहिए वाहनों को आग के हवाले करना, आगजनी और इतनी हत्याओं का होना संयोग मात्र नहीं है. सत्ताईस लोगों …

Read More »

साहित्य अकादमी यौन उत्पीड़न केस : पीड़ित को शिकायत करने की सज़ा मिली!

Say no to Sexual Assault and Abuse Against Women

Sahitya Akademi Sexual Harassment Case : Victim gets punishment for complaining! पूरे देश में निर्भया कांड के गुनहगारों को जल्द फांसी दिए जाने और बेटियों की सुरक्षा को लेकर चर्चा के बीच एक चौंकाने वाली ख़बर सामने आई है। साहित्य अकादमी की जिस महिला अधिकारी ने सचिव के श्रीनिवासराव पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था उसे नौकरी से निकाल …

Read More »

यह ना संयोग है ना प्रयोग बल्कि एक प्रोजेक्ट है, पहले विश्वविद्यालयों को निशाना बनाया गया और अब बस्तियां भी सुलग रही हैं

Delhi riots.jpeg

This is neither a coincidence nor an experiment but a project, universities were first targeted and now settlements are also burning यह ना संयोग है ना प्रयोग बल्कि एक प्रोजेक्ट है जिसे बहुत तेजी से पूरा किया जा रहा है. भारत को ‘हम’ और ‘वे’ में बांट देने का प्रोजेक्ट, जिसके लिये कई दशकों से प्रयास किया जा रहा था. …

Read More »

यूपी में फिलहाल तो कोई भी राजनीतिक दल 2022 के लिये भाजपा का विकल्प नहीं

BJP Logo

यूपी में 2017 में पिछला विधानसभा चुनाव (Issues in UP assembly elections 2017) जिन मुद्दों पर लड़ा गया आईए उन्हें फिर से एकबार समझते हैं। तत्कालीन सरकार वाली पार्टी सपा अपने नये-नये राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर काबिज हुए युवा नेता “जवानी कुर्बान” कार्यकर्ताओं के बल पर “विकास” के नाम पर चुनाव लड़ रही थी। दूसरी तरफ भाजपा “मोदी” की नोटबन्दी …

Read More »

हू इज भारत माता | नेहरू के लिए राष्ट्रवाद का क्या अर्थ था

jawahar lal nehru

‘भारत माता की जय’ मार्का राष्ट्रवाद | Nationalism in Hindi, समय के साथ, हमारी दुनिया में राष्ट्रीयता का अर्थ बदलता रहा है. राजनैतिक समीकरणों में बदलाव तो इसका कारण रहा ही है विभिन्न राष्ट्रों ने समय-समय पर अपनी घरेलू नीतियों और पड़ोसी देशों के साथ अपने बदलते रिश्तों के संदर्भ में भी इस अवधारणा की पुनर्व्याख्या की हैं. राष्ट्रीयता की कई …

Read More »

दिल्ली में दंगे : सोशल मीडिया ने किया एंटी सोशल काम !

Delhi riots.jpeg

सोशल मीडिया ने दिल्ली में भड़काई दंगे की आग Social media triggered riots in Delhi सोशल मीडिया की जवाबदेही तय होना ज़रूरी, केंद्र सरकार एवं सुप्रीम कोर्ट बनाये सख़्त कानून राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की भारत यात्रा (President Donald Trump’s visit to India) के दौरान CAA-NRC को लेकर दंगा भड़काने का कार्य सोशल मीडिया को हथियार बनाकर किया गया। सोशल मीडिया के …

Read More »

गोली मारो सालों को : हिंसा और घृणा का निर्माण …

गोली मारो सालों को : हिंसा और घृणा का निर्माण … गोली मारो सालों को : हिंसा और घृणा का निर्माण … डॉ. राम पुनियानी का आलेख | hastakshep | हस्तक्षेप | उनकी ख़बरें जो ख़बर नहीं बनते ‘Hatred’ is being created against religious minorities and its objective is to weaken Indian democracy and constitution. शाहीन बाग का आन्दोलन (Shaheen …

Read More »

सीएए : देश को बंटवारे वाले माहौल की ओर जा रही मोदी-शाह की जोड़ी !

