विभिन्न धर्मों के सामाजिक कार्यकर्ताओं ने लखनऊ प्रशासन से चेहल्लुम के जुलूस के प्रबंध की मांग की

तनज़ीम अली कांग्रेस की अध्यक्षता में विभिन्न धर्मों के सामाजिक कार्यकर्ताओं ने लखनऊ प्रशासन से चेहल्लुम के जुलूस के प्रबंध की मांग की।

तनज़ीम अली कांग्रेस की अध्यक्षता में विभिन्न धर्मों के सामाजिक कार्यकर्ताओं ने लखनऊ प्रशासन से चेहल्लुम के जुलूस के प्रबंध की मांग की।

चेहल्लुम जुलूस इन लखनऊ | Chehallum Procession in Lucknow

लखनऊ, 07 अक्तूबर 2020. कर्बला की यादगार सत्य और न्याय के लिए सब कुछ निछावर कर देने की प्रेरणा देती है। हमारे देश में मोहर्रम और सफर (चेहल्लुम) के माह में कर्बला की याद में निकलने वाले जुलूस (Processions in memory of Karbala) ख़ास तौर पर अवध, लखनऊ के जुलूस, देश के एक धार्मिक समुदाय की धार्मिक परंपरा ही नहीं बल्कि देश की सांस्कृतिक विरासत हैं।

इस वर्ष करोना वायरस महामारी की वजह से मोहर्रम के माह में कोई जुलूस नहीं जा सका, परंतु अब जब कार्य व्यवस्था पुनः अपनी यथास्थिति पर आ रही है, बाजार खुल चुके हैं, यातायात चल रहा है, परीक्षाएं संपन्न कराई जा रही हैं, ऐसे में चेहल्लुम जुलूस (chehlum juloos) को भी फिजिकल डिस्टेंसिंग व अन्य सावधानियों के साथ संपन्न कराया जा सकता है।

इसी विषय में तंजीम अली कांग्रेस की अध्यक्षता में विभिन्न वर्गों और धर्मों के कई सामाजिक कार्यकर्ताओं व सम्मानित नागरिकों द्वारा सिटी मजिस्ट्रेट को एक ज्ञापन सौंपा गया।

ज्ञापन में अनुरोध किया गया कि समस्त सावधानियों के अनुरूप उचित निर्णय लेकर लखनऊ में चेहल्लुम के जुलूस का प्रबंध करें ताकि श्रद्धालुओं और अक़ीदतम़ंदों को संतोष की प्राप्ति हो।

ज्ञापन देने वालों मे वरिष्ठ अधिवक्ता सैयद हसीन अब्बास रिजवी, एडवोकेट असकरी अनवर, हुसैन रिजवी एडवोकेट, सैयद ज़हीर हुसैन एडवोकेट, समाजिक कार्यकर्ता इमरान अहमद, अली कांग्रेस अध्यक्षा सु रुबीना जावेद मुर्तुज़ा, बहार अख्तर ज़ैदी, डॉ अनूप कुमार, डॉ दुर्गेश सोनकर, रेहान अंसारी, लवी नवाब, लेखक व सामाजिक कार्यकर्ता एस एन लाल, सामाजिक कार्यकर्ता इमदाद इमाम, नदीममुददीन, मसूद रामज़ी,शब्बीर ख़ान, मिर्ज़ा जियाउद्दीन बख्श, डॉ दुर्गेश सोनकर ,डॉक्टर अकाश विक्रम डॉ अनूप कुमार, सृजनयोगी आदियोग ( इसांनी बिरादरी)के नाम उल्लेखनीय हैं।

सामाजिक कार्यकर्ताओं ने कहा कि कोरोना महामारी का ख़तरा सभी जगह है और कोई भी ज़रा सी लापरवाही से इसका शिकार हो सकता है, इससे बचने के लिए बतायी गयी सावधानियों का पालन करना सभी का कर्तव्य है। परन्तु यह भी सच है कि अब यह बीमारी हमारी ज़िन्दगी का हिस्सा है जब तक इसकी वैकसीन नहीं आ जाती, जीवन के सभी कार्य इस बीमारी से बचने के लिए उचित सावधानियों के अनुसार ही करने होंगे। इन्ही बातों मद्देनज़र रखते हुए प्रशासन से चेहल्लुम के जुलूस के उचित प्रबंध की मांग की गई है।

ज्ञापन पोस्ट के ज़रिए भी भेजा गया है और कार्यालय में भी बहार अख़्तर ज़ैदी द्वारा दिया गया है।

चेहल्लुम news in hindi,

Corona virus In India Jharkhand Assembly Election Latest Videos आपकी नज़र एडवरटोरियल/ अतिथि पोस्ट कानून खेल गैजेट्स ग्लोबल वार्मिंग चौथा खंभा जलवायु परिवर्तन जलवायु विज्ञान तकनीक व विज्ञान दुनिया देश पर्यावरण बजट 2020 मनोरंजन राजनीति राज्यों से लाइफ़ स्टाइल व्यापार व अर्थशास्त्र शब्द संसद सत्र समाचार सामान्य ज्ञान/ जानकारी साहित्यिक कलरव स्तंभ स्वास्थ्य हस्तक्षेप

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Leave a Comment
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations