Home » Latest » कामरेड एके राय ने सिखाया कि सही मायने में अकादमिक वही होता है जो जनता से सीखकर जनता के हक की लड़ाई में शामिल हो
Comrade AK Roy

कामरेड एके राय ने सिखाया कि सही मायने में अकादमिक वही होता है जो जनता से सीखकर जनता के हक की लड़ाई में शामिल हो

कामरेड एके राय (Comrade AK Roy) नहीं होते तो हम चाहे जो होते, पत्रकार नहीं होते। इलाहाबाद विश्वविद्यालय को खारिज करके जेएनयू तक दौड़ रहे थे अकादमिक महत्वाकांक्षा के खातिर।

कोयलांचल में जाकर एके राय के काम से जुड़ने की ख्वाहिश दैनिक आवाज धनबाद तक ले गयी। सौजन्य उर्मिलेश (Urmilesh)। मदन कश्यप (Madan Kashyap) पहले से आवाज में थे।

सम्पादक गुरुजी ब्रह्मदेव सिंह शर्मा (Brahmadev Singh Sharma) ने पत्रकारिता सिखाई। बाकी कसर दिनमान के सम्पादक रघुवीर सहाय ने पूरी कर दी।

पत्रकार तो बन गए। कैसे पत्रकार बनें, यह एके राय से सीखा, जो पत्रकारिता से अपना खर्च चलाते थे। उनके जरिये महाश्वेता देवी से 1981 में मुलाकात हो गयी।

मेरे पिता मुझे सामाजिक कार्यकर्ता बनाना चाहते थे। गांव-गांव ले जाकर उन्होंने मुझे जनता के बीच रहना सिखाया। ढिमरी ब्लॉक के मुकदमे की सुनवाई में वे मुझे नैनीताल ले गए, तब मैं कक्षा दो में पढ़ता था। लेकिन मेरी अकादमिक महत्वाकांक्षा थr और मwx पिता की विरासत से दूर भागने के फिराक में था।

कामरेड एके राय ने सिखाया कि सही मायने में अकादमिक वही होता है जो जनता से सीखकर जनता के हक की लड़ाई में शामिल हो। महाश्वेता दी से सीखा, वर्तनी, व्याकरण, भाषा, शैली सब बेकार है, जब तक न आपके पाँव इस देश के कीचड़ पानी में घुटने तक धंसा न हो। कुम्हार की रचनात्मकता, जो खून पसीने से सनी हो, किसान मजदूर आदिवासी दलित स्त्री के हुनर से बनती पकती है रचनात्मकता, जो अकादमिक महत्वाकांक्षा, पद, पैसा, हैसियत, सम्मान, पुरस्कार जैसी तमाम चीजों से बड़ी कोई चीज है।

हमारे समय के सबसे सच्चे पत्रकार जननेता कामरेड एके राय को पहली पुण्य तिथि पर लाल सलाम। जोहार।

पलाश विश्वास

पाठकों से अपील

“हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें

 

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

ऑल इंडिया पीपुल्स फ्रंट के राष्ट्रीय प्रवक्ता और अवकाशप्राप्त आईपीएस एस आर दारापुरी (National spokesperson of All India People’s Front and retired IPS SR Darapuri)

प्रयागराज का गोहरी दलित हत्याकांड दूसरा खैरलांजी- दारापुरी

दलितों पर अत्याचार की जड़ भूमि प्रश्न को हल करे सरकार- आईपीएफ लखनऊ 28 नवंबर, …