Amit Shah Narendtra Modi

CAA: The Modi-Shah duo is heading towards a partitioning country! नई दिल्ली। आखिर वह हो ही गया, जिसका अंदेशा व्यक्त किया जा रहा था। सीएए मुद्दे को भाजपा, आरएसएस और उनके सहयोगी संगठनों ने हिन्दू-मुस्लिम का रूप दे ही दिया। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दिल्ली आगमन पर दिल्ली में सीएए विरोधी व समर्थकों में हुई भिड़ंत (Clash between anti-CAA …

Read More »

मुस्लिम महिलाएं और खेल

sports news

Muslim women and sports भारत एक विकासशील राष्ट्र है एवं किसी भी देश के लिए लोकशक्ति व समानता का विशेष महत्व रहता है, इसमें स्त्री एवं पुरुष दोनों सम्मिलित हैं क्योंकि ये दोनों समाज के अपरिहार्य अंग हैं। यदि किसी भी देश को विकसित करना है तो सबसे पहले महिलाओं का विकास करना होगा, क्योंकि महिला ही समाज की जननी …

Read More »

सैनिक का अपमान : ये कैसा गुजरात मॉडल ? गंगा जल और गोमूत्र की चिंता! दलितों की क्यों नहीं ?

Amit Shah Narendtra Modi

सैनिक का अपमान देश और सेना का अपमान। 21वीं सदी में भी सोच में बदलाव नहीं। अपने ही देश और समाज में सैनिक का अपमान बेहद शर्मनाक। Insulting the soldier in his own country and society is extremely shameful. देश की रक्षा और स्वभिमान के लिए देश का सैनिक अपने प्राणों की बाजी लगा देता है, लेकिन जब किसी सैनिक का …

Read More »

ट्रंप के रोड शो पर 100 करोड़ खर्च करने वाली यह ‘अभिवादन समिति’ है किसकी ? यह समिति डोनाल्ड ट्रंप पर इतना भारी-भरकम खर्च क्यों कर रही है ?

Trump Modi

People started asking for the answer of 100 crores spent on Donald Trump‘s roadshow नई दिल्ली। लोगों का बेवकूफ बनाना तो कोई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सीखे। अब जब डोनाल्ड ट्रंप के रोड शो पर खर्च होने वाले 100 करोड़ रुपये का जवाब जनता मांगने लगी तो विदेश मंत्रालय से प्रवक्ता से कहलवा दिया कि यह खर्च ‘अभिवादन समिति’ उठा …

Read More »

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा एनपीआर में उपलब्ध कराए गए दस्तावेज़ सार्वजनिक किए जाएं

Justice

Documents made available by President Ramnath Kovind to NPR should be made public एनपीआर सबसे पहले देश के प्रथम नागरिक राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का होगा। हम मांग करते हैं कि देश के प्रथम नागरिक द्वारा एनपीआर में उपलब्ध कराए गए दस्तावेज़ सार्वजनिक किए जाएं। उसके साथ यह विवरण भी शामिल हो कि दस्तावेज़ कब और कहां से जारी किए गए …

Read More »

दुनिया में लोग जेबों से तोले जाते हैं…

डॉ. कविता अरोरा (Dr. Kavita Arora) कवयित्री हैं, महिला अधिकारों के लिए लड़ने वाली समाजसेविका हैं और लोकगायिका हैं। समाजशास्त्र से परास्नातक और पीएचडी डॉ. कविता अरोरा शिक्षा प्राप्ति के समय से ही छात्र राजनीति से जुड़ी रही हैं।

…जेब … पैन्ट की साइडों में शर्ट के ऊपर दिल के दाँये बाँये ज़रा सी जो नज़र आती है दरअसल औक़ात बताती है… रूप, रंग, गुन, संस्कार इस जेब के आगे सब बेकार… अदब लिहाज़ के सारे ताले इसी से खोले जाते हैं… दुनिया में लोग जेबों से तोले जाते हैं… भरी जेब वाले देवों में देव.. रिश्तों की सूखी …

Read More »

सुस्त पड़ गयी ज़िन्दगी की रफ्तार को विकास के सहारे भगाना चाहती हैं हमारी सरकारें

Forests

पटना टू सिंगरौली, इंडिया से भारत का सफर, Patna to Singrauli..India’s journey to Bharat सिंगरौली (Singrauli) लौट आया हूँ। कभी पहाड़ों के ऊपर तो कभी उनके बीच से बलखाती निकलती पटना-सिंगरौली लिंक ट्रेन (Patna-Singrauli Link Train)। बीच-बीच में डैम का रूप ले चुकी नदियों और उनके ऊपर बने पुल तो कभी पहाड़ों के पेड़ से भी ऊँची रेल पटरी से …

Read More »

सीएए-एनपीआर-एनआरसी की सबसे बुरी मार आदिवासी, दलित, ओबीसी पर पडने वाली है : राज वाल्मीकि की टिप्पणी

Guwahati News, Citizenship Act protests LIVE Updates, Anti-CAA protests, News and views on CAB,

सीएए-एनपीआर-एनआरसी पर दलित दृष्टिकोण – Dalit Approach on CAA-NPR-NRC चलो दिल्ली भरो दिल्ली 04 मार्च 2020 आज अगर खामोश रहे तो….. “…इसकी सबसे बुरी मार नोमेडिक ट्राइब यानी घुमंतू जनजातियों पर पड़ने वाली है जिनके पास न कोई जमीन है न कोई कागजात. आदिवासी, दलित, ओबीसी भी कागजात के अभाव में नागरिकता खो देंगे. और वे तमाम गरीब जिनके पास न …

Read More »

2019 में मॉब लिंचिंग : वर्चस्ववाद की अभिव्यक्ति

Things you should know

झारखंड के 24 वर्षीय तबरेज अंसारी को एक भीड़ ने घेर लिया और उस पर आरोप लगाया कि उसने एक मोटरसाईकिल चोरी की है। भीड़ की मांग पर उसने ‘जय श्रीराम‘ के नारे भी लगाए। परंतु फिर भी उसे बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया गया। 25 साल का मोहम्मद बरकत आलम जब नमाज़ पढ़कर अपने घर लौट रहा …

Read More »

हाँ ! मैं एक ‘लव जिहादी’ हूँ – जीसस भी लव जिहादी थे

Sasi Kp, K P Sasi

I Am A ‘Love Jihadi’ – An Open Letter to Cardinal George Alencherry of Syro Malabar Church of Kerala by K P Sasi फिल्मकार के पी शशि का केरल के सिरो मालाबार चर्च के कार्डिनल जॉर्ज अलेंचेरी को खुला पत्र सर ! मैं भारत के सर्वाधिक प्राचीन दर्शनिक सम्प्रदाय चार्वाक सम्प्रदाय (ancient school of philosophical thought in India called Charvakas) …

Read More »

स्वतंत्रता-संग्राम के ग़द्दारों की संतानों के नए पैंतरे : आरएसएस के ‘वीर’ सावरकर ने किस तरह नेताजी की पीठ में छुरा घोंपा

Prof. Shamsul Islam on Gandhiji's 72nd Martyrdom Day

आरएसएस-भाजपा टोली गांधीजी को अपमानित और नीचा दिखाने का कोई मौक़ा नहीं गंवाती है। इस ख़ौफ़नाक यथार्थ को झुठलाना मुश्किल है कि देश में हिंदुत्व राजनीति के उभार (The rise of Hindutva politics in the country) के साथ गांधीजी की हत्या पर ख़ुशी मनाना (Celebrating Gandhi’s assassination) और हत्यारों का महिमामंडन, उन्हें भगवन का दर्जा देने का भी एक संयोजित …

Read More »

योगी का संविधान विरोधी वक्तव्य है “देश को रामराज्य चाहिए समाजवाद नहीं”

Yogi Adityanath

There is socialism in the Preamble of the Constitution, not Ram Rajya Yogi’s anti-constitution statement is “the country needs Ramrajya, not socialism” संविधान विरोधी वक्तव्य है योगी जी का कि देश को रामराज्य चाहिए समाजवाद नहीं। संविधान की प्रस्तावना में समाजवाद है रामराज्य नहीं। स्पष्ट करें योगी जी ! उन्होंने भारत के संविधान की प्रस्तावना में वर्णित समाजवाद की जगह …

Read More »

राजनीति का बढ़ता अपराधीकरण : घर को लग गई आग घर के चराग से

The Supreme Court of India. (File Photo: IANS)

Candidates with criminal background in elections सर्वोच्च न्यायालय ने राजनीतिक दलों को निर्देश दिया है (Supreme Court has directed political parties) कि वे चुनाव में आपराधिक पृष्ठभूमि के उम्मीदवारों को खड़ा करें तो जनता को बतायें कि आखिर ऐसी कौन-सी मजबूरियां थीं, जिनके फलस्वरूप उन्होंने बेदाग के बजाय आपराधिक पृष्ठभूमि वाले प्रत्याशी (Candidates with criminal background) का विकल्प चुना। न्यायालय …

Read More »